1. home Home
  2. business
  3. delhi police raid 37 places after supreme court probe order into tihar jail officials unitech ex promoters chandra brothers collusion smb

यूनीटेक मामला: तिहाड़ जेल के अधिकारियों और चंद्रा बंधुओं की मिलीभगत मामले में 37 जगहों पर दिल्ली पुलिस की रेड

Unitech Case रियल एस्टेट की नामी कंपनी यूनिटेक के पूर्व प्रमोटरों और तिहाड़ जेल के अधिकारियों की मिलीभगत मामले में पुलिस ने सोमवार को 37 जगहों पर छापा मारा है. जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की ओर से ये छापेमारी हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में की गई.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
यूनिटेक मामला: जेल अधिकारियों और चंद्रा बंधुओं की मिलीभगत मामले में 37 जगहों पर छापेमारी
यूनिटेक मामला: जेल अधिकारियों और चंद्रा बंधुओं की मिलीभगत मामले में 37 जगहों पर छापेमारी
फाइल

Unitech Case रियल एस्टेट की नामी कंपनी यूनिटेक के पूर्व प्रमोटरों और तिहाड़ जेल के अधिकारियों की मिलीभगत मामले में पुलिस ने सोमवार को 37 जगहों पर छापा मारा है. जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस की ओर से ये छापेमारी हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली में की गई. पुलिस ने जेल में बंद यूनीटेक के पूर्व प्रवर्तकों संजय चंद्रा और अजय चंद्रा के साथ तिहाड़ जेल के अधिकारियों की कथित मिलीभगत की जांच का सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्देश देने के कुछ दिनों बाद यह कार्रवाई की है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी चिन्मय बिस्वाल ने एक बयान में कहा कि अपराध शाखा की टीमों ने यूनीटेक के संस्थापक रमेश चंद्रा और कंपनी के पूर्व प्रवर्तकों अजय चंद्रा व संजय चंद्रा तथा उनके कर्मचारियों के साथ-साथ तिहाड़ जेल के अधिकारियों के परिसरों में तलाशी अभियान चलाया. ये अभियान दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान में 37 अलग-अलग स्थानों पर 37 टीमों द्वारा चलाए गए.

दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि तिहाड़ जेल संख्या 7 के पूर्व अधीक्षक, पूर्व उपाधीक्षक, सहायक अधीक्षक और जेल के संविदा कर्मियों के आवासों की तलाशी ली गयी. बयान में चिन्मय बिस्वाल के हवाले से कहा गया है कि मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच की टीम ने मोबाइल फोन के रूप में सबूत एकत्र किए और आवश्यक दस्तावेज भी जब्त किए हैं. मामले में आगे जांच की जा रही है.

बता दें कि 28 सितंबर को इस संबंध में दिल्ली पुलिस आयुक्त ने कोर्ट में अपनी जांच रिपोर्ट सौंपी थी. 6 अक्तूबर को जांच रिपोर्ट को देखने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले में एक पूर्ण आपराधिक जांच करने की अनुमति दी. इसी के तहत 12 अक्तूबर को अपराध शाखा ने भ्रष्टाचार निरोधक कानून और धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट कोर्ट ने यूनिटेक कंपनी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तिहाड़ जेल में बंद चंद्रा बंधुओं को तिहाड़ से मुंबई की आर्थर रोड जेल और तलोजा जेल में स्थानांतरित करने का निर्देश दिया था.

बाद में च्रंद्रा बंधुओं को मुंबई जेल में शिफ्ट कर दिया गया था. प्रवर्तन निदेशालय की अदालत को सौंपे रिपोर्ट में कुछ जेल अधिकारियों की मिलीभगत से चंद्रा बंधुओं के जेल से कई गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल होने की बात कही थी. गत 26 अगस्त को पीठ ने दिल्ली पुलिस आयुक्त को को ईडी की रिपोर्ट के आधार पर तिहाड़ जेल स्टाफ के खिलाफ जांच करने का आदेश दिया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें