जयललिता के जीवन पर आधारित फिल्म के खिलाफ याचिका पर फैसला सुरक्षित

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

चेन्नई : मद्रास उच्च न्यायालय ने तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत जे जयललिता के जीवन पर आधारित फिल्म के खिलाफ उनकी भतीजी दीपा जयकुमार द्वारा दायर याचिका पर बुधवार को फैसला सुरक्षित रख लिया. याचिका में फिल्म निर्माण पर रोक लगाने की अपील की गई है.

फिल्मकारों ए एल विजय, विष्णु वर्धन इंदुरी और गौतम वासुदेव मेनन ने जयललिता के जीवन पर आधारित फिल्म बनाने का ऐलान किया था. तमिल में फिल्म का नाम 'थलाइवी' जबकि हिंदी में 'जया' रखा गया है. वहीं वेब सीरीज का नाम 'क्वीन' होगा.

तमिल का निर्देशन ए एल विजय करेंगे, वहीं वेब सीरीज के निर्देशक गौतम मैनन हैं. फिल्म में अभिनेत्री कंगना रनौत मुख्य भूमिका में होंगी. वहीं वेब सीरीज में रम्या कृष्णन मुख्य भूमिका निभाएंगी. न्यायमूर्ति सेंथिल कुमार राममूर्ति ने दीपा की याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया.

दीपा ने अपनी याचिका में दावा किया कि तीनों फिल्मकारों के पास जयललिता के जीवन के संबंध में सार्वजनिक या निजी रूप से फिल्म, टीवी या वेब धारावाहिक प्रकाशित, प्रदर्शित करने के लिए कोई कानूनी अधिकार या शक्ति नहीं है. किसी को भी उनके परिवार की मंजूरी के बिना उनपर फिल्म बनाने की अनुमति नहीं है. इससे जयललिता की छवि खराब होने का खतरा है.

निर्देशक मेनन के वकील ने अदालत को बताया कि वेब सीरीज का निर्माण अंग्रेजी पुस्तक 'क्वीन' पर आधारित है, जो कहीं न कहीं स्वर्गीय जयललिता के जीवन से जुड़ी हुई है. उन्होंने कहा कि सीरीज पर पहले ही 25 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें