#WorthlessPakistan: ''चंद्रयान 2'' पर तंज कसकर फवाद चौधरी ने करा ली अपने ही देश की बेइज्जती

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चंद्रमा के सफर पर निकले भारत के चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम के चांद पर उतरते समय उसकी सतह से मात्र 2.1 किमी दूरीपर आकर जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट जाने से देश ही नहीं, पूरी दुनिया में लोगों में निराशा है. निराशा के इस माहौल में पाकिस्‍तान के विज्ञान और टेक्‍नोलॉजी मंत्री फवाद चौधरी ने तंज भरे अंदाज में ट्वीट किये.

मालूम हो कि जम्‍मू-कश्‍मीर में अनुच्‍छेद 370 के खात्‍मे से निराश चल रहे पाकिस्‍तान के राजनेता इन दिनों हर मोर्चे पर भारत से दुश्मनी साध रहे हैं. इसी बीच, चंद्रमा की सतह से ठीक पहले विक्रम लैंडर के खो जाने के एक ट्वीट पर फवाद चौधरी ने लिखा- जो काम आता नहीं, पंगा नहीं लेते ना... डियर इंडिया.

पाकिस्‍तानी मंत्री फवाद चौधरी के इस ट्वीट के बाद ट्विटर पर कमेंट्स की बाढ़ सी आ गई. भारतीय ट्विटर यूजर्स ने पाकिस्तानी मंत्री के ट्वीट पर निशाना साधते हुए कहा कि वे उपमहाद्वीप के लिए इस मिशन के महत्व को समझने में असमर्थ हैं.

एक यूजर ने ट्वीट किया- पाकिस्तान यह समझने में नाकाम है कि चंद्रयान की लागत उसकी अर्थव्यवस्था से ज्यादा है, भारत और 100 चंद्रयान लॉन्च कर सकता है और धूर्त देश के मुकाबले बेहतर स्थिति में बना रह सकता है. वहीं, एक अन्य ने लिखा- भारत विफल नहीं हुआ, हमने सिर्फ मून लैंडर के साथ संपर्क खो दिया.

यही नहीं, एक यूजर ने पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री के राततीन बजे तक जागने पर मजे लिये. उसने लिखा- सबसे मजेदार बात यह है कि चंद्रयान 2 ने फवाद चौधरी को रातभर जागने के लिए मजबूर कर दिया.

एक यूजर का कमेंट था- तुम पाकिस्‍तानी लोग केवल बकरियों और टमाटर के सपने देखो. जाओ और दुनिया की हर एक राजधानी में भीख मांगने का काम जारी रखो.

फिर क्या था! देखते ही देखते #WorthlessPakistan ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा और इस हैशटैग के साथ ताबड़तोड़ ट्वीट्स होने लगे. खबर लिखे जाने तक इस हैशटैग से 273K (दो लाख 73 हजार) ट्वीट्स किये जा चुके हैं.

फवाद चौधरी के तंज भरे ट्वीट की आलोचना करनेवालों में पाकिस्‍तानी भी शामिलरहे. सुलेमान ललवानी नाम के एक यूजर ने लिखा- पाकिस्‍तान की ओर से माफी. फवाद का ट्वीट दुर्भावना से ग्रस्‍त था.

एक अन्‍य पाकिस्‍तानी यूजर ने लिखा- फवाद चौधरी हमारे लिए शर्मिंदगी की वजह न बनें. कम से कम भारत ने चांद पर उतरने की कोशिश की. हमें किसी भी देश के वैज्ञानिक प्रयास कीतारीफ करनी चाहिए और उससे सीखना चाहिए.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें