25.1 C
Ranchi
Monday, February 26, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

TATA की कार खरीदने वालों को झटका, 1 फरवरी से महंगी हो जाएगी Nexon, Punch और Safari समेत सभी कारें!

टाटा मोटर्स के अनुसार, यह वृद्धि सभी वाहन श्रेणियों और मॉडलों पर लागू होगी, जिसमें इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) भी शामिल हैं. कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि एक प्रमुख कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. कच्चे माल में स्टील, एल्यूमीनियम, प्लास्टिक और इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं.

टाटा मोटर्स ने अगले महीने से इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) सहित अपने सभी यात्री वाहनों की कीमतों में औसतन 0.7 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने की घोषणा की है. टाटा मोटर्स की ओर से जारी बयान के अनुसार, यह मूल्यवृद्धि एक फरवरी, 2024 से प्रभावी होगी. उत्पादन लागत में बढ़ोतरी की आंशिक भरपाई के लिए कंपनी यह कदम उठा रही है. कंपनी पंच, नेक्सॉन और हैरियर सहित कई यात्री वाहन बेचती है

Also Read: YAKUZA Electric Car छोटा पवार हाउस! सिंगल चार्ज पर 150km की रेंज, कीमत आपके बजट में फिट

इनपुट लागत में वृद्धि

टाटा मोटर्स ने कहा कि यह वृद्धि इनपुट लागत में वृद्धि के कारण की जा रही है. इनपुट लागत में वृद्धि के कारणों में कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि, श्रम लागत में वृद्धि और परिवहन लागत में वृद्धि शामिल हैं.

Also Read: TATA Nexon EV साल 2023 की सबसे प्यारी कार, जिसने लॉन्च बाद अपने शानदार लुक और फीचर्स से सबका दिल जीता!

इस वजह से बढ़ रही है कीमत

टाटा मोटर्स के अनुसार, यह वृद्धि सभी वाहन श्रेणियों और मॉडलों पर लागू होगी, जिसमें इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) भी शामिल हैं. कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि एक प्रमुख कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. कच्चे माल में स्टील, एल्यूमीनियम, प्लास्टिक और इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं. इन सामग्रियों की कीमतें पिछले कुछ वर्षों में तेजी से बढ़ी हैं.मजदूरी दर में वृद्धि एक अन्य कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. श्रम लागत में वृद्धि के कारणों में मजदूरी में वृद्धि, सामाजिक सुरक्षा लाभों में वृद्धि और श्रम कानूनों में बदलाव शामिल हैं.

Also Read: Car Care: कम हो जाएगी आपके कार की माइलेज…अगर ठंड में करते हैं ये काम!

परिवहन लागत में वृद्धि

परिवहन लागत में वृद्धि एक तीसरा कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. परिवहन लागत में वृद्धि के कारणों में ईंधन की कीमतों में वृद्धि, परिवहन बुनियादी ढांचे की लागत में वृद्धि और भौगोलिक बाधाओं में वृद्धि शामिल हैं.

Also Read: Upcoming Electric Cars: 2024 में लॉन्च होने वाली इन इलेक्ट्रिक कारों का सबको है बेसब्री से इंतजार!

इतनी महंगी हो जाएगी टाटा की कारें

टाटा मोटर्स की नेक्सॉन ईवी की कीमत 12.7 लाख रुपये से शुरू होती है. 0.7% की कीमत वृद्धि के बाद, इसकी कीमत 12.8 लाख रुपये हो जाएगी. यह वृद्धि लगभग 8890 रुपये की है.टाटा मोटर्स की अन्य लोकप्रिय कार, हैरियर की कीमत 17.6 लाख रुपये से शुरू होती है. 0.7% की कीमत वृद्धि के बाद, इसकी कीमत 17.7 लाख रुपये हो जाएगी. यह वृद्धि लगभग 12,320 रुपये की है.

उपभोक्ताओं के लिए एक बड़ा झटका

वाहन की लागत में वृद्धि उपभोक्ताओं के लिए एक बड़ा झटका होगी. यह वाहन खरीदना अधिक महंगा बना देगा, जिससे लोगों के लिए अपनी गतिशीलता की जरूरतों को पूरा करना मुश्किल हो जाएगा.

Also Read: मात्र 6 लाख की हैचबैक कार जो देती है 35 का माइलेज! जानें और क्या है इसमें खास

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें

TATA की कार खरीदने वालों को झटका, 1 फरवरी से महंगी हो जाएगी Nexon, Punch और Safari समेत सभी कारें!

टाटा मोटर्स के अनुसार, यह वृद्धि सभी वाहन श्रेणियों और मॉडलों पर लागू होगी, जिसमें इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) भी शामिल हैं. कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि एक प्रमुख कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. कच्चे माल में स्टील, एल्यूमीनियम, प्लास्टिक और इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं.

टाटा मोटर्स ने अगले महीने से इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) सहित अपने सभी यात्री वाहनों की कीमतों में औसतन 0.7 प्रतिशत की बढ़ोतरी करने की घोषणा की है. टाटा मोटर्स की ओर से जारी बयान के अनुसार, यह मूल्यवृद्धि एक फरवरी, 2024 से प्रभावी होगी. उत्पादन लागत में बढ़ोतरी की आंशिक भरपाई के लिए कंपनी यह कदम उठा रही है. कंपनी पंच, नेक्सॉन और हैरियर सहित कई यात्री वाहन बेचती है

Also Read: YAKUZA Electric Car छोटा पवार हाउस! सिंगल चार्ज पर 150km की रेंज, कीमत आपके बजट में फिट

इनपुट लागत में वृद्धि

टाटा मोटर्स ने कहा कि यह वृद्धि इनपुट लागत में वृद्धि के कारण की जा रही है. इनपुट लागत में वृद्धि के कारणों में कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि, श्रम लागत में वृद्धि और परिवहन लागत में वृद्धि शामिल हैं.

Also Read: TATA Nexon EV साल 2023 की सबसे प्यारी कार, जिसने लॉन्च बाद अपने शानदार लुक और फीचर्स से सबका दिल जीता!

इस वजह से बढ़ रही है कीमत

टाटा मोटर्स के अनुसार, यह वृद्धि सभी वाहन श्रेणियों और मॉडलों पर लागू होगी, जिसमें इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) भी शामिल हैं. कच्चे माल की कीमतों में वृद्धि एक प्रमुख कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. कच्चे माल में स्टील, एल्यूमीनियम, प्लास्टिक और इलेक्ट्रॉनिक्स शामिल हैं. इन सामग्रियों की कीमतें पिछले कुछ वर्षों में तेजी से बढ़ी हैं.मजदूरी दर में वृद्धि एक अन्य कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. श्रम लागत में वृद्धि के कारणों में मजदूरी में वृद्धि, सामाजिक सुरक्षा लाभों में वृद्धि और श्रम कानूनों में बदलाव शामिल हैं.

Also Read: Car Care: कम हो जाएगी आपके कार की माइलेज…अगर ठंड में करते हैं ये काम!

परिवहन लागत में वृद्धि

परिवहन लागत में वृद्धि एक तीसरा कारक है जो वाहन की लागत को बढ़ा रहा है. परिवहन लागत में वृद्धि के कारणों में ईंधन की कीमतों में वृद्धि, परिवहन बुनियादी ढांचे की लागत में वृद्धि और भौगोलिक बाधाओं में वृद्धि शामिल हैं.

Also Read: Upcoming Electric Cars: 2024 में लॉन्च होने वाली इन इलेक्ट्रिक कारों का सबको है बेसब्री से इंतजार!

इतनी महंगी हो जाएगी टाटा की कारें

टाटा मोटर्स की नेक्सॉन ईवी की कीमत 12.7 लाख रुपये से शुरू होती है. 0.7% की कीमत वृद्धि के बाद, इसकी कीमत 12.8 लाख रुपये हो जाएगी. यह वृद्धि लगभग 8890 रुपये की है.टाटा मोटर्स की अन्य लोकप्रिय कार, हैरियर की कीमत 17.6 लाख रुपये से शुरू होती है. 0.7% की कीमत वृद्धि के बाद, इसकी कीमत 17.7 लाख रुपये हो जाएगी. यह वृद्धि लगभग 12,320 रुपये की है.

उपभोक्ताओं के लिए एक बड़ा झटका

वाहन की लागत में वृद्धि उपभोक्ताओं के लिए एक बड़ा झटका होगी. यह वाहन खरीदना अधिक महंगा बना देगा, जिससे लोगों के लिए अपनी गतिशीलता की जरूरतों को पूरा करना मुश्किल हो जाएगा.

Also Read: मात्र 6 लाख की हैचबैक कार जो देती है 35 का माइलेज! जानें और क्या है इसमें खास

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें