1. home Home
  2. world
  3. afghanistan news taliban leader anas haqqani visited the shrine of sultan mahmud ghaznavi attacker somnath temple in gujarat smb

महमूद गजनवी की कब्र पर पहुंचा तालिबानी नेता अनस हक्कानी, सोमनाथ मंदिर के हमलावर को बताया योद्धा

Taliban News तालिबान नेता अनस हक्‍कानी ने मंलगवार को उस महमूद गजनवी की कब्र का दौरा किया है, जिसने भारत में 17 बार आक्रमण किया और गुजरात स्थित सोमनाथ मंदिर को निशाना बनाया था. अनस हक्‍कानी हक्‍कानी नेटवर्क का मुखिया है और इस समय तालिबान की सरकार में अहम हिस्‍सा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Taliban Leader Anas Haqqani visited the shrine of Sultan Mahmud Ghaznavi
Taliban Leader Anas Haqqani visited the shrine of Sultan Mahmud Ghaznavi
twitter

Taliban Leader Anas Haqqani तालिबान नेता अनस हक्‍कानी ने मंलगवार को उस महमूद गजनवी की कब्र का दौरा किया है, जिसने भारत में 17 बार आक्रमण किया और गुजरात स्थित सोमनाथ मंदिर को निशाना बनाया था. अनस हक्‍कानी हक्‍कानी नेटवर्क का मुखिया है और इस समय तालिबान की सरकार में अहम हिस्‍सा है. अनस हक्‍कानी अफगानिस्‍तान के गृहमंत्री सिराजुद्दीन हक्‍कानी का छोटा भाई है.

बता दें कि काबुल पर कब्जा किए हुए अभी दो महीने भी नहीं हुए कि तालिबान अपना असली रंग दिखाने लगा है. इसी कड़ी में तालिबानी नेता अनस हक्कानी ने मंगलवार को महमूद गजनवी की कब्र का दौरा किया और उसकी प्रशंसा की. कुख्यात हक्कानी नेटवर्क के तालिबान सरकार के नए आंतरिक मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी के छोटे भाई अनस हक्कानी ने महमूद गजनवी को एक प्रसिद्ध मुस्लिम योद्धा कहकर महिमामंडित किया. इतना ही नहीं अनस हक्कानी ने गर्व के साथ भारत में सोमनाथ मंदिर की मूर्तियों को तोड़े जाने का जिक्र किया.

अनस हक्कानी ने ट्वीट में लिखा, आज हमने 10वीं शताब्दी के एक प्रसिद्ध मुस्लिम योद्धा और मुजाहिद सुल्तान महमूद गजनवी की दरगाह का दौरा किया. गजनवी (अल्लाह की रहमत उस पर हो) ने गजनी से क्षेत्र में एक मजबूत मुस्लिम शासन स्थापित किया और सोमनाथ की मूर्ति को तोड़ दिया. अनस हक्कानी ने ट्विटर पर कब्र की तस्वीरें भी पोस्ट कीं. अनस हक्‍कानी ने इससे पहले एक इंग्लिश न्‍यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में भारत के खिलाफ राय व्यक्त की. हक्कानी ने इस इंटरव्‍यू में कहा था कि अफगानिस्तान भारत का सच्चा दोस्त नहीं है. उसने भारत सरकार के साथ ही भारतीय मीडिया की भी आलोचना की.

इंटरव्यू में अनस हक्कानी ने कहा था कि भारत को अफगानिस्तान की तरफ अपनी नीति में बदलाव करने की जरूरत है. भारत के साथ संबंधों पर अनस हक्कानी ने कहा कि दुर्भाग्य से भारत का रवैया पक्षपात वाला रहा है. भारत ने पिछले 20 साल से युद्ध की आग को हवा दी है. हक्कानी ने कहा कि भारत ने अभी तक शांति के लिए कुछ नहीं किया है.

अनस हक्कानी दोहा में अपने राजनीतिक कार्यालय में तालिबान के वार्ता दल का सदस्य था. हक्कानी नेटवर्क और तालिबान 1990 के दशक के दौरान करीब आए और इस बार भी खूंखार आतंकी समूह हक्कानी तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार का हिस्सा है. सिराजुद्दीन हक्कानी एक ग्लोबल टेररिस्ट है और अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय का प्रमुख है.

उल्लेखनीय है कि महमूद गजनवी तुर्क वंश का पहला स्वतंत्र शासक था, जिसने 998 से 1030 ईस्वी तक शासन किया था. इतिहास की मानें तो इसने भारत पर 17 बार आक्रमण किया और 1024 एडी में सोमनाथ मंदिर को तोड़ा. सोमनाथ मंदिर भगवान शिव का मंदिर है. गजनवी ने विशेष रूप से हिंदू मंदिरों को निशाना बनाया, क्योंकि तब भारत में मंदिर हिंदुओं के लिए धन, अर्थव्यवस्था और विचारधारा के केंद्र थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें