33.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

स्पेन को वर्ल्ड कप दिलाने वाली ओल्गा कार्मोना को मैच के ठीक बाद पिता के निधन की मिली सूचना

स्पेन की तरफ से महिला विश्व कप फुटबॉल प्रतियोगिता के फाइनल में निर्णायक गोल दागने वाली ओल्गा कार्मोना को इस मैच के बाद पता चला कि उनके पिता अब इस दुनिया में नहीं रहे. स्पेनिश फुटबॉल महासंघ ने सोमवार को बताया कि कार्मोना के पिता बीमार थे और उनका निधन हो गया है.

रविवार को एक रोमांचक मुकाबले में स्पेन ने इंग्लैंड को 1-0 से हराकर पहली बार फीफा महिला वर्ल्ड कप का खिताब जीता. इस जीत में कप्तान ओल्गा कार्मोना का सबसे बड़ा योगदान था. वह स्पेन की ओर से गोल दागने वाली एक मात्र खिलाड़ी थीं. लेकिन उन्हें नहीं पता था कि खेल के बाद एक बेहद ही दुखद खबर उनका इंतजार कर रही है. जहां पूरी टीम जश्न में डूबी थी, वहीं कार्मोना को यह जानकारी मिली कि उनके बीमार पिता अब इस दुनिया में नहीं रहे.

स्पेनिश एफए ने दी जानकारी

स्पेनिश फुटबॉल संघ ने सोशल मीडिया पर कहा कि रविवार को इंग्लैंड के खिलाफ फीफा महिला विश्व कप फाइनल में विजयी गोल करने वाली स्पेन की कप्तान ओल्गा कार्मोना को मैच खत्म होने के तुरंत बाद उनके पिता की मृत्यु के बारे में सूचित किया गया. स्पैनिश एफए की मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार, कार्मोना के पिता कुछ समय से बीमारी से जूझ रहे थे और हालांकि शुक्रवार को उनकी मृत्यु हो गई, लेकिन परिवार ने विश्व कप फाइनल से पहले उन्हें इस घटना के बारे में सूचित नहीं करने का फैसला किया.

Also Read: स्पेन में मना फीफा महिला वर्ल्ड कप जीतने का जश्न, इंग्लैंड को हराकर पहली बार चैंपियन बनी है देश
ओल्गा कार्मोना ने कही यह बात

ओल्गा कार्मोना ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (पहले ट्विटर) पर लिखा, ‘मुझे पता है कि आपने मुझे कुछ अनोखा हासिल करने की ताकत दी है. मुझे पता है कि आप आज रात मुझे देख रहे हैं और आपको मुझ पर गर्व है. आपकी आत्मा को शांति मिले, पिताजी.’ स्पेन ने अपने इतिहास में पहली बार महिला विश्व कप जीता, जिसमें कप्तान ओल्गा कार्मोना ने रविवार को फाइनल में इंग्लैंड पर 1-0 से जीत दर्ज की.


काफी रोमांचक था मुकाबला

यह मनोरंजक मुकाबला ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गये इस वैश्विक टूर्नामेंट का सबसे शानदार मैच था. जिसने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं और इसे इस बात के लिए याद किया जाएगा कि कैसे शीर्ष मुकाबले में खिलाड़ियों ने प्रदर्शन किया है. ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में लगभग 76,000 दर्शकों की खचाखच भीड़ के सामने, स्पेन अधिक निपुण टीम थी और उसके पास अधिक मौके थे, जिसमें दूसरे हाफ में पेनल्टी चूकना भी शामिल था.

Also Read: FIFA Women’s World Cup: स्पेन ने इंग्लैंड को 1-0 से हराकर जीता खिताब, देखें बेहतरीन तस्वीरें
खिलाड़ियों में टकराव के बीच जीता स्पेन

स्पेन की जीत इस मायने में भी खास है कि खिलाड़ियों के विरोध-प्रदर्शन के एक साल के अंदर इस देश ने बड़ा खिताब दर्ज किया. उन 15 खिलाड़ियों के जज्बे को सलाम है जो इस स्थिति में भी अपने कोच के साथ बने रहे और अपने देश को गौरान्वित किया. डिफेंडर कार्मोना ने 29वें मिनट में इंग्लैंड की गोलकीपर मैरी अर्प्स को छकाते हुए लेफ्ट-बैक से जोरदार प्रहार कर हार्ड में गेंद को पटकते हुए गोल किया, जो निर्णायक साबित हुआ.


स्पेन में मना जीत का जश्न

42 वर्षीय खिलाड़ी विल्डा ने कहा कि यह वर्णन करना मुश्किल है, बहुत खुशी है, मुझे इस टीम पर बहुत गर्व है. जब खेल के दौरान ऑस्ट्रेलियाई स्टेडियम में उनकी तस्वीर लगाई गई और स्पेन के ट्रॉफी उठाने से पहले जब वह पोडियम पर चढ़े तो बहुत प्रशंसा हुई. विल्डा ने कहा कि मैं इस समय हमें देख रहे सभी लोगों के लिए बहुत खुश हूं, हमने उन्हें भी खुश किया है. हम विश्व चैंपियन हैं. विल्डा ने कहा कि यह उनके लिए है, जिन्होंने टूर्नामेंट के लिए 15 विद्रोहियों में से तीन को वापस बुलाया लेकिन कई शीर्ष खिलाड़ियों को घर पर ही छोड़ दिया.

इंग्लैंड की लगातार फाइनल में हार

इंग्लैंड की कोच सरीना विगमैन को अब तक फाइनल में लगातार हार का सामना करना पड़ा है और उनके यूरोपीय चैंपियन को कुछ शिकायतें हो सकती हैं. रानी लेटिजिया के सामने स्पेन ने अंत से 20 मिनट पहले पेनल्टी जीती जब लंबे वीएआर समीक्षा के बाद केइरा वॉल्श को गोल बचाने का फैसला सुनाया गया. लेकिन जेनिफर हर्मोसो की कमजोर पेनल्टी को अर्प्स ने आसानी से बचा लिया और इंग्लैंड को जीवनदान दिया और पहली बार विश्व कप जीतने के अपने सपने को जीवित रखा.


स्पेन ने दिखाया शानदार खेल

लेकिन कुछ भी हो, स्पेन के फिर से गोल करने की अधिक संभावना दिख रही थी. स्पेन के खिलाड़ी अंतिम सीटी बजते ही बेंच से उठकर मैदान की ओर भाग खड़े हुए, क्योंकि स्पेन ने यह मुकाबला और फीफा वर्ल्ड कप जीत लिया था. इंग्लैंड के खिलाड़ियों के लिए यह काफी निराशाजनक था. कुछ की आंखों में आंसू आ गए. 1991 में टूर्नामेंट शुरू होने के बाद से स्पेन विश्व कप जीतने वाली पांचवीं टीम है, जिसमें निवर्तमान चैंपियन संयुक्त राज्य अमेरिका, जर्मनी, नॉर्वे और जापान शामिल हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें