1. home Hindi News
  2. health
  3. alkem laboratories launches inhalation device on world asthma day sry

Alkem ने विश्व अस्थमा दिवस पर इनहेलेशन डिवाइस लॉन्च किया

विश्व अस्थमा दिवस हर साल मई के पहले मंगलवार को श्वसन रोग के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए आयोजित किया जाता है. विश्व अस्थमा दिवस पर अल्केम ने अस्थमा और सीओपीडी रोगियों के जीवन को आसान बनाने के लिए एक डीपीआई डिवाइस ‘इनोहेलर’ लॉन्च किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Alkem laboratories launches inhalation device
Alkem laboratories launches inhalation device
Prabhat Khabar Graphics

विश्व अस्थमा दिवस पर अल्केम ने अस्थमा और सीओपीडी (क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज) रोगियों के जीवन को आसान बनाने के लिए एक डीपीआई डिवाइस ‘इनोहेलर’ लॉन्च किया है.

अल्केम भारत में श्वसन रोगों के उपचार के लिए पूरी तरह तैयार

अल्केम भारत में श्वसन रोगों के उपचार में भारी अंतर को भरने के लिए पूरी तरह तैयार है और डीपीआई डिवाइस इनोहेलर को पेश कर ‘पल्मोनोलॉजी वर्टिकल’ में एक बड़ी छलांग लगाई है.

अल्केम का इनहेलेशन थेरेप्यूटिक्स में प्रवेश

इस डिवाइस से, अल्केम कोर इनहेलेशन थेरेप्यूटिक्स में प्रवेश कर रहा है और यह मान कर चल रहा है कि दवा प्रत्येक इनहेलेशन में फेफड़ों तक प्रभावी ढंग से पहुंचेगी.

इसलिए आयोजित होता है विश्व अस्थमा दिवस

विश्व अस्थमा दिवस 2022 का आयोजन ग्लोबल इनिशिएटिव फॉर अस्थमा (जीआईएनए) द्वारा किया गया, जो 1993 में स्थापित एक विश्व स्वास्थ्य संगठन का सहयोगी संगठन है. दुनिया भर में अस्थमा पर जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल मई के पहले मंगलवार को विश्व अस्थमा दिवस आयोजित किया जाता है.

प्रबंध निदेशक ने कही ये बात

इस उपलब्धि पर खुशी व्यक्त करते हुए, एल्केम लेबोरेटरीज लिमिटेड के प्रबंध निदेशक, संदीप सिंह ने कहा, “यह क्षण ऑब्सट्रक्टिव एयरवेज बीमारियों में सही देखभाल से वंचित लाखों लोगों के लिए हमारे वादे को पूरा करता है और यह भी याद दिलाता है कि हमें कई मील आगे की यात्रा करनी है.

ड्रग डिलीवरी प्लेटफॉर्म – इनोहेलर – (डीपीआई डिवाइस) की शुरुआत के साथ कोर इनहेलेशन थेरेपी में कदम रखते हुए हम निश्चित रूप से चिकित्सकों से लेकर सभी हितधारकों के बीच सही ज्ञान और जागरूकता का प्रचार कर भारत में फेफड़ों के बोझ (लंग बर्डन) को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे.

दमा के लक्षण

  • खाँसी- विशेष रूप से रात के समय हंसी और सांस लेते वक़्त होनाघरघराहट

  • सांस लेते समय सीटी जैसा आवाज निकलनासांस की तकलीफ और छाती में जकड़न महसूस होना

  • थकावट- थकान का एहसास होनाविभिन्न प्रकार के दमा के लक्षण अलग-अलग होते हैं

  • उपरोक्त लक्षणों के लगातार संकेतों से इशारा मिलता है कि चिकित्सक से मिलना आवश्यक है और जितनी जल्दी मिले उतना ही बेहत रहेगा.

दमा का निदान

किसी भी प्रकार का जांच दमा का पता नहीं लगाती है। कई प्रकार के मापदंड निर्धारित करते हैं की क्या दमा श्वसन समस्याओं कि वजह से है:

पारिवारिक चिकित्सा इतिहास – श्वास विकार वाले परिवार के सदस्यों के वजह से परिवार के अन्य सदस्यों में दमा की संभावनाएं बढ़ सकती है

शारीरिक परीक्षण – चिकित्सक श्वसन जांच के लिए आला(स्टेथोस्कोप) का उपयोग करते हैं, पित्ती या एक्जिमा जैसे एलर्जी प्रतिक्रियाओं के वजह से त्वचा की जांच करते हैं। एलर्जी से दमा का खतरा बढ़ जाता है

श्वास परीक्षण – फेफड़े के अंदर और बाहर वायुप्रवाह को मापने के लिए फुप्फ़ुस-संबंधी कार्यप्रणाली की जांच जैसे कि स्पिरोमेट्री किया जाता है

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें