1. home Home
  2. world
  3. coronavirus can end from world who chief told this method to defear covid prt

WHO ने बताया दुनिया से कोरोना को खत्म करने का उपाय, जानिए क्या कहते हैं टेड्रोस एडनॉम

पूरी दुनिया में आफत बना कोरोना विश्व से खत्म हो सकता है. मानवता पर छाया अबतक का सबसे बड़ा संकट टल सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का इस बारे में कहना है कि कोरोना को पूरी दुनिया से खत्म किया जा सकता है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Corona Cases
Corona Cases
Twitter

पूरी दुनिया में आफत बना कोरोना विश्व से खत्म हो सकता है. मानवता पर छाया अबतक का सबसे बड़ा संकट टल सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का इस बारे में कहना है कि कोरोना को पूरी दुनिया से खत्म किया जा सकता है. कोविड को खत्म करने को लेकर WHO के प्रमुख टेड्रोस एडनॉम ने कहा है कि इसके लिए दुनिया को कुछ कड़े कदम उठाने होंगे.

कोरोना के खात्मे को लेकर WHO ने कही ये बात: कोरोना के खात्मे को लेकर WHO प्रमुख टेड्रोस एडनॉम ने कहा कि दुनिया के देशों में कोरोना बहुत तेजी से फैल रहा है लेकिन उन्होंने बताया कि दो तरीकों से इसे खत्म किया जा सकता है. इसके लिए उन्होंने कहा कि वैक्सीन निर्माता कंपनी और देशों की सरकार चाहे तो कोरोना खत्म हो जाएगा.

टेड्रोस एडनॉम ने कहा कि, सरकार और वैक्सीन निर्माता कंपनी को ये सुनिश्चित करना होगा कि दुनिया के जिस इलाके में वैक्सीन नहीं पहुंच रही है उसे पहुंचाया जाए. और लोगों का वैक्सीनेशन किया जाये. इसके साथ ही दुनिया के देशों के बीच से वैक्सीन की असमानता को दूर कर दिया जाए. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा हो जाता है तो निश्चित ही दुनिया से कोरोना खत्म हो सकता है.

टेड्रोस एडनॉम ने कहा कि, दुनिया का कोई भी देश महामारी से बाहर नहीं है. उन्होंने कहा कि, हमारे पास कोरोना महामारी को रोकने और उसका इलाज करने के लिए अब कई नए उपकरण मौजूद हैं. उन्होंने कहा इसे दुनिया के लोगों की पहुंच से कोरोना पर लगाम लग सकती है. उन्होंने कहा कि जितनी लंबी असमानता होगी, कोरोना वायरस का खतरा भी उतना ज्यादा होगा.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ ने ये भी कहा कि, कोरोना के खतरे को देखते हुए दुनिया के देशों को एक हो जाना चाहिए. उन्होंने जोर देते हुए कहा कि कई देशों में वैक्सीन की घोर कमी है. वहीं, उनके पास संसाधन भी नहीं है जिससे वो वैक्सीनेशन अभियान चला सके. कई देशों में एक बड़ी आबादी का वैक्सीनेशन नहीं हो सकता है तो कई देश ऐसे है जिन्होंने कोरोना के खिलाफ बूस्टर डोज की भी शुरुआत कर दी है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें