15.1 C
Ranchi
Wednesday, February 21, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeदेशइस व्यक्ति के पास है एप्पल, गूगल.. सबकी चाबी, खरीद सकता है 50 पाकिस्तान, फिर भी अमीरों की लिस्ट...

इस व्यक्ति के पास है एप्पल, गूगल.. सबकी चाबी, खरीद सकता है 50 पाकिस्तान, फिर भी अमीरों की लिस्ट से गायब नाम

Larry Fink मल्टीनेशनल इनवेस्टमेंट कंपनी ब्लैकरॉक इंक (BlackRock Inc.) के फाउंडर हैं. ब्लैकरॉक इंक दुनिया की सबसे बड़ी एसेट मैनेजमेंट कंपनी है.

Larry Fink: हम जब भी दुनिया के अमीर लोगों की बात करते हैं तो एलन मस्क, बर्नार्ड अर्नाल्ट, जेफ बेजोस, बिल गेट्स और मार्क जुकरबर्ग समेत तमाम दौलतमंदों का नाम लेते हैं. इसमें भारत के मुकेश अंबानी और गौतम अदाणी का भी नाम आता है. मगर, क्या आपने किसी ऐसे व्यक्ति का नाम सुना है, जिसके पास आधा अमेरिका या 50 पाकिस्तान जैसा देश खरीदने जितना पैसा हो. या ऐसा व्यक्ति जिसका दुनिया के लगभग हर बड़े कंपनी में हिस्सा हो. वो दुनिया के किसी भी शेयर बाजार पर अपना प्रभाव डाल सकता है. हालांकि, उनकी पर्सनल नेटवर्थ शीर्ष अरबपतियों से काफी कम है. इस व्यक्ति का नाम है लैरी फिंक है. लैरी फिंक मल्टीनेशनल इनवेस्टमेंट कंपनी ब्लैकरॉक इंक (BlackRock Inc.) के फाउंडर हैं. ब्लैकरॉक इंक दुनिया की सबसे बड़ी एसेट मैनेजमेंट कंपनी है. कंपनी के द्वारा करीब 9.43 ट्रिलियन डॉलर जिसका अर्थ है 78 लाख करोड़ रुपये से अधिक का एसेट को मैनेज किया जाता है. ये आंकड़ा अमेरिका की जीडीपी का लगभग आधा है. जबकि, कई देशों के जीडीपी से कई गुना ज्यादा है.

कौन हैं लैरी फिंक

ब्लैकरॉक इंक अमेरिका स्थित सबसे बड़ी एसेट मैनेजमेंट की कंपनी है. इस कंपनी की स्थापना 1988 में लैरी फिंक ने की थी. शेयर मार्केट में रुचि के कारण शुरूआती दिनों में कंपनी बनायी थी. इसके बाद, धीरे-धीरे दुनिया की सबसे पावरफुल एसेट मैनेजमेंट कंपनी बन गयी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, दुनियाभर के कुल शेयरों और बॉन्ड्स का 10 फीसदी ब्लैकरॉक इंक के द्वारा मैनेज किया जाता है. मार्केट में इसे दुनिया का सबसे बड़ा शेडो बैंक भी कहा जाता है. हाल ही में. कंपनी ने रिलायंस ग्रुप के जियो फाइनेंशियल सर्विसेज के साथ एक ज्वाइंट वेंचर के लिए भी जुलाई के महीने में समझौता किया था. इस ज्वाइंट वेंचर में ब्लैकरॉक इंक की 50 फीसदी तो जियो फाइनेंशियल सर्विसेज (जेएफएस) की 50 फीसदी की बराबर हिस्सेदारी होगी. कंपनी की वैल्यू करीब 20 अरब डॉलर के आसपास आंकी जा रही है. हालांकि, इससे पहले 2018 में कंपनी ने भारत से दूरी बना ली थी. इसके पांच साल के बाद फिर से भारतीय बाजार में 2023 में उतरी है.

Also Read: Service PMI Oct 2023: अक्टूबर में भारत के सर्विस सेक्टर ने किया निराश, 7 महीने के निचले स्तर पर पहुंचा पीएमआई

एसेट मैनेजमेंट कारोबार क्या होता है

एसेट मैनेजमेंट कारोबार एक वित्तीय सेवा है जिसमें एक वित्तीय संस्थान या एसेट मैनेजर द्वारा ग्राहकों के लिए निवेश और पूंजी प्रबंधन की सेवाएं प्रदान की जाती हैं. इस कारोबार में ग्राहक अपनी निवेश गोलियों को पूंजी मैनेजर को सौंपते हैं, जिन्हें प्रबंधन और निवेश करने के लिए जिम्मेदारी दी जाती है. यह निवेश गोलियाँ विभिन्न प्रकार के वित्तीय उपकरणों में शामिल हो सकती हैं, जैसे कि शेयर, बॉन्ड, म्यूचुअल फंड, पेंशन निधि, और अन्य वित्तीय उपकरण. एसेट मैनेजर ग्राहकों के लिए उनके निवेशों की प्रबंधन, ज्यादा लाभ और कम जोखिम के साथ सुनिश्चित करने में मदद करते हैं, जिससे ग्राहक वित्तीय लक्ष्यों को हासिल कर सकते हैं. एसेट मैनेजमेंट कारोबार के तहत कार्य करने वाले व्यक्तियों को आमतौर पर एसेट मैनेजर्स कहा जाता है और उन्हें उनके ग्राहकों की वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए वित्तीय निवेश के विभिन्न पहलुओं के प्रति विशेषज्ञता होती है.

एसेट मैनेजमेंट कारोबार के मुख्य उद्देश्य मुख्य रूप से दो होते हैं:

पूंजी प्रबंधन: एसेट मैनेजर ग्राहकों की वित्तीय लक्ष्यों और रिस्क टॉलरेंस के आधार पर उनकी पूंजी को प्रबंधित करने में मदद करते हैं. इसका उद्देश्य पूंजी को विनिवेश करके ज्यादा आदान प्रदान करना है.

निवेश प्रबंधन: एसेट मैनेजर ग्राहक के लिए विभिन्न निवेश उपकरणों में निवेश करने के लिए निवेशकों के लिए रुचि के आधार पर निवेश के रूप, वित्तीय साधनों, और वित्तीय लक्ष्यों के साथ निवेश करते हैं.

Also Read: Philanthropists In India: अंबानी-अदानी से ज्यादा दान करते हैं HCL के मालिक शिव नाडर, देखें पूरी लिस्ट

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें