1. home Hindi News
  2. world
  3. china virus poor vaccine in china increases the risk of infection two new strains of african swine fever spread china new swine fever strains pkj

चीन की घटिया वैक्सीन से बढ़ रहा है संक्रमण का खतरा, फैला अफ्रीकन स्वाइन फीवर का दो नया स्ट्रेन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चीन की घटिया वैक्सीन से बढ़ रहा है संक्रमण का खतरा
चीन की घटिया वैक्सीन से बढ़ रहा है संक्रमण का खतरा
फाइल फोटो

चीन एक बार फिर दुनिया भर में अपनी अवैध वैक्सीन के लिए बदनाम हो रहा है. चीन में अब अफ्रीकन स्वाइन फीवर का नया स्ट्रेन फैल रहा है. यह स्ट्रेन इसिलए चीन में तेजी से फैल रहा है क्योंकि चीन ने इस पर अवैध वैक्सीन का इस्तेमाल किया जो ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है.

इस नये स्ट्रेन की वजह से सबसे ज्यादा नुकसान हो रहा है दुनिया के सूअर पालकों को. अभी कोरोना महामारी से यह इंडस्ट्री पूरी तरह उबर भी नहीं पायी थी कि एक और बड़ी परेशानी इस इंडस्ट्री के लिए संकट की तरह खड़ी है. अफ्रीकन स्वाइन फीवर के दो नये स्ट्रेन ने एक हजार से ज्यादा सूअरों को संक्रमित किया है.

चीन सूअर पालन का बड़ा केंद्र है. जो सूअर संक्रमण का शिकार हुए हैं ये सभी सूअर न्यू होप लिउहे कंपनी के फार्म में ही पाले जा रहे थे. यह कंपनी चीन की बड़ी कंपनियों में एक है. इस सबंध में जानकारी देते हुए इस कंपनी के साइंस ऑफिसर यान झिचून ने कहा, ताजा स्ट्रेन में जो देखा गया उनमें अफ्रीकन स्वाइन बुखार के दो प्रमुख जीन्स सामने नहीं है तो यह अलग तरह की स्ट्रेन मानी जा रही है. साल 2018 में की तरह इस स्ट्रेन से संक्रमित होने के बाद सूअर मर नहीं रहे.

कंपनी उन सूअरों को मार रही है जिनमें यह वायरस दिख रहा है. यह बीमारी अब सीमित है लेकिन इसका नया स्ट्रेन खतरा बनकर उभर सकता है. अगर यह बीमारी दूसरे देशों में फैली तो यह दुनिया में पोर्क पालन करने वाली कंपनियों के लिए बड़ा खतरा बन सकता है.

दो साल पहले इस संक्रमण ने काफी नुकसान पहुंचाया था. चीन में 40 करोड़ सूअर को मार दिया गया था. इस वक्त सूअर की कीमत ऊंची है कारण है, कोरोना संक्रमण की वजह से चीन पर खाद्य सुरक्षा मजबूत करने का दबाव है. इस संबंध में विशेषज्ञ डॉक्टर वायने जोहान्सन ने कहा, पिछले साल इसी बीमारी की वजह से परेशानी हुई थी लेकिन इस बार इस वायरस में MGF360 जीन्‍स नहीं है जो इसे पिछली बार से अलग करता है.

दूसरी तरफ चीन के किसान इन सूअरों को बचाने के लिए किसी भी दवा का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि भविष्य में होने वाले नुकसान से इन्हें बचाया जा सके. इसी वजह से संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें