18.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeदेशTata Technologies के आईपीओ ने तोड़ दिया LIC का रिकार्ड, जानें आवंटन की स्थिति , GMP और Listing Date

Tata Technologies के आईपीओ ने तोड़ दिया LIC का रिकार्ड, जानें आवंटन की स्थिति , GMP और Listing Date

Tata Tech IPO Allotment Status: एनएसई के आंकड़ों के मुताबिक, 3,042.5 करोड़ रुपये के इस आईपीओ में 4,50,29,207 शेयरों की पेशकश पर कुल 3,12,64,91,040 शेयरों की बोलियां लगाई गई हैं. पात्र संस्थागत खरीदारों के खंड को 203.41 गुना अभिदान मिला है.

Tata Tech IPO Allotment Status: करीब दो दशक के इंतजार के बाद बाजार में आए टाटा ग्रुप के टाटा टेक्नोलॉजी के आईपीओ ने बाजार में धमाल मचा दिया. ब्रोकरेज फर्म के अनुसार, 24 नंवबर को आवेदन के आखिरी दिन तक 73.5 लाख लोगों ने आवेदन किया, जो मार्केट में एक रिकार्ड बन गया. इससे पहले, एलआईसी के आईपीओ के लिए 73.38 लाख आवेदन मिले थे. बताया जा रहा है कि अंतिम दिन शुक्रवार को 69.43 गुना अभिदान मिला. इसके पहले वर्ष 2004 में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का आईपीओ आया था. एनएसई के आंकड़ों के मुताबिक, 3,042.5 करोड़ रुपये के इस आईपीओ में 4,50,29,207 शेयरों की पेशकश पर कुल 3,12,64,91,040 शेयरों की बोलियां लगाई गई हैं. पात्र संस्थागत खरीदारों के खंड को 203.41 गुना अभिदान मिला है जबकि गैर-संस्थागत निवेशकों के खंड को 62.11 गुना बोलियां मिली हैं. खुदरा व्यक्तिगत निवेशक खंड को 16.50 गुना अभिदान मिला है. बुधवार को टाटा टेक्नोलॉजीज का निर्गम खुलने के चंद मिनटों में ही इसे पूरा अभिदान मिल गया था. इसके लिए 475-500 रुपये प्रति शेयर का मूल्य दायरा तय किया गया था. यह निर्गम पूरी तरह से बिक्री पेशकश पर आधारित है. इस दौरान 6.08 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश की गई है. IPO खुलने से पहले कंपनी ने बड़े (एंकर) निवेशकों से 791 करोड़ रुपये जुटाए थे.

ग्रे-मार्केट में मची हलचल

टाटा के आईपीओ को लेकर ग्रे-मार्केट में हलचल देखने को मिल रही है. संभावना जतायी जा रही है कि शेयरों की लिस्टिंग पांच दिसंबर को हो सकती है. टाटा टेक्नोलॉजीज का ग्रे मार्केट प्रीमियम (जीएमपी) काफी बढ़ गया है. पिछली बार सुना गया था, टाटा टेक अनौपचारिक बाजार में 415-420 रुपये प्रति शेयर के प्रीमियम पर चल रही थी, जो निवेशकों के लिए 80 प्रतिशत से अधिक की लिस्टिंग पॉप का सुझाव देता है. हालांकि, बोली अवधि के दौरान यह लगभग 380-390 रुपये प्रति शेयर था. जेएम फाइनेंशियल, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया और बोफा सिक्योरिटीज इंडिया टाटा टेक आईपीओ के प्रमुख प्रबंधक हैं, जबकि लिंक इनटाइम इंडिया इश्यू के लिए रजिस्ट्रार है.

Also Read: Petrol Diesel Price: कच्चे तेल की कीमतों में आयी गिरावट,नोएडा से पटना तक बदले पेट्रोल-डीजल के दाम, देखें अपडेट

रजिस्ट्रर्ड पोर्टल पर आवंटन की स्थिति कैसे जांचें

  • रजिस्ट्रर्ड पोर्टल पर जाएं. उपलब्ध लिंक पर क्लिक करने के बाद आपको पांच लिंक देखने को मिलेंगे, जहां स्टेटस चेक किया जा सकता है.

  • किसी एक लिंक पर क्लिक करके, आईपीओ अनुभाग में ड्रॉपडाउन मेनू से जेएसडब्ल्यू इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड का चयन करें.

  • आवंटन स्थिति की जांच करने के लिए तीन विकल्पों में से किसी एक का चयन करें, यानी आवेदन संख्या, डीमैट खाता या पैन.

  • यदि आपने पहला विकल्प चुना है, तो आवेदन संख्या और कैप्चा कोड टाइप करें, फिर ‘सबमिट’ पर क्लिक करें.

  • यदि आपने डीमैट खाता संख्या के माध्यम से स्थिति जांचने का विकल्प चुना है, तो इसे टाइप करें और ‘सबमिट’ पर क्लिक करने से पहले कैप्चा कोड दर्ज करें.

  • तीसरे विकल्प के लिए अपना पैन नंबर डालें और कैप्चा कोड टाइप करें. ‘सबमिट’ पर क्लिक करें.

बीएसई और एनएसई पर आवंटन स्थिति की जांच कैसे करें

  • बीएसई के लिए, आधिकारिक साइट पर आवंटन पृष्ठ पर जाएं. अब ‘इश्यू टाइप’ सेक्शन के तहत ‘इक्विटी’ चुनें. ‘इश्यू नेम’ के तहत ड्रॉपडाउन विकल्प से आईपीओ चुनें.

  • स्थिति जांचने के लिए अपना पैन या आवेदन नंबर दर्ज करें.

  • नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की वेबसाइट पर जाएं.

  • उसे साइन अप करने के लिए क्लिक करें’ विकल्प चुनें और अपने पैन के साथ खुद को पंजीकृत करें.

  • अब यूजरनेम, पासवर्ड और कैप्चा कोड के जरिए लॉगइन करें. खुलने वाले नए पेज पर अपना आईपीओ आवंटन स्थिति जांचें.

आईपीओ क्या होता है

आईपीओ का पूरा नाम Initial Public Offering है. यह एक वित्तीय प्रक्रिया है जिसमें किसी प्राइवेट कंपनी ने अपने स्टॉक के खुले बाजार में निवेशकों के लिए प्रस्तावना जारी करने का निर्णय लिया होता है. यह उस कंपनी के लिए पहली बार होता है जब वह खुले बाजार में अपने शेयरों को बेचने के लिए जाती है. जब एक कंपनी आईपीओ जारी करती है, तो वह अपने शेयरों का प्रचार प्रसार करती है और इंवेस्टर्स को अपने शेयरों को खरीदने का मौका देती है. आईपीओ के माध्यम से कंपनी उसके स्टॉक को सार्वजनिक और न्यूजीज माध्यमों के माध्यम से निवेशकों के लिए उपलब्ध कराती है ताकि वे उसे खरीद सकें. आईपीओ के माध्यम से कंपनी अधिकतर अपने स्टॉक के लिए नए निवेशकों को खींचने की कोशिश करती है और इसके माध्यम से कंपनी अधिकतर पूंजी एकत्र करके अपने विकास और वित्तीय योजनाओं को पूरा करती है. यह निवेशकों के लिए एक आकर्षक विकल्प होता है क्योंकि यह उन्हें एक सार्वजनिक कंपनी के मालिक बनाने का अवसर प्रदान करता है.

आईपीओ में निवेश कैसे करें

आईपीओ में निवेश करने से पहले संबंधित दस्तावेजों को पूरी तरह समझें. इसमें निवेश जोखिम भरा होता है. ऐसे में किसी वित्तीय सलाहकार की मदद लें. आईपीओ की सदस्यता लेने के लिए, आपके पास एक डीमैट खाता होना चाहिए. यदि आपके पास कोई नहीं है, तो आप डीमैट खाता खोलने के लिए एक पंजीकृत स्टॉकब्रोकर या डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट (डीपी) से संपर्क कर सकते हैं. इसके बाद, एक पंजीकृत स्टॉकब्रोकर चुनें जो आईपीओ सेवाएं प्रदान करता है. आप इसे ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के माध्यम से या व्यक्तिगत रूप से ब्रोकर के कार्यालय में जाकर कर सकते हैं. आईपीओ घोषणाओं और उनके विवरणों से अपडेट रहें. आगामी आईपीओ के बारे में जानकारी आमतौर पर स्टॉक एक्सचेंजों, वित्तीय समाचार पत्रों की वेबसाइटों और आईपीओ जारी करने वाली कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध होती है. एक बार जब आप एक आईपीओ चुन लेते हैं जिसकी आप सदस्यता लेना चाहते हैं, तो आप ऑनलाइन या ऑफलाइन तरीके से आवेदन कर सकते हैं.

(डिस्क्लेमर: यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें.)

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें