29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

झारखंड के लातेहार में गुस्से में गजराज, कई घरों को किया क्षतिग्रस्त, दहशत में 20 गांवों के करीब 15 हजार लोग

लातेहार के महुआडांड़ की हुरमुंडा टोली में रात्रि को हाथियों ने पहले संजय लकड़ा के घर की दीवार तोड़ दी और घर में रखे अनाज (धान एवं मकई) चट कर गए. इसके बाद हाथियों का झुंड विमल बेंग के घर की दीवार तोड़ दी और धान एवं मकई चट कर गए.

महुआडांड़ (लातेहार), वसीम अख्तर. लातेहार जिले के महुआडांड़ प्रखंड के 20 गांवों के करीब 15 हजार लोग हाथियों के उत्पात से दहशत में हैं. वन प्रक्षेत्र पीएफ पकरीपाठ के हुरमुण्डा टोली गांव में रात 11 बजे जंगली हाथियों के झुंड ने जमकर उत्पात मचाया. इस क्रम में मिट्टी के तीन घरों को हाथियों के झुंड ने ध्वस्त कर दिया और घरों में रखा अनाज चट कर गए. हाथियों के तांडव के दौरान ग्रामीणों ने किसी तरह अपनी जान बचायी. बताया जा रहा है कि हाथियों के झुंड में करीब 12 हाथी शामिल हैं. वन प्रक्षेत्र महुआडांड़ पदाधिकारी वृंदा पांडेय ने कहा कि नुकसान की जांच कर जल्द से जल्द मुआवजा देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

एक दर्जन हाथियों के झुंड ने मचाया उत्पात

महुआडांड़ की हुरमुंडा टोली में रात्रि को हाथियों ने पहले संजय लकड़ा के घर की दीवार तोड़ दी और घर में रखे अनाज (धान एवं मकई) चट कर गए. इसके बाद हाथियों का झुंड विमल बेंग के घर की दीवार तोड़ दी और धान एवं मकई चट कर गए. हाथियों का झुंड आगे बढ़ता गया और कुछ दूर पर सुरेन्द्र बेंग के घर की दीवार क्षतिग्रस्त कर दी. इस क्रम में वहां रखे अनाज को हाथियों ने खाया. इस दौरान घर पर सो रहे परिवार के सदस्यों ने किसी तरह बाहर निकलकर अपनी जान बचाई. ग्रामीणों के अनुसार हाथियों की संख्या लगभग एक दर्जन है.

दो दिन पहले भी तीन घरों को हाथियों ने किया था ध्वस्त

बताते चलें कि 13 जनवरी की रात भी हाथियों के द्वारा महुआडांड़ वन प्रक्षेत्र अंतर्गत मेढ़ारी पीएफ क्षेत्र के साधु वृजिया के घर एवं लोध पीएफ क्षेत्र के ग्राम मिर्गी में जगेश्वर नागेसिया और बोनीपास मिंज के घर को ध्वस्त किया गया था. इस दौरान इनके घरों पर रखे अनाज को हाथियों ने चट कर दिया था. इस संबंध में वनपाल अजय टोप्पो ने कहा कि ग्रामीणों के द्वारा खबर देने के बाद रात्रि में ही वन विभाग की टीम और ग्राम वन समिति के सदस्यों द्वारा हाथियों को पटाखा और मशाल के द्वारा जंगल की ओर खदेड़ा गया है. हालांकि हाथियों की संख्या दो देखी गयी है. दर्जनों की बात अफवाह है.

जांच के बाद मुआवजा की प्रक्रिया होगी शुरू

वन प्रक्षेत्र महुआडांड़ पदाधिकारी वृंदा पांडेय ने कहा कि हाथियों द्वारा तीन घरों को क्षतिग्रस्त किया है. लगभग 35 क्विंटल अनाज हाथियों ने बर्बाद कर दिया. मेढ़ारी, लोध और पकरीपाठ ग्राम वन समिति के सदस्य हाथियों के विचरण पर नजर रखे हुए हैं. गांव में ग्रामीणों के बीच पटाखे बांटे गए हैं. क्षति की जांच कर जल्द से जल्द मुआवजा दिलाने प्रकिया शुरू कर दी जायेगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें