1. home Hindi News
  2. business
  3. sovereign gold bond buy gold cheaper than market then will have to knock the door of government

Sovereign Gold Bond News : बाजार से भी सस्ता पाना है सोना, सरकार का दरवाजा पड़ेगा खटखटाना

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
6 जुलाई को आरबीआई जारी करेगा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की चौथी सीरीज.
6 जुलाई को आरबीआई जारी करेगा सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की चौथी सीरीज.
प्रतीकात्मक फोटो.

4th Series of Sovereign Gold Bond News : अगर आपको बाजार से भी सस्ता सोना पाना है, तो आपको सरकार के दरवाजे को खटखटाना होगा. एकदम सही पढ़ रहे हैं आप. सरकार के पास एक ऐसा बॉन्ड है, जिसके लिए आवेदन करके आप बाजार भाव से भी कम कीमत पर खरा सोने की सुरक्षित खरीद कर सकते हैं. इसका नाम है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड. हालांकि, सरकार ने इस साल देश के लोगों के हाथों सस्ता सोना बेचने के लिए अब तक इस बॉन्ड को तीन बार पेश कर दिया है. सरकार अब आगामी 6 जुलाई यानी सोमवार से सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की चौथी सीरीज को पेश करने जा रही है.

आपके पास बाजार से भी सस्ता सोने की खरीद करने के लिए 6 से 10 जुलाई तक मौका दिया जाएगा. आप इसमें निवेश करने के लिए 10 जून तक आवेदन कर सकेंगे. इस बॉन्ड के तहत सरकार ने 1 ग्राम सोना की कीमत 4,852 रुपये तय की गयी है. जो लोग इस बॉन्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करेंगे, उन्हें डिजिटल पेमेंट के जरिए पैसों का भुगतान करना होगा. सबसे बड़ी बात यह है कि जो लोग ऑनलाइन आवेदन कर डिजिटली पेमेंट करते हैं, उन्हें सरकार की ओर से निर्धारित की गयी कीमत में 50 रुपये की छूट भी मिलेगी. आइए, जानते हैं कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के लिए कैसे आवेदन करेंगे और आपको कितना होगा फायदा...?

आरबीआई जारी करेगा बॉन्ड : भारत सरकार (Government of India) की ओर से भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) जारी करेगा. सरकार के इस गोल्ड बॉन्ड के बारे में आरबीआई ने कहा कि सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की कीमत 999 शुद्धता वाले सोने के लिए पिछले 3 कार्यदिवस में साधारण औसत बंद भाव (इंडिया बुलियन एंड जूलर्स एसोसिशन द्वारा प्रकाशित) मूल्य पर आधारित है. इससे पहले, 8 से 12 जून के बीच यानी तीसरी सीरीज में सब्सक्रिप्शन के लिए खुला बॉऩ्ड का इश्यू प्राइस 4,677 रुपए प्रति ग्राम था. गोल्ड से जुड़ी हर Latest News in Hindi से अपडेट रहने के लिए बने रहें हमारे साथ.

6 जुलाई को चौथी सीरीज जारी करेगी सरकार : आगामी छह जुलाई को सरकार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की चौथी सीरीज जारी करेगी. इसके पहले, उसने तीन सीरीज जारी कर दिया है. सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 में कुल छह सीरीज में इस बॉन्ड को जारी करेगी. इसकी पहली सीरीज 20 अप्रैल को जारी की गयी थी और इसकी आखिरी सीरीज 6 सितंबर को जारी की जाएगी. पहली सीरीज के लिए सरकार ने एक ग्राम सोने की कीमत 4,639 रुपये तय की गयी थी. 6 जुलाई को जारी होने वाली सीरीज के लिए सरकार ने एक ग्राम सोने की कीमत 4,852 रुपये तय की है.

पूरी तरह से सुरक्षित और खरा है सॉवरेन बॉन्ड में निवेश : सरकार की ओर से जारी किए जाने वाले सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करना पूरी तरह से सुरक्षित और खरा है. आम तौर पर आदमी सोने की खरीद कर घर में रखता है, तो उसे चोरी हो जाने या फिर उसके खो जाने का डर अधिक रहता है, लेकिन जब आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के जरिए सोने की खरीद करते हैं, तो आपको उसे सुरक्षित रखने का खतरा नहीं सताता और न ही उसके लिए लॉकर लेने की भारी-भरकम फीस ही चुकानी पड़ती है. इसके साथ ही, जब आप बाजार की किसी दुकान से सोने की खरीद करते हैं, तो आपको उसकी कीमत के अलावा मेकिंग चार्ज, खरीद पर तीन फीसदी जीएसटी और फिर मेकिंग चार्ज पर 5 फीसदी जीएसटी का भी भुगतान करना पड़ता है. इससे सोने की कीमत काफी बढ़ जाती है. सॉवरेन गोल्ड बांड में निवेश पर कोई जीएसटी नहीं लगता है. यह चूंकि बांड है, इसलिए इस पर आपको किसी प्रकार के कोई मेकिंग चार्ज भी भुगतान नहीं करना पड़ता.

शुद्धता और सुरक्षा को लेकर भी नहीं रहेगा संशय : जब आप सोने की सिल्ली या सोने का आभूषण खरीदते हैं, तो आपको उसकी शुद्धता को लेकर संदेह हो सकता है. साथ ही, उसे रखना भी सुरक्षित नहीं होता है, लेकिन सॉवरेन गोल्ड बांड में शुद्धता की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं होती है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के मुताबिक, गोल्ड बांड की कीमत इंडियन बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन (आईबीजेए) की ओर से प्रकाशित 24 कैरेट शुद्धता वाले सोने की कीमत से लिंक होती है. इसके साथ ही, इसे डीमैट रूप में रखा जा सकता है, जो काफी सुरक्षित है और उस पर कोई खर्च भी नहीं होता है.

हर साल 2.50 फीसदी मिलता है ब्याज : सॉवरेन गोल्ड बांड में इश्यू प्राइस पर हर साल 2.50 फीसदी का निश्चित ब्याज मिलता है. यह पैसा हर 6 महीने में ऑटोमेटिक आपके खाते में पहुंच जाता है. गोल्ड और गोल्ड ईटीएफ पर आपको इस तरह का फायदा नहीं मिलता. एनएसई के वेबइसाट पर दी गयी जानकारी के अनुसार, सॉवरेन गोल्ड बांड में निवेश का एक फायदा यह भी है कि 8 साल के मैच्यूरिटी डेट के बाद इससे होने वाले लाभ पर कोई टैक्स नहीं लगता है. इसके साथ ही, हर 6 महीने पर मिलने वाले ब्याज पर कोई टीडीएस भी नहीं लगता.

बॉन्ड में 1 ग्राम से 4 किलो तक कर सकते हैं सोने की खरीद : सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के तहत कोई भी आदमी एक वित्त वर्ष में कम से कम 1 ग्राम और अधिक से अधिक 4 किलोग्राम तक वैल्यू का बॉन्ड खरीद सकता है. हालांकि, किसी ट्रस्ट के लिए खरीद की अधिकतम सीमा 20 किलोग्राम है. कोई भी व्यक्ति एक वित्त वर्ष में 500 ग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकता है. बॉन्ड का मेच्यूरिटी डेट 8 साल का है, लेकिन निवेशकों को 5 साल के बाद बाहर निकलने का मौका मिलता है.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें