1. home Home
  2. business
  3. indian stock market will create history in the year 2022 in the environment of omicron vwt

ओमिक्रॉन के माहौल में साल 2022 में भी इतिहास रचेगा शेयर बाजार, निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिलने की उम्मीद

साल 2021 में सेंसेक्स ने अपने सर्वकालिक ऊंचाई 60,000 अंकों के मनोवैज्ञानिक आंकड़े को छूने में कामयाबी हासिल की, तो निफ्टी ने भी 18,000 के स्तर को पार कर लिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नए साल से नई उम्मीद.
नए साल से नई उम्मीद.
फोटो : ट्विटर

मुंबई : ओमिक्रॉन और कोरोना के तीसरी लहर के साए में आज रात आधी रात को नया साल 2022 आने वाला है. उम्मीद की जा रही है कि नए साल में भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार हो सकता है, लेकिन देखना यह भी बेहद जरूरी होगा कि ओमिक्रॉन और कोरोना की तीसरी लहर के साए में भारतीय शेयर बाजार की चाल कैसी होगी? नए साल में निवेशकों को मुनाफा होगा या फिर शेयरों में पहले से लगा पैसा डूब जाएगा. हालांकि, कोरोना महामारी की दूसरी लहर के साए में भारतीय शेयर बाजार ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है.

2021 में सेंसेक्स-निफ्टी ने दिया जोरदार रिटर्न

भारतीय शेयर बाजार के दोनों प्रमुख सूचकांक (बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी) ने साल 2021 के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन किया है. साल 2021 में सेंसेक्स ने अपने सर्वकालिक ऊंचाई 60,000 अंकों के मनोवैज्ञानिक आंकड़े को छूने में कामयाबी हासिल की, तो निफ्टी ने भी 18,000 के स्तर को पार कर लिया. अब चूंकि नया साल 2022 आने वाला है, तो देसी-विदेशी निवेशक नए साल में भी भारतीय शेयर बाजार में अच्छे रिटर्न की उम्मीद जता रहे हैं.

साल 2022 में भी शानदार रिटर्न की उम्मीद

देश में कोरोना की तीसरी लहर का ऐलान कर दिया गया है और ओमिक्रॉन वेरिएंट का असर शेयर बाजार पर भी दिखाई दे रहा है. हर किसी के मन में यह सवाल पैदा हो रहा है कि नए साल में 2021 की तरह पैसा बरसेगा या लोगों की गाड़ी कमाई डूब जाएगी? विशेषज्ञ इस बात की उम्मीद जता रहे हैं कि साल 2022 में भी शेयर बाजार में रौनक देखने को मिलेगी. सेंसेक्स और निफ्टी सूचकांक 2021 के रिकॉर्ड स्तर को भी पार कर जाएंगे. हालांकि, मौजूदा परिस्थिति के आधार यह अनुमान जताया जा रहा है कि यह इतना भी आसान नहीं लगता है.

2021 में सेंसेक्स ने रचा इतिहास

बीएसई के 30 शेयरों वाले सूचकांक सेंसेक्स ने पिछले 2 सालों में ही रिकॉर्ड तेजी के साथ बढ़त हासिल की है. सेंसेक्स ने 2021 के दौरान केवल नौ महीने के अंतराल में ही 50,000 अंक और 60,000 अंक दोनों ही बड़े स्तर को पार किया है. 19 अक्तूबर को सेंसेक्स 62 हजार के पार खुला था. वहीं इसे 1000 अंक से 60,000 के स्तर तक पहुंचने में सेंसेक्स को 31 साल से अधिक वक्त लग गया. इसने 25 जुलाई 1990 को पहली बार 1000 अंक का स्तर छुआ और इसके बाद 24 सितंबर 2021 शुक्रवार को सेंसेक्स ने इतिहास में पहली बार 60000 के रिकॉर्ड स्तर को छूने में कामयाबी पाई. वहीं, निफ्टी इस साल अभी तक करीब 24 फीसदी की बढ़त में है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें