1. home Hindi News
  2. business
  3. earn more profit than fd invest floating rate saving bonds get interest every 6 months extra benefits from fixed deposit latest business news

1 जुलाई से शुरू हो रही बेहतरीन सरकारी स्कीम, ऐसे करें इंवेस्ट और पाएं साल में दो बार FD से ज्यादा ब्याज

By SumitKumar Verma
Updated Date
FRS bonds scheme, interest rate, saving bonds, earn more profit, Fixed Deposit,  how to buy, latest business tips & tricks
FRS bonds scheme, interest rate, saving bonds, earn more profit, Fixed Deposit, how to buy, latest business tips & tricks
Prabhat Khabar

FRS bonds scheme, interest rate, saving bonds, earn more profit, Fixed Deposit, how to buy, latest business tips & tricks : कोरोना वयारस (Coronavirus) और लॉकडाउन (Lockdown) के बीच 1 जुलाई से शुरू हो रहीे है निवेशकों (Investor) के लिए नई सरकारी स्कीम (New Scheme) आने वाली है. दरअसल, केंद्र सरकार (Central Government) टैक्सेबल फ्लोटिंग रेट सेविंग्स बॉन्ड (Taxable Floating Rate Savings Bonds 2020) स्कीम अगले महीने की पहली तारीक को पेश करने वाली है. इस मामले के विशेषज्ञों की माने तो वर्ष 2018 में लांच हुई टैक्सेबल सेविंग्स बॉन्ड्स (Taxable Savings Bonds) का ये नया वर्जन है.

आपको ता दें कि टैक्सेबल सेविंग्स बॉन्ड्स पर 7.75 फीसदी ब्‍याज (Interest Rate) मिलता था जिसे हाल ही में बंद किया गया है. 28 मई 2020 को इस स्कीम को बंद करने के बाद अब निवेशकों (Investor) को यह अच्छा मौका दिया जा रहा है.

क्या है टैक्सेबल फ्लोटिंग रेट सेविंग्स बॉन्ड स्कीम (Taxable Floating Rate Savings Bond Scheme) में खास

टैक्सेबल फ्लोटिंग रेट सेविंग्स बॉन्ड (Taxable Floating Rate Savings Bond) का मैच्‍योरिटी पीरियड 7 साल है और इसमें वर्ष में दो बार ब्याज दिया जाता है. वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के अनुसार, इस पर पहला ब्याज जनवरी की पहली तारीख और दूसरा जुलाई की पहली तारीख को दी जायेगी. 1 जनवरी 2021 में दिए जाने वाले ब्याज का दर 7.15 फीसदी तय किया गया है जबकि जुलाई का ब्याज हर छह माह के भीतर नये सिरे से तय किया जाएगा. बड़ी बात यह है कि 6 महीने पूरे होते ही ब्याज का पैसा निवेशक के अकाउंट में जमा कर दिया जाएगा.

फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) से ज्‍यादा मुनाफा वाला

एफआरएस बॉन्ड (FRS Bond) फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (FD) से ज्‍यादा फायदेमंद साबित होने वाला है. दरअसल, बड़े बैंकों में एफडी पर ब्याज दर कम हो गया है. भारतीय स्‍टेट बैंक ऑफ (SBI) तक में 5.1-6.2 फीसदी तक हो गई है. 2 करोड़ रुपये से कम की 1-2 साल की एफडी पर फिलहाल 5.10 फीसदी के दर पर ब्याज दिया जा रहा है. जबकि, 3 साल पर 5.30 फीसदी, 5-10 साल तक की एफडी पर 5.40 फीसदी ब्याज दर दिया जा रहा है. वहीं, वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए 5.60 से लेकर 6.20 फीसदी तक सालाना ब्याज दिया जाता है. ऐसे में 1 जुलाई से शुरू होने वाले इस स्कीम में निवेश करना लाभकारी साबित हो सकता है.

कैसे खरीदें बॉन्ड

इस बॉन्ड को आसान तरीकों से खरीदा जा सकता है. इसे खरीदने के लिए ड्राफ्ट, चेक और इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट मोड का इस्तेमाल कर सकते हैं. आपको बता दें कि किसी भी सरकारी बैंक या आईडीबीआई, एचडीएफसी बैंक एक्सिस बैंक अथवा आईसीआईसीआई बैंक से इसे खरीद सकते हैं.

वरिष्ठ नागरिकों के लिए खास (FRS bonds for Senior Citizens)

इस बॉन्ड पर कम्‍युलेटिव बेसिस पर ब्याज (Cumulative Interest) नहीं दिया जाएगा अर्थात मैच्योरिटी पीरियड पूरे होने से पहले बॉन्ड भुनाने का विकल्प सभी के लिए नहीं होगा. इसका फायदा केवल वरिष्ठ नागरिकों को ही मिलेगा.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें