1. home Hindi News
  2. entertainment
  3. arrest yuvika chaudhary trend on twitter over casteist word used by actress in video know details dvy

बुरी फंसी युविका चौधरी, ट्विटर पर उठी ग‍िरफ्तारी की मांग, अब एक्ट्रेस ने मांगी माफी, जानें पूरा मामला

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Arrest Yuvika Choudhary trend on twitter
Arrest Yuvika Choudhary trend on twitter
instagram

Arrest Yuvika Choudhary trend on twitter : बॉलीवुड एक्‍ट्रेस युविका चौधरी (Yuvika Chaudhary) अपने एक वीडियो को लेकर मुसीबत में फंस गई. ट्व‍िटर पर #ArrestYuvikaChoudhary ट्रेंड बना हुआ है. दरअसल, इस वीडियो में युविका ने आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया है, जिसको लेकर सोशल मीडिया यूजर्स उनपर भड़क गए. बात यहां तक ही खत्म नहीं हुई, यूजर्स इसपर उनको गिरफ्तार करने की मांग करने लगे. अब इस पूरे मामले पर एक्ट्रस ने माफी मांगी है.

युविका चौधरी ने ट्वीटर पर माफी मांगते हुए लिखा, 'हैलो दोस्तों, मैं नहीं जानती थी कि उस शब्द का क्या मतलब है, जो मैंने अपने ब्लॉग में इस्तेमाल किया. मैं किसी को आहत नहीं करना चाहती थीं और ना ही किसी को चोट पहुंचाना चाहती थी. मैं सभी से माफी मांगती हूं. उम्मीद है कि आप सभी लोग समझेंगे. सभी को प्यार.'

इस वजह से उठी युविका को गिरफ्तार करने की मांग

दरअसल, युविका चौधरी ने अपने यूट्यूब पर एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उनके पति प्रिंस नरूला हेयरकट करवाते दिखे थे. इस दौरान वो कहती है कि, मुझे इतना वक्त मिलता ही नहीं है कि अपने आप को ढंग से निखार सकूं. इसी वक्त युविका आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल करती है. जिस वजह से सोशल मीडिया पर यूजर्स भड़क गए और उनको अरेस्ट करने की मांग करने लगे.

मुनमुन दत्ता भी इस वजह से हुई थी ट्रोल

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही तारक मेहता का उल्‍टा चश्‍मा' में बबीता जी का किरदार निभानेवाली मुनमुन दत्ता ने अपने एक वीडियो में जाति विशेष के बारे में टिप्पणी की थी. जिसकी वजह से लोग उनपर नाराज हो गए थे और सोशल मीडिया पर उनकी गिरफ्तारी की मांग की थी. जिसके बाद एक्ट्रेस ने वीडियो डिलीट कर माफी मांगी थी और एक स्टेटमेंट भी जारी किया था.

मुनमुन दत्ता ने मांगी थी माफी

मुनमुन ने मांगी मांगते हुए अपने इंस्टाग्राम पर लिखा था यह एक वीडियो के संदर्भ में है, जहां उनके द्वारा इस्तेमाल किए गए एक शब्द का गलत अर्थ लगाया गया है. यह अपमान, धमकी या किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने के इरादे से कभी नहीं कहा गया था. भाषा के अवरोध के कारण, उन्हें इस शब्द का सही अर्थ नहीं पता था. जब उन्हें इसका मतलब पता चला तो उन्होंने तुरंत इस हिस्से को हटा दिया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें