30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

उमेश पाल हत्याकांड: शाइस्ता परवीन के साथ नजर आया फरार शूटर साबिर! अतीक अहमद को इस दिन गुजरात से UP लाएगी पुलिस

उमेश पाल हत्याकांड में एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसे वारदात से पांच दिन पहले का बताया जा रहा है. इसमें अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन के साथ सफेद कमीज में चल रहा शख्स शार्प शूटर साबिर नजर आ रहा है. यह सीसीटीवी फुटेज 19 फरवरी का है. शाइस्ता परवीन शूटर बल्ली उर्फ सुधांशु के घर पहुंची थी.

Prayagraj: प्रयागराज के चर्चित उमेश पाल हत्याकांड में यूपी पुलिस ने अतीक अहमद पर शिकंजा कसने के लिए बड़ी कार्रवाई की तैयारी कर ली है. एक तरफ अतीक के बेटे और अन्य गुर्गों की तलाश में देश के कई हिस्सों में ताबड़तोड़ दबिश दी जा रही है, तो अब जल्द ही अतीक को यूपी में लाकर पूछताछ की जाएगी.

अतीक अहमद के बेटे असद और इस हत्याकांड में शामिल गुड्डू मुस्लिम, गुलाम, अरमान, साबिर अब तक पुलिस को चकमा दे रहे हैं. ऐसे में अतीक को यूपी लाकर पुलिस इनके बारे में पुख्ता जानकारी जुटाने की तैयारी में है. इस बीच एक सीसीटीवी फुटेज में शाइस्ता परवीन के साथ ढाई लाख के इनामी शूटर साबिर के नजर होने की बात सामने आ रही है. वारदात के बाद से ही साबिर फरार है.

वारदात से पांच दिन पहले शाइस्ता के साथ था साबिर

उमेश पाल हत्याकांड में एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है, जिसे वारदात से पांच दिन पहले का बताया जा रहा है. इसमें अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन के साथ सफेद कमीज में चल रहा शख्स शार्प शूटर साबिर नजर आ रहा है. यह सीसीटीवी फुटेज 19 फरवरी का है. कहा जा रहा है कि रात 8:57 बजे शाइस्ता परवीन अतीक गैंग के शूटर बल्ली उर्फ सुधांशु के घर पहुंची थी. हालांकि इसकी पुष्टि नहीं की गई है. शूटर बल्ली का नाम भी अतीक अहमद गैंग में शामिल है.


साबिर के भाई की मौत का कनेक्शन वारदात से तो नहीं!

उमेश पाल हत्याकांड में शामिल ढाई लाख के इनामी शूटर साबिर के भाई जाकिर का शव संदिग्ध हालत में मिला है. जाकिर का भी आपराधिक इतिहास है.जाकिर का शव कौशांबी के कोखराज थाना क्षेत्र में मोहम्मद पुर गांव के एक खेत में लावारिस हालत में पड़ा मिला. पत्नी की हत्या के आरोप में आठ जेल में सजा काटने के बाद जाकिर पांच महीने पहले ही जेल से छूटा था. वह प्रयागराज में स्थित अपने घर पर ही रह रहा था. 20 फरवरी को घर से निकाला. 20 जनवरी को जाकिर अपनी बहन गुड़िया और बहनोई अकरम के पास बड़ी पुर गांव आ गया और यही पर रह रहा था. इसके बाद अचानक 27 फरवरी को वह लापता हो गया. जाकिर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत को भी उमेश पाल हत्याकांड से जोड़कर देखा जा रहा है.

कुल 16 हमलावर वारदात में थे शामिल

बल्ली धूमनगंज थाना क्षेत्र के नीवा गांव का रहने वाला है. शूटआउट कांड में कुल 13 शूटर्स के शामिल होने की बात कही जा रही है. इनमें छह की तस्वीरें सामने आई थी, जबकि सात बैकअप में थे. घटना के बाद से बल्ली उर्फ सुधांशु और असाद फरार है. पुलिस और एसटीएफ की टीमें इनकी तलाश में जुटी हैं. कहा जा रहा है कि असाद गैंग के साथी बल्ली के साथ मिलकर अतीक की प्रॉपर्टी का पूरा काम देखता है. असाद और बल्ली के पत्नी के नाम अतीक की बेनामी संपत्ति भी है. चकिया में शूटर बल्ली के पत्नी के नाम पर जमीन और मकान है. इनकी भी पड़ताल की जा रही है.

Also Read: UP Nikay Chunav: पिछड़ा वर्ग आयोग की सिफारिशें दो दिन में सुप्रीम कोर्ट में होगी पेश, 11 अप्रैल को है सुनवाई
अगले हफ्ते रिमांड पर लाने की कोशिश

उमेश पाल हत्याकांड के बाद से ही अतीक अहमद को यूपी में लाने की चर्चाएं चल रही हैं. खुद अतीक अहमद ने इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है, जिसमें उसने अपनी जान का खतरा जताते हुए उसे अहमदाबाद से उत्तर प्रदेश की किसी जेल में शिफ्ट नहीं करने की अपील की है. दूसरी ओर यूपी पुलिस की कोशिश है कि अतीक अहमद को अगले हफ्ते रिमांड पर प्रयागराज लाया जा सके. इसके लिए कागजी प्रक्रिया को पूरा ​कराया जा रहा है. जल्द ही साबरमती जेल प्रशासन के समक्ष बी-वारंट के लिए आवेदन किया जाएगा.

अतीक के लिए तैयार किए जा रहे सवाल

अगर सब कुछ यूपी पुलिस के प्लान के मुताबिक रहा तो अतीक के रिमांड पर लाने का रास्ता साफ हो जाएगा और फिर उससे उमेश पाल हत्याकांड को लेकर लंबी पूछताछ की जाएगी. अभी तक की पड़ताल में जो भी तथ्य सामने आएं हैं, उनको लेकर अतीक अहमद को सवालों का सामना करना पड़ेगा. अतीक के गुर्गे सदाकत अली से जो जानकारियां मिली हैं, उसे लेकर भी पड़ताल की जाएगी.

सुप्रीम कोर्ट में 17 मार्च की सुनवाई पर टिकी निगाहें

माना जा रहा है कि आवश्यकता पड़ने पर अतीक अहमद को प्रयागराज के उस मुस्लिम बोर्डिंग हॉस्टल के कमरा नम्बर 36 में भी ले जाया जा सकता है, जहां सदाकत अली ने अन्य शूटर के साथ मिलकर वारदात का प्लान तैयार किया. इसके अलावा अतीक अहमद को घटनास्थल पर भी लाया जा सकता है. इस बीच अतीक अहमद की याचिका पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट ने 17 मार्च की तारीख तय की है. इस पर सभी की निगाहें लगी हुई हैं. अगर कोर्ट से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए पूछताछ का निर्देश जारी होता है तो यूपी पुलिस को झटका लग सकता है. हालांकि इसकी संभावना कम है., वहीं अतीक अहमद के वकील की अपील पर याचिकाकर्ता के जान की रक्षा के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश जारी किए जा सकते हैं.

अतीक के नाबालिग बेटों को लेकर 13 मार्च को रिपोर्ट तलब

वहीं अतीक अहमद के दो नाबालिग बेटों एजम अहमद व अबान अहमद के मामले में सीजेएम कोर्ट में 13 मार्च को सुनवाई होगी. अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन का दावा है कि उसके दोनों नाबालिग बेटे गायब हैं. इस मामले में सीजेएम कोर्ट में धूमनगंज थाना पुलिस की तरफ से पेश की गई रिपोर्ट में दोनों को बाल संरक्षण गृह में दाखिल करने की बात कही गई है. रिपोर्ट के मुताबिक 2 मार्च 2023 को धूमनगंज पुलिस ने दोनों बच्चों को बाल संरक्षण गृह भेज दिया. लेकिन, इसमें यह नहीं बताया कि उन्हें किस बाल संरक्षण गृह में दाखिल किया गया है. इस पर शाइस्ता परवीन ने आपत्ति की, अब मामले में 13 मार्च को पुलिस अपनी स्पष्ट रिपोर्ट देगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें