1. home Hindi News
  2. business
  3. 100 indian companies created 71 trillion wealth in 5 years says wealth creation report mtj

Wealth Creation Report: 5 साल में भारत की 100 कंपनियों ने बनायी 71 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति

मोतीलाल ओसवाल की ओर से हर साल जारी किये जाने वाले वेल्थ क्रिएशन रिपोर्ट में बताया गया है कि यह पहला मौका है, जब 100 भारतीय कंपनियों ने रिकॉर्ड संपत्ति बनायी है. 56 फीसदी पूंजी सिर्फ 10 कंपनियों ने बनायी है.

By Mithilesh Jha
Updated Date
Wealth Creation Report
Wealth Creation Report
Image for Representation Only

Wealth Creation Report: भारत की 100 कंपनियों ने पिछले 5 साल में करीब 71 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति बनायी है. मोतीलाल ओसवाल के 26वें वेल्थ क्रिएशन स्टडी (2016-2021) में ये आंकड़े जारी किये गये हैं. मोतीलाल ओसवाल की ओर से हर साल जारी किये जाने वाले वेल्थ क्रिएशन रिपोर्ट में बताया गया है कि यह पहला मौका है, जब 100 भारतीय कंपनियों ने रिकॉर्ड संपत्ति बनायी है. 56 फीसदी संपत्ति सिर्फ 10 कंपनियों ने बनायी है.

इस रिपोर्ट पर गौर करेंगे, तो पायेंगे कि वर्ष 2001-06 के दौरान भारतीय कंपनियों ने 14.3 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति बनायी थी. वर्ष 2002-07 के दौरान यह बढ़कर 163 लाख करोड़ रुपये हो गयी, जबकि वर्ष 2003-08 में 25.4 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2004-09 में सिर्फ 9.7 लाख करोड़ रुपये रह गयी. वर्ष 2005-10 में आंकड़ा बढ़कर 26.5 लाख करोड़ रुपये हो गया.

वर्ष 2006-11 के दौरान 22.1 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2007-12 के दौरान 16.2 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2008-13 में 18.4 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2009-14 में 29.4 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2010-15 के दौरान 34.2 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2011-16 के दौरान 28.4 लाख करोड़ रुपये, वर्ष 2012-17 के दौरान 38.9 लाख करोड़ रुपये की कंपनियों ने संपत्ति बनायी.

वर्ष 2013-18 के दौरान यह बढ़कर 44.9 लाख करोड़ रुपये हो गयी, जबकि वर्ष 2014-19 में 49 लाख करोड़ रपुये. वर्ष 2015-20 के दौरान यह रकम घटकर 26.1 लाख करोड़ रुपये रह गयी, जबकि वर्ष 2016 से 2021 के बीच कंपनियों ने रिकॉर्ड 70.8 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति तैयार की.

रिलायंस ने तोड़ा अपना ही रिकॉर्ड

सबसे ज्यादा संपत्ति बनाने वाली कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज टॉप पर रही. वर्ष 2016-21 के दौरान सबसे ज्यादा पूंजी या संपत्ति बनाने वाली कंपनी रिलायंस लगातार तीसरे साल सबसे ज्यादा पूंजी बनाने वाली कंपनी बनी रही. कंपनी ने 2016-21 के दौरान 9.7 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति बनायी, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है. कंपनी ने इस बार वर्ष 2014-19 के 5.6 लाख करोड़ रुपये के अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ा.

10 कंपनियों ने बनाये 56 फीसदी पैसे

रिपोर्ट पर गौर करेंगे, तो पायेंगे कि इन 70.8 लाख करोड़ रुपये में 40 लाख करोड़ रुपये (56 फीसदी) सिर्फ 10 कंपनियों (रिलायंस इंडस्ट्रीज, टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंफोसिस, बजाज फाइनेंस, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, कोटक महिंद्रा और एचसीएल टेक) ने बनाये हैं.

रिलायंस ने 9.7 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति बनायी, तो टीसीएस ने 7.29 लाख करोड़ रुपये, एचडीएफसी बैंक ने 5.2 लाख करोड़ रुपये, हिंदुस्तान यूनिलीवर ने 3.4 लाख करोड़ रुपये, इंफोसिस ने 3.3 लाख करोड़ रुपये, बजाज फाइनेंस ने 2.6 लाख करोड़ रुपये, आईसीआईसीआई बैंक ने 2.5 लाख करोड़ रुपये, एचडीएफसी ने 2.4 लाख करोड़ रुपये, कोटक महिंद्रा ने 2.1 लाख करोड़ रुपये और एचसीएल टेक ने 1.6 लाख करोड़ रुपये की संपत्ति बनायी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें