1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. shweta pandit stuck in italy amid coronavirus lockdown says we are living in dangerous times

Coronavirus : इटली में फंसी सिंगर श्‍वेता पंडित, बोलीं- हम खतरनाक समय में रह रहे हैं...

By Budhmani Minj
Updated Date
Shweta Pandit
Shweta Pandit
Photo: Instagram

9 मार्च को इटली के प्रधानमंत्री जूज़ेप्पे कोंटे ने कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में स्कूलों, जिमों, संग्रहालयों, नाइटक्लबों और लोगों के जुटने के अन्य सभी स्थानों को बंद करने की घोषणा की. नये प्रतिबंधों के तहत लोग लॉमबार्डी में न दाख़िल हो सकेंगे और ना ही यहां से बाहर जा सकेंगे. साथ ही लॉमबार्डी और 14 अन्य प्रांतों के 1.6 करोड़ लोगों को यात्रा करने के लिए विशेष अनुमति लेनी होगी. भारतीय गायिका और अभिनेत्री श्‍वेता पंडित भी फिलहाल अपने पति Ivano Fucci के साथ इटली के फ्लोरेंस में फंसी हैं.

श्‍वेता ने साल 2016 में इटालियन फिल्‍म प्रोड्यूसर Ivano Fucci के साथ शादी की थी और पिछले 6 महीने से इटली में हैं. ईटाइम्‍स को दिये एक इंटरव्‍यू में श्‍वेता ने बताया कि, वह कैसे आत्म-अलगाव का सामना कर रही हैं, वह सावधानी बरत रही है. वह खुद का और अपने परिवार को पूरा ध्‍यान रख रही हैं.

जब उनसे पूछा गया कि जब आपको इटली में कोरोना वायरस के फैलने का पता चला तो आपका क्‍या रियेक्‍शन था ? इसका जवाब देते हुए उन्‍होंने कहा,' मैंने पहली बार इस वायरस के बारे में फरवरी में सुना था, जब हमलोग फ्लोरेंस में शॉपिंग कर रहे थे. मैंने देखा कि वहां मॉल में तकरीबन सभी लोगों ने मॉस्‍क पहना था. मेरे पति Ivano Fucci ने मुझे इस बारे में बताया था. उस समय वायरस इटली तक नहीं पहुंचा था. मैं यह देखकर शॉक्‍ड थी कि कैसे चीन के बाद यह वायरस इटली में फैलता चला गया.'

उन्‍होंने आगे बताया,' हमने देखा कि मिलान में काफी लोग अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं. शुरू में, हम बेहद चिंतित थे क्योंकि यह आग की तरह फैल रहा था. लगातार खबरें आ रही थी कि किसी भी क्षण यह वायरस फ्लोरेंस तक पहुंच सकता है. हम और चिंतित हो गए. यह अविश्वसनीय लग रहा था. लेकिन दो दिनों में इटली सरकार ने देश को लॉकडाउन करने की घोषणा की. भारत में मेरा परिवार और मेरे दादा, पंडित जसराज जी, ने मुझे जांच कराने की सलाह दी. फ्लोरेंस रेड अलर्ट जोन नहीं था. मुझे म्यूजिक इंडस्ट्री में भी अपने दोस्तों से ढेर सारे संदेश मिलने लगे थे.'

जब उनसे पूछा गया कि ऐसे समय में वह कैसे अपने परिवार को ख्‍याल रख रही हैं ? उन्‍होंने कहा,' लॉकडाउन के आधिकारिक होने से बहुत पहले, मैं और मेरा परिवार घर से बाहर नहीं निकले हैं. मैं मार्च की शुरुआत से घर पर हूं. यदि हमें बाहर जाने की आवश्यकता है, तो हमें एक परमिट ले जाना होगा और यह सिर्फ इमरजेंसी के लिए है. मुझे होली के लिए भारत के लिए उड़ान भरनी थी, लेकिन मैंने अपनी सभी योजनाओं को रद्द कर दिया. फिलहाल मैंने अपने सभी प्‍लान को रोक दिया है.'

श्‍वेता पंडित लोगों को क्‍या संदेश देना चाहेंगी ? इसपर वह कहती हैं कि,' मेरा संदेश होगा कि सबसे पहले अपने स्वास्थ्य का ध्‍यान रखे. निश्चित रूप से हम खतरनाक समय में रह रहे हैं और मैंने स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं को अनदेखा नहीं किया है. इसके अलावा, मैं कहूंगी कि भारत में बेहतर स्वास्थ्य नीतियां होनी चाहिए. यह समय है कि हर कोई जीवन बीमा पॉलिसी करने के अलावा अपने स्वास्थ्य के लिए सरकार से सुरक्षा ले. बेहतर और स्वच्छ अस्पतालों की आवश्यकता है. सरकारी अस्पतालों को अधिक सुविधाओं के साथ अधिक कमरों और बेड के साथ पुनर्निर्मित करने की आवश्यकता है- भारत में लगभग निजी अस्पतालों के स्तर पर. इससे हमें इस स्तर के संकट से बेहतर तरीके से लड़ने में मदद मिलेगी जो हम अब कर सकते हैं. इसके अलावा, हमारे पास एंबुलेंस को पास देने का नियम होना चाहिए क्योंकि मैंने उन्हें हमेशा ट्रैफिक में फंसते देखा है और इससे मेरा दिल टूट गया है.'

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें