1. home Hindi News
  2. world
  3. 11 opposition parties staging agitation against imran khan hot politics in pakistan pdm rally on 25 ksl

इमरान खान के विरोध में चरणबद्ध आंदोलन कर रहे 11 विपक्षी दल, पाकिस्तान में गरमायी सियासत, 25 को होगी PDM की अगली रैली

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान.
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान.

कराची : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और उनकी पार्टी तहरीक-एक-इंसाफ के खिलाफ सियासत तेज हो गयी है. वहीं, पाकिस्तानी सेना समर्थन प्राप्त इमरान खान की सरकार भी विपक्षी दलों के कदमों को कुचलने में जुट गयी है. इससे पाकिस्तान की सियासत गरमा गयी है. मालूम हो कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ 11 विपक्षी दलों ने एकजुट होकर पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) बना लिया है. विपक्षी दलों पीडीएम की रैली अब 25 अक्तूबर को क्वेटा में होगी.

पीडीएम के नेताओं ने एक रैली में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ''अयोग्य और अज्ञानी'' करार दिया था. साथ ही वर्तमान सरकार को तानाशाही शासन से भी बेकार बताया. उसके बाद विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज को बीते सोमवार को पुलिस ने कराची में उनके होटल के कमरे में घुस कर उनके पति कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर को गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद मरियम नवाज़ ने सोमवार को रात आठ बजे ट्‌वीट कर यह जानकारी दी कि वे कराची छोड़कर लाहौर जा रही हैं.

पाकिस्तान में शुक्रवार को आयोजित 11 पार्टियों की पीडीएम ने इमरान खान के खिलाफ आंदोलन छेड़ते हुए बड़ी रैलियां कीं. रैली के दौरान लंदन में रह रहे नवाज शरीफ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जुड़ कर पाकिस्तानी आर्मी के चीफ जनरल बाजवा पर हमला बोला. इससे इमरान खान बौखला गये और नवाज शरीफ भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसा भाषा बोलने का आरोप लगाया.

पाकिस्तान में चल रहे सियासी भूचाल के बीच विपक्षी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज को सोमवार को पुलिस ने कराची में उनके होटल के कमरे में घुस कर उनके पति कैप्टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद सफदर को गिरफ्तार कर लिया. मालूम हो कि मरियम पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पुत्री हैं. शौहर की गिरफ्तारी के बाद मरियम ने कहा, ''पुलिस ने कराची में होटल के कमरे का दरवाजा तोड़ दिया और कैप्टन सफदर को गिरफ्तार कर लिया." यह कार्रवाई रविवार को मरियम के कराची में सरकार के खिलाफ रैली को संबोधित करने के बाद उठाया गया.

वहीं, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के मंत्री अली जैदी ने मरियम के दावे का खंडन करते हुए कहा, "मरियम फिर झूठ बोल रही हैं कि होटल का दरवाजा तोड़ दिया गया था." सफदर ने एक दिन पहले मुहम्मद अली जिन्ना के मकबरे पर नारेबाजी की थी. सफदर को अजीज भट्टी थाने में रखा गया है. पाकिस्तानी समाचार पत्र डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, जिन्ना के मकबरे पर हंगामे को लेकर मरियम, सफदर और 200 अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. उसके बाद यह गिरफ्तारी की गयी है.

मालूम हो कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ 11 विपक्षी दल एकजुट हो गये हैं. विपक्षी दलों ने एकजुट होकर पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) बनाया है. पीडीएम के नेताओं ने एक रैली में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ''अयोग्य और अज्ञानी'' करार दिया. साथ ही वर्तमान सरकार को तानाशाही शासन से भी बेकार बताया. पीडीएम ने शुक्रवार को आयोजित रैली में इमरान खान पर यह आरोप लगाया. पीडीएम की अगली रैली 25 अक्टूबर को क्वेटा में है.

इमरान खान और उनकी पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ का विरोध करते हुए 11 विपक्षी दल एकजुट होते हुए 20 सितंबर को पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट का गठन किया था. साथ ही सरकार के खिलाफ चरणबद्ध अभियान चलाने की घोषणा की थी. इसके तहत देश भर में जनसभाएं, प्रदर्शन और रैलियां आयोजित की जा रही हैं. अगले साल की शुरुआत यानी जनवरी 2021 में इस्लामाबाद के लिए लंबा मार्च निकाला जायेगा. लाहौर के पास गुजरांवाला में शुक्रवार को पहली रैली निकाली गयी थी.

पाकिस्तान पीपल्स पार्टी (पीपीपी) के प्रमुख बिलावल भुट्टो जरदारी ने बाग-ए-जिन्ना में कहा, ''अयोग्य और अज्ञानी प्रधानमंत्री को अब घर जाना होगा.'' जरदारी ने कहा, ''इतिहास गवाह है कि बड़े से बड़े तानाशाह नहीं टिक पाये, तो यह कठपुतली कैसे टिक पायेगी?'' उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधते हुए कहा, ''यह कोई नई लड़ाई नहीं है, लेकिन एक निर्णायक लड़ाई होगी.''

मालूम हो कि यह रैली 2007 में हुए कारसाज बम विस्फोट की 13वीं बरसी पर निकाला गया था. इस बम धमाकों में पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो को निशाना बनाया गया था, जिसमें करीब 200 लोगों की मौत हो गयी थी और कई लोग घायल हुए थे. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज़ (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष मरियम नवाज और शाहिद खाकान अब्बासी, पख्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी के अध्यक्ष महमूद अचकजाई और जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फ़ज़ल (जेयूआई-एफ) के नेता मौलाना फ़ज़लुर रहमान भी इस रैली में शामिल हुए.

पीपीपी ने मोहसिन डावर को भी आमंत्रित किया था, जो पश्तून तहफुज मूवमेंट (पीटीएम) के प्रमुख हैं. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने 'पीटीआई' सरकार पर विपक्षी नेताओं को ''गद्दार'' बताने के लिए निशाना साधा. पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष ने कहा, ''जब जवाब मांगे गये, तो आप कह रहे हैं हम गद्दार हैं.'' मरियम नवाज ने कहा कि पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की बहन फातिमा जिन्ना को भी गद्दार कहा गया. उन्होंने कहा, ''हमें गद्दार कहकर डराये नहीं, जब आपसे (खान) सवाल किये गये, तो आप सेना के पीछे छिप गये.'' मरियम ने कहा, ''आप उनका (सेना) इस्तेमाल अपनी नाकामी को छिपाने के लिए कर रहे हैं.'' पीडीएम की अगली रैली 25 अक्टूबर को क्वेटा में है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें