1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. grammy nominations 2021 new york based indian singer priya darshini nominated for her album perpheri who is priya darshini priya darshini grammy nominee priya darshini bollywood songs sry

प्रिय दर्शिनी को अपने डेब्यू एलबम के लिए ही मिल गया ग्रैमी अवार्ड्स में नॉमिनेशन, बॉलीवुड से है खास नाता

By Prabhat khabar Digital
Updated Date

न्यू यॉर्क में रहने वाली भारतीय मूल की गायिका प्रिय दर्शिनी को अपने गीत पेरीफेरी के लिए ग्रैमी अवार्ड्स में नॉमिनेशन जीता है. आपको बता दें फिलहाल प्रिय दर्शिनी चेसकी रिकॉर्ड्स के साथ काम कर रही हैं, इसके अलावा नो समय-समय पर वॉएस ओवर और और म्यूजिक कंपोजिशन का भी का भी काम करती है.

प्रिय दर्शिनी का पहला सोलो एलबम अक्टूबर में रिलीज किया गया था. प्रिय दर्शिनी को अपने पहला एल्बम 'पेरीफेरी' ग्रैमी अवॉर्ड्स में 'बेस्ट न्यू एज एल्बम' और 'बेस्ट इंजीनियर एल्बम (नॉन-क्लासिकल)' श्रेणियों में नॉमिनेट किया गया है. 63 वें ग्रैमी अवार्ड्स के लिए नामांकितों की सूची के बाद, 24 नवंबर को जारी किया गया, प्रिया दर्शिनी ने बेस्ट न्यू एज एल्बम ’श्रेणी में अपने नामांकन की घोषणा इंस्टाग्राम पर की. आपको बता दें ग्रैमी अवार्ड्स की घोषणा 31 जनवरी 2021 को आयोजित की जाएगी.

भारतीय मूल की प्रिय दर्शिनी मुंबई में पली बढ़ी हैं

मुंबई में पली बढ़ी प्रिय दर्शिनी ने नौ साल की उम्र में बॉम्बे लक्ष्मी राजगोपालन से संगीत सीखना शुरू किया था. आपको बता दें 2008 में उन्होंने फ्यूचरमैन वूटन के ब्लैक मोजार्ट एसेम्बली ज्वाइन कर लिया. इसके बाद उन्होंने जैज, हिप-हॉप, ब्लूज़, ब्लू ग्रास और शास्त्रीय संगीत में भारत के अलावा यूएस में ख्याति प्राप्त की. 2017 में ब्रुकलिन राग मैसिव की आस्टिस्टिक डायरेक्टर बनीं और महिलाओं के राग मैसिव का नेतृत्व किया. उन्होंने फीमेल सिंगर को बढ़ावा देने के लिए एक मासिक उत्सव वुड्स को भी आयोजित किया.

बॉलीवुड फिल्मों से रहा है प्रिय दर्शिनी का पुराना नाता

सिंगर प्रिय दर्शिनी ने बॉलीवुड फिल्मों के लिए भी गाने गाए हैं. उन्होंने सलमान खान की मैंने प्यार क्यों किया की दिल दी नजर के अलावा फरदीन खान, ईशा देओल अभिनीत फिल्म डार्लिंग के गीत आवाज कोई के लिए भी आवाज दी है.

23 साल की उम्र में हासिल किया था ये मुकाम

2007 में, तेईस साल की उम्र में, दर्शिनी 6000 फीट से लेकर 12000 फीट तक की ऊँचाई पर भारत और नेपाल की सीमा पर 100 मील की हिमालयन अल्ट्रा मैराथन चलाने वाली पहली और सबसे कम उम्र की भारतीय महिला बनीं. अनुभव ने उन्हें 2011 में एक एडवेंचर रेसिंग कंपनी, द विंडकैशर्स का नेतृत्व करने के लिए प्रेरित किया, जिसने भारत भर में अल्ट्रा मैराथन का आयोजन किया, जिसमें दो का नाम कोंडे नास्ट की 2016 की भारत के सबसे दर्शनीय मैराथन की सूची, और 2019 में भारत के सुंदर मैराथन की सूची शामिल है.

Posted By: Shaurya Punj

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें