1. home Home
  2. world
  3. uae allows return of fully vaccinated from 15 nations including india and pakistan vwt

UAE ने भारत-पाक समेत 15 देशों के लोगों की वापसी के लिए हटाया बैन, टीके की डबल डोज लेने वालों की होगी एंट्री

एनसीईएमए ने शुक्रवार को जानकारी दी है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन से मंजूर कोरोना टीके की दोनों खुराक लगाने वालों की वापसी होगी.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
दुबई जाने वालों की होड़.
दुबई जाने वालों की होड़.
ट्विटर के जरिए प्रतीकात्मक फिल्मी फोटो.

नई दिल्ली : दुबई का सफर करने वालों के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने भारत समेत दुनिया भर के 15 देशों के लोगों के लिए आसमानी दरवाजा (स्काई डोर) खोल दिया है. लेकिन, इसमें उसने शर्त यह रखी है कि दुबई या फिर संयुक्त अरब अमीरात के किसी भी दूसरे क्षेत्रों में लोगों की वापसी के लिए उन्हीं लोगों को इजाजत दी जा सकती है, जिन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से मंजूर कोरोना टीके की दोनों खुराक लगवा रखी हो.

राष्ट्रीय आपातकालीन संकट और आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनसीईएमए) ने शुक्रवार को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए जानकारी दी है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन से मंजूर कोरोना के टीके की दोनों खुराक लगाने वाले सोमवार यानी 12 सितंबर से यूएई वापस लौट सकते हैं. एनसीईएमए के अनुसार, जिन देशों के लोग सोमवार से यूएई के लिए उड़ान भर सकते हैं, उनमें भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, वियतनाम, नामीबिया, जाम्बिया, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य, युगांडा, सिएरा लियोन, लाइबेरिया, दक्षिण अफ्रीका, नाइजीरिया और अफगानिस्तान आदि देश शामिल हैं.

एनसीईएमए ने कहा कि वे लोग ही वापस लौट सकते हैं, जिन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से मंजूर कोरोना की दोनों खुराक लगवा ली है और वे जो छह महीने से अधिक समय तक विदेश में रहे. ऐसे लोग नए एंट्री परमिट के तहत देश में वापस आ सकते हैं और एंट्री के बाद अपने स्टेटस में बदलाव कर सकते हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, यूएई के इस फैसले से भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, वियतनाम, नामीबिया, जाम्बिया, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो, युगांडा, सिएरा लियोन, लाइबेरिया, दक्षिण अफ्रीका, नाइजीरिया और अफगानिस्तान से आने वाले यात्रियों को राहत मिलेगी.

आगमन आवश्यकताओं के बारे में विवरण देते हुए यूएई ने कहा कि यात्री संघीय पहचान और नागरिकता प्राधिकरण (आईसीए) की वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं. यूएई पहुंचने पर यात्रियों को आरटी-पीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट भी दिखानी होगी. कोरोना की मान्यता प्राप्त लैब से जांच रवाना होने के 48 घंटे के भीतर की जानी चाहिए. 16 वर्ष से कम आयु के बच्चों को इस प्रक्रिया से छूट प्रदान की जाएगी.

मीडिया की खबर के अनुसार, यूएई का यह फैसला तब सामने आया है, जब उसके सात अमीरात में से एक दुबई महामारी के कारण एक साल की देरी के बाद 1 अक्टूबर को एक्सपो 2020 वर्ल्ड फेयर खोलने की तैयारी कर रहा है. क्षेत्रीय कारोबार और पर्यटन केंद्र अपनी अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए इसी मेले पर निर्भर है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें