1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. happy holi 2021 tv celes holi celebration says along with celebrations precaution is also important bud

Holi 2021 : टीवी सेलेब्स ने कहा- सेलिब्रेशन के साथ साथ सुरक्षा भी है ज़रूरी...

By उर्मिला कोरी
Updated Date
TV Celebs Holi Celebration
TV Celebs Holi Celebration
prabhat khabar

TV Celebs Holi Celebration : गुज़रे साल की तरह इस साल भी रंगों के त्यौहार होली पर कोरोना का साया मंडरा रहा है. ऐसे में छोटे परदे के खास सेलिब्रिटीज किस तरह से इस होली को सुरक्षित ढंग से सेलिब्रेट वाले हैं और अपनी यादों के झरोखे से वह सबसे यादगार होली को याद कर रहे हैं. उर्मिला कोरी से हुई बातचीत...

सिर्फ परिवार के साथ होली मनाऊंगी - शुभांगी अत्रे

होली हमेशा से मेरा सबसे पसंदीदा त्योहार रहा है. खूब सारी मिठाईयों को खाते हुए हाथों में रंग और दुनिया में किसी की परवाह नहीं होती थी. अभी हालात कोरोना की वजह से ऐसे हैं कि हमें स्वास्थ्य को प्राथमिकता देनी होगी लेकिन होली भी खेलूंगी. अपने परिवार के साथ घर पर ही एक दूसरे को रंग लगाकर पसंदीदा मिठाई खाकर मैं इसे सेलिब्रेट करूँगी. मेरी सबसे यादगार होली वो थी जब होली के अगले दिन मेरा एग्जाम था. होली में खेला गया रंग पूरे मेरे चेहरे और हाथों पर था और सब मुझे घूर रहे थे.

होली की मिठाईयां बनना कई दिनों पहले से शुरू हो जाती है-योगेश त्रिपाठी

होली के त्योहार का मेरे बेटे दिशु को बेसब्री से इंतज़ार रहता है. कोरोना की वजह से पिछले साल की तरह इस साल भी कुछ खास दोस्तों और परिवार के साथ ही इस दिन को सेलिब्रेट करूंगा. जिसमें थोड़ा सा गुलाल और ढेर सारी मिठाईयां होंगी. घर पर लडडू, गुजिया और पेड़े की मिठाईयां खास होली के लिए बननी शुरू हो गयी है. बचपन की होली सबसे यादगार होती थी जब मैं पिचकारी और पानी से भरे गुब्बारे लेकर सड़क पर उतर जाता था जैसे कोई एक्शन हीरो और सभी को निशाने लगा लगाकर भीगाता था.

सेट पर होली खेलूंगी- आएशा सिंह

होली के दौरान हमारे सीरियल गुम है किसी के प्यार में की शूटिंग है तो हमलोग सेट पर ही होली खेलेंगे. वो सुरक्षित भी है क्योंकि वहां हर दिन हमारा कोरोना टेस्ट होता है. हाँ होली पर अपने परिवार को मिस करूँगी. वो मुम्बई में नहीं हैं. यादगार होली की बात करूं तो बचपन की होली थी. एक बार हमारे सामने वाली बिल्डिंग के पड़ोसियों के साथ हमने पानी से भरे गुब्बारों की फाइट की थी. बहुत यादगार और मस्ती से भरी वो पानी की फाइट थी जिसे हमलोगों ने बहुत एन्जॉय किया था.

होलिका दहन की पूजा में शामिल होउंगी- पूजा गौर

बीते साल की तरह इस साल भी होली हम सार्वजनिक तौर पर नहीं खेल सकते हैं क्योंकि कोरोना अभी भी खत्म नहीं हुआ है इसलिए मैं होली नहीं खेलने वाली हूं. हाँ होलिका दहन की पूजा में शामिल होउंगी. वैसे मैं होली को ज़्यादा सेलिब्रेट नहीं करती हूं क्योंकि मुझे रंगों से एलर्जी है. हाँ दोस्तों के कहने पर पानी और ओरगेनिक गुलाल से थोड़ा बहुत खेल लेती हूं तो वही मेरी यादगार होली रही है.

ऐसा सभी ने रंगा कि जॉम्बी दिखने लगा था- रोहिताश्व गौर

ये बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि पिछले बार की होली कोरोना महामारी की वजह से हम नहीं खेल पाए थे. इस बार भी स्तिथियाँ ज़्यादा ठीक नहीं है. ऐसे में एक ही चारा बचता है कि हम चुनिंदा दोस्तों के साथ अपने घर पर एक छोटी सी पार्टी करें. जिसमें हंसी मजाक, लतीफे, पुरानी यादें, कुछ गाने बजाने के साथ ढेर सारा खानपान. मैं यही करने वाला हूं. सबसे यादगार तो नहीं खतरनाक होली की बात करूं तो नागपुर की होली थी।मैं छोटा था. उस वक़्त होली के रंग हफ्तों तक नहीं छूटते थे. ऐसे ही मैं मोहल्ले के बच्चों के साथ होली खेल रहा था. उन्होंने ऐसा रंग लगाया कि मेरा फेश जॉम्बी के मेकअप जैसा हो गया था. सात आठ दिन तक रंग नहीं छुटा था. मुझे लगा कि ये कभी नहीं छूटेगा.मैं डॉक्टर के पास भी गया था उन्होंने बताया कि ये फर्निश रंग है. थोड़ा टाइम जाएगा लेकिन उतर जाएगा. कुछ दिनों में रंग उतर गया लेकिन उस क्रेजी होली की याद अभी भी है.

पत्नी के साथ होली सेलिब्रेट करूंगा- शरद मल्होत्रा

हम लोग बीते साल भी होली नहीं मना पाए थे. कोरोना के जो आंकड़े आ रहे हैं इस बार भी होली पार्टी मुश्किल है. मैं अपनी पत्नी के साथ गुलाल वाली होली खेल इस बार होली सेलिब्रेट करूंगा. मेरी सबसे यादगार होली कोलकाता की है. हम सभी होली में कजिन्स इकठ्ठा होते थे फैमिली रीयूनियन की तरह. गुजिया और ठंडाई का लुत्फ उठाते हुए होली खेलते थे और खूब सारा रेन डांस करते थे. कब वो होली के पुराने नार्मल दिन लौटेंगे, इंतज़ार रहेगा.

बचपन की होली सबसे यादगार-अविनाश चौधरी

एक्टर होने का एक फायदा ये है कि आपको सेट पर भी फेस्टिवल्स मनाने का मौका मिल जाता है. बीते साल शक्ति के सेट पर हमने होली सीक्वेंस किया था. जिसे हमने बहुत एन्जॉय किया था शायद इस बार भी सेट पर होली एन्जॉय करने का मौका मिल जाए. वैसे अपने माता पिता के साथ पूजा करूंगा और गुलाल का टीका उन्हें लगाकर होली सेलिब्रेट करूंगा. अपनी यादगार होली की बात करूं तो बचपन की होली सबसे यादगार थी. प्लास्टिक के गुब्बारों में काले और ग्रे रंग भरकर लोगों पर फेंकना. बहुत मज़ा आता था.

भांग ऐसी चढ़ी सड़क पर गुब्बारे बेचने लगा- सिद्धार्थ सिप्पनी

बीते साल मैंने अपने बीकानेर के फार्म हाउस पर होली सेलिब्रेट की थी.इस साल भी अपने परिवार और चुनिंदा दोस्तों के साथ वहां होली सेलिब्रेट करूंगा.सबसे यादगार होली की बात करूं तो गुरुग्राम के द फ्रेंड्स रिपब्लिक कैफ़े में रंग लीला का सेलिब्रेशन था. मैंने इतनी ज्यादा भांग पी ली थी कि मैं सड़क पर जाकर गुब्बारे बेचने लगा था और उसके बाद बहुत ड्रामा किया.मेरे दोस्त जब भी उस घटना का जिक्र करते हैं मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं.

भांग के नशे में दिन भर हंस रहे थे- विजेंदर कुमेरिया

कोरोना की बढ़ते कैसेज के बीच पिछली बार की तरह इस बार भी होली को उस तरह से सेलिब्रेट नहीं कर पाएंगे जैसे हम भारतीय आमतौर पर करते आए हैं. एक्टर होने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि आपको फेस्टिवल्स सेलिब्रेट करने का मौका सीरियल की कहानी में मिल जाता है. इस बार भी मैं अपने शो आपकी नज़रों ने समझा में होली सेलिब्रेट करूंगा. सबसे यादगार होली उस वक़्त की है जब मैंने पहली और आखिरी बार भांग पीया था. भांग का नशा कुछ इस कदर मुझ पर चढ़ गया था कि मैं दिन भर हंसता रहा था.

ये होली भी राधाकृष्ण के नाम - सुमेध

राधाकृष्ण शो में हर साल विशेष तौर पर होली का पूरा सीक्वेंस खास तौर पर शूट होता है. जो कई दिनों तक चलता है. उमरगांव में हमारा सेट है. सुरक्षा गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए हम शूट कर रहे हैं लेकिन भव्यता में कोई कमी नहीं होगी. एक हज़ार किलो गुलाल के रंग का इस्तेमाल हुआ है. नए तकनीकी कैमरों के साथ शूट हो रहा है. बॉलीवुड के प्रसिद्ध कोरियोग्राफर्स रेखा और चिन्नी प्रकाश ने पूरा सीक्वेंस कोरियोग्राफ किया है. उम्मीद है कि जीतना मज़ा हमें शूटिंग में आया है दर्शकों को उतना मज़ा देखने में आएगा. होली की भव्यता का पूरा एहसास होली एपिसोड में होगा. यादगार होली की बात करूं तो बचपन की परिवार के साथ वाली होली यादगार रही है.

अंडे सिर पर फोड़ते थे- आफताब शिवदासानी

यह मेरी बेटी नेवाह की पहली होली होगी. रंग तो नहीं लेकिन हां हल्दी उसके गालों पर ज़रूर लगाऊंगा. मैं और मेरी पत्नी बाल्टी में रंग और बैलून भरकर गार्डेन एरिया में जाकर म्यूजिक सुनते हुए होली सेलिब्रेट करते आए हैं. कोविड के प्रोटोकॉल को मानते हुए इस बार भी होली में यही करूंगा. इस बार मेरी बेटी भी म्यूजिक को सुनकर ताली बजाएगी. यादगार होली बचपन वाली होती थी जब सुबह से निकल जाते थे होली खेलने में शाम हो जाती थी. हमारी अंडों की भी फाइट होती थी. एक दूसरे के सिर पर अंडे फोड़ते थे.

दो तीन साल तक फिर होली नहीं खेली- पूजा चोपड़ा

मौजूदा जो हालात हैं उनमें हम बाहर जाकर होली नहीं खेल सकते हैं लेकिन घर में अपने परिवार के साथ तो सेलिब्रेट कर ही सकते हैं. मैं अपनी मां, दीदी,जीजू और उनके बच्चों के साथ सेलिब्रेट करूँगी. गुलाल लगाएंगे और पूरन पोली और होली की ढेर सारे व्यंजन और मिठाइयों के साथ इसे सेलिब्रेट करेंगे. होली के हिट गानों को भी सुनूँगी. यादगार होली की बात करूं तो 8 साल की रही होउंगी. होली खेलने निकली ही थी कि मेरी बिल्डिंग के मुझसे बड़े बच्चों ने मुझे पानी और कीचड़ के गड्ढे में डाल दिया फिर वहां से निकली तो चेहरे पर एकदम गहरे रंग लगा दिए थे. जिसे निकलने में चार से पांच दिन गए. मैं इतनी डर गई कि दो तीन साल होली नहीं खेली. शुक्र है अब आर्गेनिक होली के रंग सभी पसंद करते हैं.

सेट पर ही होली मनाऊंगी- रीम शेख

जब से हमारा शो ‘तुझसे है राब्ता‘ शुरू हुआ है, तब से लगभग 2 सालों से हम सारे कलाकार मिलकर होली मनाते रहे हैं. इस समय शो की कहानी में आए बदलावों और ताजा स्थिति को देखते हुए हम सभी के लिए साथ मिलकर होली खेलना संभव नहीं होगा और मैं वाकई इसे मिस करूंगी. इस साल मुंबई में कोविड के मामलों को देखते हुए होली बहुत सादे ढंग से मनाई जाएगी. मैं भी इसे अपने करीबी लोगों के साथ ही मनाऊंगी. लेकिन मैं एक दिन इस शो से जुड़े सभी कलाकारों के साथ होली खेलना चाहूंगी, चाहे वो सेट पर हो या फिर किसी और जगह! उम्मीद है कि मुझे यह त्यौहार मनाने का कोई ना कोई बढ़िया जरिया मिल जाएगा. मैं सभी को सुरक्षित होली की शुभकामनाएं देती हूं.‘‘

परिवार को मिस करूंगी- अमनदीप सिद्धू

मेरा मानना है जब आप अपने परिवार के करीबी सदस्यों और दोस्तों के साथ होली मनाते हैं, तो यह उत्सव सबसे खास हो जाता है1 अब तक मैंने अपना हर त्यौहार अपने परिवार के साथ ही मनाया है, लेकिन इस बार कोविड और ‘तेरी मेरी इक्क जिंदड़ी‘ के अपने शूटिंग शेड्यूल के चलते मैं उनके साथ इसे सेलिब्रेट नहीं कर पाऊंगी. मैं घर पर रहकर ही वक्त बिताऊंगी, क्योंकि इस त्यौहार का मतलब ही दोस्तों और परिवारों के साथ वक्त गुजारना होता है.

पूल में धकेल दिया था- तनाज़ ईरानी

‘‘मैं एक पारसी हूं, लेकिन हम लोग हर त्यौहार मनाते हैं चाहे वो क्रिसमस हो, दिवाली या फिर होली हो! मुझे अब भी एक घटना याद है. यह कुछ साल पहले हुई थी, जब हम एक चैनल की होली पार्टी अटेंड कर रहे थे. वहां एक पूल था, जिसमें मेरी बेस्ट फ्रेंड ने मुझे धक्का देकर गिरा दिया था. उस वक्त तो मैं उस पर बहुत गुस्सा हुई थी, क्योंकि यह एकदम अचानक हुआ था और हम लोग बहुत यंग थे. लेकिन अब जब मैं इस बारे में सोचती हूं तो अपनी हंसी नहीं रोक पाती हूं. पिछले कुछ सालों से मैं हमारी पारसी कॉलोनी में अपने दोस्तों और परिवार के साथ होली मना रही हूं, क्योंकि मुझे लगता है कि यह ज्यादा सुरक्षित है. इस साल भी हमारी यही करने की योजना है क्योंकि हमारे बच्चे छोटे हैं और हम कोविड के बढ़ते केसेज़ को लेकर वाकई सावधान हैं। सभी को मेरी यही सलाह है कि वे सुरक्षित रंगों के साथ होली खेलें, लेकिन ये भी ना भूलें कि महामारी अब भी हमारे बीच मौजूद है. मैं सभी से निवेदन करूंगी कि वो थोड़ा सावधान रहें, क्योंकि सुरक्षा ही पहली प्राथमिकता है. समझदारी से होली खेलें.मेरी ओर से आप सभी को होली की बहुत-बहुत शुभकामनाएं.‘‘

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें