1. home Home
  2. health
  3. dengue case increase in delhi and mp know how to take precaution and its symptom prt

दिल्ली और एमपी में बढ़ रहे हैं डेंगू के मामले, आप भी हो सकते हैं ग्रसित, जानिए लक्षण और बचाव के उपाये

बारिश के मौसम में खासकर मच्छर के काटने से डेंगू का खतरा बना रहता है. बात करें इसके लक्षण की तो, इसके ज्दातर लक्षण आम वायरल फीवर जैसे ही होते हैं. लेकिन इसे साधारण बुखार समझकर नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Dengue Precaution and Cure
Dengue Precaution and Cure
Unsplash

यूपी, दिल्ली और अब मध्य प्रदेश में भी डेंगू की आहत सुनाई देने लगी है. यहां अबतक डेंगू के 27 मामले आ चुके हैं. सबसे बुरी हाल ग्वालियर का है. यहां डेंगू के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. 27 में 16 मामले अकेले ग्वालियर के हैं. इधर, देश की राजधानी दिल्ली में भी डेंगू का कहर दिख रहा है. दिल्ली में अबतक 125 मामले मिल चुके हैं.

कैसे होता है डेंगू: मादा एडीज इजिप्टी या मादा एनोफेलेज मच्छर के काटने से डेंगू होता है. इन मच्छरों की ये पहचान है कि इनके शरीर पर धारियां होती है. ये मच्छर आमतौर पर सुबह के समय ज्यादा एक्टिव होते हैं. बरसात के दिनों में इनका ज्यादा प्रकोप देखने को मिलता है. ये मच्छर ज्यादातर पैरों में काटते हैं. ऐसे में जरूरी है कि समय रहते डेंगू से बचाव का उपाये कर लिया जाए.

क्या है डेंगू के लक्षण: बारिश के मौसम में खासकर मच्छर के काटने से डेंगू का खतरा बना रहता है. बात करें इसके लक्षण की तो, इसके ज्दातर लक्षण आम वायरल फीवर जैसे ही होते हैं. लेकिन इसे साधारण बुखार समझकर नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. डेंगू से संक्रमित होने पर प्लेटलेट्स की संख्या तेजी से कम होने लगती है. जो काफी घातक है. बता दें, दिल्ली , यूपी और अमपी में लगातार डेंगू के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है.

डेंगू के लक्षण

  • अचानक तेज बुखार आ जाना.

  • आंखों में दर्द

  • सिर में तेज दर्द.

  • चक्‍कर आना.

  • मांसपेशियों और जोडों में दर्द.

  • भूख प्यास का न लगना.

  • स्‍वाद का पता न चलना.

  • उल्‍टी आना.

डेंगू से बचाव के उपाय

  • डेंगू से बचाव के उपायों में सबसे अहम है कि आसपास पानी न जमने दें.

  • कूलर और गमलों से भी पानी न जमने दें.

  • उपर बताएं गये कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत चिकित्सक से परामर्श लें.

  • शरीर में पानी की मात्रा कम न होने दें.

  • पूरे शरीर को ढंककर रखें.

  • रात को सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करें.

  • शरीर में लाल चकत्ते दिखाई पड़े तो देर न करें. तुरंत डॉक्टर को दिखाएं.

  • घरों के अंदर मच्छरों को प्रवेश करने से रोकें. खिड़कियां और दरवाजे पर जाली लगवाएं.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें