सेंसेक्स पर तेजड़ियों की निगाह, साल 2020 में 50 हजारी बनाने का लक्ष्य

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : आर्थिक वृद्धि तेज होने की अपनी उम्मीदें कायम रखते हुए शेयर बाजार को 2020 के दौरान प्रमुख शेयर सूचकांकों में कम से कम 12-15 फीसदी के लाभ की उम्मीद है. बाजार को निगाह फिलहाल फरवरी के शुरू में पेश किये जाने वाले आम बजट और रिजर्व बैंक की नीति के साथ-साथ अमेरिकी चुनाव का इंतजार है.

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के रिटेल रिसर्च प्रभाग के प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा कि सितंबर में कॉरपोरेट कर में कटौती से कंपनियों का उत्साह बढ़ा है. हमारा मानना ​​है कि सरकार और रिजर्व बैंक द्वारा की गयी पहल का जमीनी स्तर पर फलीभूत होने में थोड़ा समय लगता है, लेकिन यह जरूर है कि भारतीय अर्थव्यवस्था के दीर्घकालिक बुनियाद मजबूत बनी हुई है.

घरेलू शेयर बाजार का प्रदर्शन 2019 में अच्छा रहा. वर्ष के दौरान 20 दिसंबर को सेंसेक्स 41,809.96 के रिकॉर्ड स्तर को छू गया था. वर्ष के दौरान इसमें कुल मिलाकर 5,000 अंक या लगभग 15 फीसदी की तेजी रही. विशेषज्ञों ने कहा कि कॉरपोरेट कर में कटौती, विदेशी संस्थागत निवेश के प्रवाह और अमेरिका-चीन व्यापार सौदे की उम्मीदों से बाजार में उत्साह बना रहा.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि हमें उम्मीद है कि 2021 में अर्थव्यवस्था सुधरेगी और बाजार में तेजी और फैलेगी. निकट अवधि में बाजार अपने को समायोजित करने के लिए थोड़ा नीचे आ सकता है. रेलिगेयर ब्रोकिंग के शोध प्रभाग के उपाध्यक्ष अजीत मिश्रा ने कहा कि हाल के सरकारी उपायों से आर्थिक वृद्धि में सुधार की उम्मीद है. शेयर बाजार में भी उत्साह रहने की उम्मीद है.

अमेरिकी फेडरल रिजर्व के सकारात्मक रुख के साथ और व्यापार युद्ध तनाव कम होने के साथ हम वैश्विक वृद्धि दर के भी तेजी की दिशा में लौटने की उम्मीद करते हैं. ट्रेडिंगबेल्स के सह-संस्थापक और सीईओ अमित गुप्ता के अनुसार, ‘पिछले चार महीनों के तेजी के रुख को वर्ष 2020 में और गति मिल सकती है. हम उम्मीद कर रहे हैं कि सूचकांक के निम्न तुलनात्मक आधार, वैश्विक व्यवसाय जगत में उत्साह तथा सरकार द्वारा किये जाने वाले आर्थिक सुधारों के दम पर वर्ष 2020 की दूसरी छमाही में अच्छी कमाई हो सकती है.

निफ्टी और सेंसेक्स के वर्ष 2020 में तेजी पर बने रहने की उम्मीद है. कुछ विशेषज्ञों ने वर्ष 2020 में प्रमुख सूचकांकों में 12-15 फीसदी सुधार का अनुमान लगाया है. सैमको सिक्यूरिटीज के अनुसंधान प्रमुख उमेश मेहता का अनुमान है कि निफ्टी जल्द ही 13,500 अंक और सेंसेक्स सूचकांक 46,000 के स्तर को छू सकता है.

उन्होंने कहा कि निफ्टी के 15,000 अंक के स्तर को छूने और सेंसेक्स के 51,000 अंक तक पहुंचने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है. खेमका ने कहा कि बाजार की नजर केंद्रीय बजट, आर्थिक वृद्धि, निवेश और उपभोग की मांग तेज करने की सरकार की नीतिगत पहल जैसे प्रमुख घटनाक्रम भविष्य के संकेत होंगे.

उन्होंने आगे कहा कि विदेशी पोर्टफोलियो निवेश वर्ष 2020 में बाजार की दिशा तय करने के संदर्भ में एक प्रमुख कारक साबित होगा. अमेरिकी चुनाव एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम होगा, जो बाजार के रुझान पर असर डाल सकता है. कुछ विश्लेषकों को 2020 में धातु, फार्मास्युटिकल्स, इन्फ्रास्ट्रक्चर, एफएमसीजी और टिकाऊ उपभोक्ता माल जैसे क्षेत्रों से बेहतर प्रदर्शन की संभावना है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें