1. home Hindi News
  2. world
  3. us presidential election donald trump loses once 911 attack osama bin ladens niece noor claims avd

US Presidential Election : ट्रंप हारे तो अमेरिका में एक बार फिर होगा 9/11 जैसा हमला ! ओसामा बिन लादेन की भतीजी का दावा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
twitter

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी तरह से बेहाल अमेरिका में इस समय राष्ट्रपति चुनाव की सरगर्मी तेज है. तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सभी उम्मीदवार अपनी पूरी ताकत के साथ वोटरों को रिझाने में लगे हैं. इस बीच डोनाल्ड ट्रंप को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर ओसामा बिन लादेन की भतीजी ने बड़ा दावा कर दिया है.

अलकायदा प्रमुख और दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकवादी ओसामा बिन लादेन की भतीजी नूर बिन लादिन ने दावा किया है कि अगर डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति चुनाव हार गए तो अमेरिका में एक बार फिर से 9/11 जैसा हमला हो सकता है. नूर ने ट्रंप के समर्थन में कहा कि अमेरिका की सुरक्षा सिर्फ और सिर्फ डोनाल्ड ट्रंप ही कर सकते हैं.

नूर बिन लादिन ने एक इंटरव्यू में कहा, अमेरिका को वामपंथी सरकार की जरूरत नहीं है, जो बाइडेन की सरकार आएगी तो नस्लीय भेदभाव को बढ़ावा मिलेगा. वह अमेरिका की सुरक्षा नहीं कर पाएंगे. डोनाल्ड ट्रंप ही सही व्यक्ति हैं. 2015 से ट्रंप की समर्थक रहीं ओसामा की भतीजी नूर ने न्यूयॉर्क पोस्ट को दिए अपने पहले इंटरव्यू में दावा किया है कि अमेरिका में वामपंथियों ने खुद को कट्टरपंथ के साथ जोड़ लिया है.

नूर ने कहा ट्रंप आतंकवाद को जड़ से खत्म करने में सक्षम हैं. उन्होंने कहा, ट्रंप की लीडरशिप अमेरिकियों को विदेशी खतरों से बचाती है. उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप की प्रशंसा करते हुए कहा, उनका दोबारा राष्ट्रपति बनना न केवल अमेरिका, बल्कि पश्चिमी सभ्यता के भविष्य के लिए भी अनिवार्य है.

कौन हैं नूर बिन लादिन

नूर बिन लादिन ओसामा के बड़े भाई यसलाम बिन लादेन की बेटी हैं. वह अपनी दो बहनों वफा और नाजिया के साथ स्विटरलैंड में रहती हैं. नूर ने बताया, भले ही वो स्विटरलैंड में रहती हैं और उनकी परवरिश वहां हुई है, लेकिन वो दिल से एक अमेरिकी हैं और 3 साल की उम्र से वो अपने कमरे में अमेरिका का झंडा रखी हैं. उन्होंने बताया कि वो खुली जीप में पूरा अमेरिका घूमना चाहती हैं. नूर ने बताया, जब वो 11 साल की थी उस समय अमेरिका में 9/11 हमला हुआ था. वो उस आतंकी हमले से काफी गुस्से में थीं. लादेन की मौत के बाद उनके परिवार वालों ने अपना टाइटल लादेन से लादिन कर लिया.

गौरतलब है राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से जो बाइडेन राष्ट्रपति पद और हैरिस उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार हैं. रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के लिए डोनाल्ड ट्रंप और उपराष्ट्रपति पद के लिए माइक पेंस उम्मीदवार होंगे.

Posted By - Arbind Kumar Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें