1. home Home
  2. business
  3. reliance vedanta not interested in oil and gas block bidding these companies in bid mtj

तेल एवं गैस ब्लॉक की नीलामी से रिलायंस और वेदांता ने बनायी दूरी, इन कंपनियों ने लगायी बोली

पेश किये गये ब्लॉक के लिए प्राप्त बोली के बारे में उपलब्ध जानकारी के अनुसार ओएनजीसी और ओआईएल के अलावा एकमात्र सन पेट्रोकेमिकल्स ने बोली लगायी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रिलायंस ने गैस ब्लॉक की नीलामी में नहीं दिखायी दिलचस्पी
रिलायंस ने गैस ब्लॉक की नीलामी में नहीं दिखायी दिलचस्पी
File Photo

नयी दिल्ली: भारत के 21 तेल और गैस ब्लॉक के लिए बोली के ताजा दौर में केवल तीन बोलीदाता सामने आये हैं. इनमें से दो सावजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉरपोरेशन (ONGC) और ऑयल इंडिया लिमिटेड (OIL) हैं. मुक्त क्षेत्र लाइसेंस नीति (OALP) बोली दौर-6 के तहत खोज एवं उत्पादन के लिए कुल 21 ब्लॉक या क्षेत्र की पेशकश की गयी थी.

इसके लिए बोली जमा करने का समय 6 अक्टूबर को समाप्त हो गया. पेश किये गये ब्लॉक के लिए प्राप्त बोली के बारे में उपलब्ध जानकारी के अनुसार ओएनजीसी और ओआईएल के अलावा एकमात्र सन पेट्रोकेमिकल्स ने बोली लगायी है. प्राप्त बोली के बारे में हाइड्रोकार्बन महानिदेशालय ने जानकारी दी है.

कुल 21 ब्लॉक में से 18 के लिए एक बोली और शेष तीन के लिए दो बोलीदाताओं ने बोलियां लगायी हैं. देश की सबसे बड़ी तेल उत्पादक कंपनी ओएनजीसी ने 21 में से 19 के लिए बोली लगायी, जबकि ओआईएल ने दो ब्लॉक के लिए बोली लगायी है. ओएनजीसी 16 ब्लॉक के लिए एकमात्र बोलीदाता है जबकि ओआईएल दो क्षेत्रों के लिए एकमात्रा बोलीदाता है.

सन पेट्रोकेमिकल्स ने तीन ब्लॉक के लिए लगायी बोली

सन पेट्रोकेमिकल्स ने तीन ब्लॉक के लिए बोली लगायी है. उन क्षेत्रों के लिए उसकी प्रतिस्पर्धा ओएनजीसी के साथ है. ओएएलपी के पिछले दौर में वेदांता लिमिटेड और रिलायंस-बीपी ने संयुक्त रूप से बोली लगायी थी, लेकिन इस बार इन कंपनियों ने कोई बोली नहीं लगायी.

सरकार को उम्मीद है कि खोज एवं उत्पादन के लिए और क्षेत्रों को खोले जाने से देश में तेल एवं गैस उत्पादन को बढ़ाने तथा 90 अरब डॉलर के आयात बिल में कमी लाने में मदद मिलेगी. भारत अपनी तेल जरूरतों के लिए 85 प्रतिशत आयात पर निर्भर है. ऐसे में नये क्षेत्रों में भंडार मिलने से आयात पर निर्भरता में कमी आयेगी.

पिछले दौर में 105 ब्लॉक की हुई थी नीलामी

पिछले पांच दौर की ओएएलपी बोलियों में 105 ब्लॉक के लिए बोलियां लगायी गयी थी. इसमें से वेदांता लिमिटेड ने 51 क्षेत्रों के लिए बोली लगायी. ओआईएल ने 25 और ओएनजीसी ने 24 ब्लॉक हासिल किये. रिलायंस इंडस्ट्रीज और बीपी के संयुक्त उद्यम को एक ब्लॉक मिला था.

इंडिया ऑयल कॉरपोरेशन, गेल, बीआरपीएल और एचओईसी भी एक-एक ब्लॉक हासिल करने में सफल रहीं. ओएएलपी-6 के तहत पेश 21 ब्लॉक 11 अवसादी बेसिन में फैले हैं. ये नौ राज्यों में 35,346 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में हैं. इनमें से 15 ब्लॉक जमीन पर, चार छिछले जल-क्षेत्र और दो गहरे जल क्षेत्र में स्थित हैं.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें