अटल पेंशन योजना के तहत अब जल्द ही मिल सकते हैं 10000 रुपये, जानिये...

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

नयी दिल्ली : अटल पेंशन योजना (एपीवाई) के तहत पेशन की राशि को बढ़ाकर हर महीने 10,000 रुपये तक किये जाने की व्यवहार्यता को परखने के लिए पेंशन फंड नियामक पीएफआरडीए अपने पोर्टफोलियो का मूल्यांकन कर रहा है. एक शीर्ष अधिकारी ने यह बात कही. अटल पेंशन योजना के तहत मिलने वाली 5,000 रुपये तक की पेंशन राशि को दोगुना करने के लिए इससे पहले भी प्रस्ताव किया गया था.

पेंशन निधि विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए) के चेयरमैन हेंमत जी कॉन्ट्रेक्टर ने बताया कि अटल पेंशन योजना एक गारंटीशुदा पेंशन स्कीम है और सरकार पर इसकी प्रतिबद्धता को पूरा करने का दायित्व है. ऐसे में सरकार पर कितनी जिम्मेदारी पड़ सकती है, इसके लिए कितनी रकम की जरूरत होगी, हम अपने पोर्टफोलियो का वास्तविक मूल्यांकन कर रहे हैं, ताकि हमें यह पता चल सके कि क्या सरकार को गारंटी दायित्व पूरा करने के लिए कुछ करने की जरूरत होगी या फिर इसकी आवश्यकता नहीं होगी. इस प्रक्रिया के दिसंबर तक पूरा होने की उम्मीद है.

कॉन्ट्रेक्टर ने कहा कि एक बार इसको लेकर स्थिति स्पष्ट हो जाये, तो सरकार अटल पेंशन योजना के दायरे को बढ़ा सकती है. पेंशन राशि दोगुनी होने का योजना को वास्तविकता में बदलने में कितना समय लगेगा, इस पर उन्होंने कहा कि दिसंबर तक मूल्यांककों की परीक्षण प्रक्रिया खत्म हो जायेगी और उसके बाद कोई भी ठोस कदम अगले वर्ष फरवरी या मार्च तक ही उठाया जा सकेगा.

वित्त मंत्रालय ने इस साल जून में कहा था कि अटल पेंशन योजना के तहत पेंशन की राशि बढ़ाने की जरूरत है और इसके लिए पीएफआरडीए द्वारा भेजे गये प्रस्ताव पर सरकार गौर कर रही है. कंट्रैक्टर ने जून में कहा था कि इस समय अटल पेंशन योजना के तहत हमारे पांच पेंशन स्लैब हैं. ये स्लैब एक हजार से लेकर पांच हजार रुपये मासिक तक के हैं.

बाजार से इस बात को लेकर काफी चर्चा है कि पेंशन राशि कम है और यह बढ़नी चाहिए, क्योंकि कई लोगों का मानना है कि 60 साल की उम्र में 5,000 रुपये की राशि आज से 20- 30 साल बाद बहुत कम होगी. पीएफआरडीए को उम्मीद है कि चालू वित्त वर्ष में अटल पेंशन योजना के खाताधारकों की संख्या डेढ़ करोड़ तक पहुंच जायेगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें