1. home Hindi News
  2. business
  3. epfo whatsapp helpline service solve your problems in a pinch know to use epfo whatsapp helpline to resolve your epf account problems rjh

EPFO के WhatsApp helpline service का ऐसे उठायें लाभ

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 EPFO WhatsApp helpline service
EPFO WhatsApp helpline service
Prabhat Khabar

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने हाल ही में अपने सदस्यों की समस्याओं के समाधान हेतु एक व्हाट्सएप हेल्पलाइन सेवा शुरू की है. इस सेवा के जरिये EPFO के सदस्य अपनी समस्याओं का शीघ्र समाधान कर सकेंगे और उन्हें किसी तरह की परेशानी भी नहीं होगी. श्रम मंत्रालय के अनुसार यह सुविधा विभाग द्वारा दी जा रही अन्य सुविधाओं के अतिरिक्त है. यह सुविधा EPFO के सभी 138 क्षेत्रीय कार्यालयों में शुरू हो चुकी है.

गौरतलब है कि ईपीएफओ अपने सदस्यों की शिकायतों के समाधान के लिए web-based EPFiGMS पोर्टल, फेसबुक, ट्‌विटर और 24 घंटे काम करने वाले कॉल सेंटर के जरिये अपने सदस्यों की समस्याओं का समाधान करता है. व्हाट्‌सएप हेल्पलाइन सर्विस का उद्देश्य कोरोना महामारी के दौरान अपने सदस्यों को बिना बाधा के सेवा उपलब्ध कराना है.

व्हाट्‌सएप हेल्पलाइन सर्विस का लाभ कैसे उठायें

व्हाट्‌सएप हेल्पलाइन सर्विस का लाभ उठाने के लिए आपको सबसे पहले यह जानना होगा कि आपका क्षेत्र कौन सा है यानी आप किस क्षेत्र के आफिस के हेल्पलाइन नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करवायेंगे. अपने क्षेत्रीय कार्यालय की जानकारी के बाद आप उसे क्षेत्र के फोन नंबर से जुड़ जायें. अगर आपको यह नहीं पता है कि आपका क्षेत्रीय कार्यालय कौन सा है, यानी किस क्षेत्र के कार्यालय में आपका एकाउंट तो आप सबसे पहले अपने क्षेत्रीय कार्यालय के बारे में जानकारी लें.

-आपको सबसे ईपीएफओ के वेबसाइट www.epfindia.gov.in पर जाना होगा.

- उसके बाद आप टैब ‘सर्विस पर क्लिक करें, उसके बाद For Employers पर जायें

-आपके सामने अब नया वेबपेज खुल जायेगा, जिसमें आप Establishment Search करें

- Establishment Search का अर्थ है, आप जिस संस्थान में काम करते हैं, तो आप उस संस्थान का सात डिजिट का कोड यहां डालें, अगर कोड ना मिले तो अपने संस्थान का नाम डालें और सर्च करें. यहां आपको अपने संस्थान से संबंधित हर जानकारी मिल जायेगी और यह पता भी चल जायेगा कि आपको किस व्हाट्‌सएप नंबर पर अपनी शिकायत दर्ज करानी है. तो बस इतना ही करना है और आपकी समस्याएं आसानी से सुलझ जायेंगी.

Posted By : Rajneesh Anand

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें