1. home Hindi News
  2. health
  3. coronavirus 3rd wave nasal spray vaccine may come in market soon for children up to 12 years by september 15 russia sputnik v maker launch this nose inhaler vaccine smt

Coronavirus 3rd Wave: 15 सितंबर तक 12 साल तक के बच्चों के लिए मार्केट में आयेगी Nasal Spray Vaccine, रूस की Sputnik V बनाने वाली कंपनी करेगी लांच

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Coronavirus 3rd Wave, Nasal Spray Vaccine For Covid 19, Sputnik Vaccine For Kids
Coronavirus 3rd Wave, Nasal Spray Vaccine For Covid 19, Sputnik Vaccine For Kids
Prabhat Khabar Graphics

Coronavirus 3rd Wave, Nasal Spray Vaccine For Covid 19, Sputnik Vaccine For Kids, Covid Vaccine: कोरोना के तीसरी लहर की आशंका के बीच ​स्पुतनिक-वी बनाने वाली रूस की कंपनी ने 8-12 वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए भी कोरोना से लड़ने वाले नोजल स्प्रे वैक्सीन का निर्माण कर लिया है. जिसे सितंबर में लांच करने की योजना है. इसे लेकर कंपनी प्रमुख ने राष्ट्रपति पुतिन के साथ बैठक भी कर ली है.

बच्चों की नोजल स्प्रे वैक्सीन तैयार

अंग्रेजी वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट की मानें तो स्पुतनिक वी वैक्सीन का निर्माण करने वाली कंपनी गामालेया संस्था के प्रमुख अलेक्जेंडर गिंट्सबर्ग ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया है कि बच्चों को सुई न देकर उसी वैक्सीन को नोजल स्प्रे के जरिये देने की योजना है. इसे लेकर परीक्षण भी किए जा चुके है और सितंबर तक इसे मार्केट में उतारने की योजना भी है.

15 सितंबर तक लांच

इसे लेकर अलेक्जेंडर गिंट्सबर्ग ने राष्ट्रपति पुतिन के साथ बैठक भी की है और सहमति से 15 सितंबर तक इस वैक्सीन के वितरण करने का दावा किया है.

कोई साइड इफेक्ट नहीं

टीएएसएस समाचार एजेंसी के हवाले से अंग्रेजी वेबसाइट हिंदुस्तान टाइम्स ने छापा है कि कंपनी ने आठ से 12 वर्ष के उम्र के बच्चों पर इस वैक्सीन का परीक्षण किया. इस दौरान इसके किसी भी प्रकार के साइड इफेक्ट नहीं पाए गए. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बच्चों के बुखार तक नहीं आयी अर्थात शरीर के तापमान भी नहीं बढ़ा. हालांकि, कि इस बात का खुलासा नहीं हो पाया है कि कितने बच्चों पर यह परीक्षण किया है.

तीसरी लहर की आशंका

आपको बता दें कि भारत में फिलहाल कोरोना की रफ्तार कम हुई है. हालांकि, यूके में तीसरी लहर तेजी से बढ़ रही है. विशेषज्ञों ने दावा किया है कि आने वाली कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. सभी देश पहले से बच्चों संबंधी सभी स्वास्थ्य सुविधाओं का निर्माण करने में लगे हुए है. ऐसे में स्पुतनिक-वी का बच्चों के वैक्सीन बनाने का दावा लोगों के लिए नयी उम्मीद लेकर आया है.

पहले भी रूस ने सबसे पहले वैक्सीन बनाने का किया था दावा

आपको बता दें कि पहले भी रूस की कंपनी द्वारा ही सबसे पहले वैक्सीन बनाने का दावा किया गया था. जिसे लेकर कई लोगों ने विरोध भी किया था. लोगों का कहना था कि बिना परिक्षण के इसे मार्केट में उतारा जा रहा है. हालांकि, सफल वैक्सीन के वर्ग में स्पुतनिक-वी भी शामिल है.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें