1. home Hindi News
  2. world
  3. britain will donate 100 million doses of corona vaccine know what boris johnson appealed to rich countries aml

10 करोड़ कोरोना वैक्सीन के डोज दान करेगा ब्रिटेन, जानें बोरिस जॉनसन ने संपन्न देशों से क्या की अपील

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री- बोरिस जॉनसन
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री- बोरिस जॉनसन
फाइल फोटो

लंदन : ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Boris Johnson) ने शुक्रवार को घोषणा की कि उनका देश अगले वर्ष के भीतर दुनिया को अपनी आवश्यकताओं के अतिरिक्त, कोरोनोवायरस बीमारी (Covid-19) के खिलाफ टीकों की 100 मिलियन खुराक (Corona Vaccine) प्रदान करेगा. जॉनसन के कार्यालय द्वारा जारी घोषणा में कहा गया कि यूके के वैक्सीन कार्यक्रम की सफलता के परिणामस्वरूप, अब हम अपनी कुछ अधिशेष खुराक को उन लोगों के साथ साझा करने की स्थिति में हैं, जिन्हें उनकी आवश्यकता है.

यह घोषणा जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले हुई, जो इस सप्ताह के अंत में शुरू होने वाला है. इसकी मेजबानी ब्रिटेन करेगा. इसके अलावा, पिछले हफ्ते, जॉनसन ने यूके के साथी जी -7 देशों - अमेरिका, कनाडा, फ्रांस, इटली, जर्मनी और जापान के नेताओं से अगले साल के अंत तक पूरी दुनिया को टीका लगाने का आह्वान किया.

जानकारी दी गयी कि पहली पांच मिलियन खुराक सितंबर के अंत तक दान कर दी जायेगी, जो आने वाले हफ्तों में शुरू होगी. बाकी 95 मिलियन डोज में से 25 मिलियन डोज साल के अंत से पहले डोनेट कर दी जायेगी. इन 100 मिलियन खुराकों में से 80 मिलियन को वैश्विक कोविड-19 वैक्सीन साझाकरण कार्यक्रम कोवैक्स के माध्यम से साझा किया जायेगा. शेष को द्विपक्षीय रूप से जरूरतमंद देशों के साथ साझा किया जायेगा.

जॉनसन के बयान के कुछ घंटे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन द्वारा की गयी थी कि संयुक्त राज्य अमेरिका फाइजर कोविड-19 वैक्सीन की 500 मिलियन खुराक दान करने के लिए खरीदेगा. जी-7 शिखर सम्मेलन में, भाग लेने वाले देशों के नेताओं से यह घोषणा करने की उम्मीद है कि वे खुराक साझा करने और वित्तपोषण के माध्यम से दुनिया को कम से कम एक अरब कोविड-19 वैक्सीन खुराक प्रदान करेंगे.

संपन्न देश पूरे विश्व का टीकाकरण करें : जॉनसन

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने टाइम्स ऑफ लंदन में लिखा कि दुनिया के सपन्न देशों को अपने जिम्मदारियों का निर्वहन करते हुए यह संकल्प लेना चाहिए कि वे सभी देशों में टीकाकरण संपन्न कराएं. उन्होंने कहा कि सभी देशों को अपने को महान मानने और दूसरे देशों को नीचा दिखाने के रवैये को छोड़ देना चाहिए. यही रवैया कोविड-19 के उपचार तथा दवाओं को लेकर हो रहे झगड़े की वजह है. उन्होंने कहा कि हम 2022 तक पूरी दुनिया में टीकाकरण का संकल्प लें.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें