1. home Hindi News
  2. health
  3. peshab bathroom toilet me jalan dard badbu ke gharelu upday hindi me urinary tract infection uti causes symptoms home remedies health news smt

Health News : पेशाब में जलन, दर्द या बदबू, मूत्रमार्ग में संक्रमण के हैं लक्षण, पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा रखें इन बातों का ख्याल

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Urinary Tract Infection, Peshab me Jalan, dard, Home Remedies, Causes, Symptoms, Health News
Urinary Tract Infection, Peshab me Jalan, dard, Home Remedies, Causes, Symptoms, Health News
Prabhat Khabar Graphics

Urinary Tract Infection, Uti Treatment, Home Remedies, Causes, Symptoms, Health News : कोरोना संक्रमण के इस आपदा के दौरान दूसरी तमाम संक्रमित रोगों व उसके संक्रमण के कारणों पर चर्चा की जानी जरूरी है. यह समय की मांग है कि हम अपने रोग प्रतिरोधी क्षमता को हमेशा मजबूत रखें. संक्रामक बीमारियों में से एक मूत्रमार्ग का संक्रमण है, जो शरीर के दूसरे अंगों जैसे किडनी व गुर्दों को भी खराब कर देता है. महिलाओं को मूत्रमार्ग का संक्रमण पुरुषों की तुलना में अधिक जोखिम भरा होता है.

वहीं, गर्भवती महिलाओं में यूरिन इंफेक्शन की संभावनाएं अधिक होती हैं, इसलिए बच्चे के जन्म के पूर्व आवश्यक जांचों में यूरीन जांच भी जरूर करवाते रहना चाहिए. गाइनोकोलॉजिस्ट डॉ मेघा सिन्हा ने बताया कि पेशाब के दौरान दर्द या जलन महसूस होता है तो यह मूत्रमार्ग के संक्रमण के लक्षण होते हैं.

साथ ही पेशाब लगना या रात में बार बार पेशाब के लिए उठना, पेशाब में बहुत अधिक बदबू होना या खून के रंग आना, पेट के निचले हिस्से में दर्द व बुखार रहना या ठंड लगना संक्रमण के लक्षणों में शामिल हैं. उनहोंने बताया कि जननांगों वाले हिस्से पर डियोड्रेंट या पेरफ्यूम व सिंथेटिक अंडरगर्मेंट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

जीवनशैली को बनाएं बेहतर : स्वस्थ रहने के लिए अच्छे खान-पान व जीवनशैली को अपनाएं. यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन को रोकने में योग व व्यायाम काफी फायदेमंद होते हैं. रोजाना योग के साथ 30 मिनट का व्यायाम करें. विशेषकर एरोबिक व्यायाम जैसे पैदल चलना, दौड़ने आदि को शामिल कर सकते हैं.

संक्रमण से बचाव के लिए उठाएं ये जरूरी कदम

  1. अधिकाधिक पानी पीने की बनाएं आदत

  2. लंबे समय तक पेशाब को रोके नहीं रखें

  3. माहवारी के दौरान जननांगों की सफाई

  4. यौन संबंध के बाद करें यूरिनेट करें

  5. माहवारी के दौरान सेनेटरी पैड का इस्तेमाल

  6. ढीले व सूती अंडरवियर का इस्तेमाल

  7. सिट्रिक एसिड वाले फल खाएं

Note : उपरोक्त जानकारियां अंग्रेजी वेबसाइट हेल्थ लाइन में छपी रिपोर्ट के आधार पर है. इसे छोड़ने या अपनाने से पहले इस मामले के जानकार डॉक्टर या डाइटीशियन से जरूर सलाह ले लें.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें