1. home Home
  2. world
  3. coronavirus update in america omicron may be less severe but not mild says who amh

Coronavirus ने अमेरिका में मचाया हड़कंप, डब्ल्यूएचओ की चेतावनी- ओमिक्रॉन को हल्के में ना लें

खबरों की मानें तो अमेरिका में हर दिन 10 लाख से ज्यादा कोरोना के मरीज निकलने और अस्पतालों में बिस्तर न मिलने की वजह से हड़कंप की स्थिति है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Omicron-Coronavirus-variant
Omicron-Coronavirus-variant
Twitter

Coronavirus Update : कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन ने दुनिया को परेशान कर रखा है. इस वैरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी है. संगठन का कहना है कि ओमिक्रॉन भले ही डेल्टा वैरिएंट की तरह खतरनाक नजर नहीं आ रहा है लेकिन इसे हल्के में लेने की भूल ना करें.

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि 27 दिसंबर से दो जनवरी के दौरान इससे पिछले सप्ताह के मुकाबले कोरोना वायरस संक्रमण के नये वैश्विक मामलों में 71 फीसदी की वृद्धि देखी गई जबकि इसी अवधि में मौत के मामलों में 10 फीसदी की गिरावट नजर आई है. संगठन ने कोरोना वायरस के नये वैरिएंट ओमिकॉन को नये केस में वृद्धि के लिए जिम्मेदार ठहराया है.

नये मामलों में 71 फीसदी बढ़ोतरी

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ने चेतावनी देते हुए कहा है कि कोरोना के नये वैरिएंट ओमिक्रॉन के कारण आई ''मामलों की सुनामी'' ने दुनियाभर में स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली पर बोझ अत्याधिक बढ़ा दिया है. संगठन के द्वारा जारी कोविड-19 के साप्ताहिक आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल अक्टूबर से संक्रमण के मामलों में क्रमिक वृद्धि के बाद वैश्विक स्तर पर 27 दिसंबर से दो जनवरी के सप्ताह के दौरान इससे पिछले सप्ताह की तुलना में संक्रमण के नये मामलों में 71 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई. इस आंकडे के अनुसार, इसी अवधि में संक्रमण के कारण मौत के मामलों में 10 फीसदी गिरावट रही.

अमेरिका में हड़कंप

पिछले सप्ताह के आंकड़ों पर नजर डालें तो दौरान दुनियाभर में संक्रमण के करीब 95 लाख नये मामले सामने आए जबकि 41,000 से अधिक मरीजों की मौत हो गई. आंकड़ों के अनुसार, सभी क्षेत्रों में साप्ताहिक मामलों में वृद्धि देखी गई, जिसमें से अमेरिका में सर्वाधिक 100 फीसदी का इजाफा हुआ. खबरों की मानें तो अमेरिका में हर दिन 10 लाख से ज्यादा कोरोना के मरीज निकलने और अस्पतालों में बिस्तर न मिलने की वजह से हड़कंप की स्थिति है.

ओमिक्रॉन को हल्के में ना लें नहीं तो...

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रस अधानम घेब्रेयेसस ने कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर कहा है कि पिछले सप्ताह, महामारी के बाद से अब तक सर्वाधिक मामले सामने आए. इसके साथ ही हम जानते हैं कि शायद छुट्टियों की वजह से नमूनों की जांच लंबित रहने के कारण मामलों की वास्तविक संख्या इससे अधिक भी हो सकती थी. जिनेवा में प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने चेताया कि कोरोना वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन, भले ही डेल्टा स्वरूप से कम गंभीर प्रतीत होता हो लेकिन इसका यह कतई मतलब नहीं कि इसे ''हल्के'' की श्रेणी में रखना चाहिए.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें