29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

VIRAL: 57 साल पहले ही बता दी गई थी राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा की तारीख! नेपाल के इस डाक टिकट पर लिखा है ऐसा

Viral - आपको बता दें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने वाली डाक टिकट नेपाल से साल 1967 में जारी किया गया था. डाक टिकट वायरल होने के बाद लोग अब यह पता लगा रहे हैं कि आखिर यह डाक टिकट कहां है और किसके पास है.

Viral Nepal Dak Ticket: आज से कुछ ही दिनों बाद अयोध्या में 22 तारीख को प्रभु श्री राम नए मंदिर में विराजमान होंगे. ऐसे में चारों तरफ राम मंदिर की चर्चाएं खुब हो रही हैं. इसी बीच सोशल मीडिया पर एक डाक टिकट तेजी से वायरल हो रहा है. आइए बताते है क्या हा पूरा मामला. आपको बता दें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने वाली डाक टिकट नेपाल से साल 1967 में जारी किया गया था.

डाक टिकट कहां है और किसके पास है?

डाक टिकट वायरल होने के बाद लोग अब यह पता लगा रहे हैं कि आखिर यह डाक टिकट कहां है और किसके पास है, तो आपको बता दें कि यह दुर्लभ डाक टिकट लखनऊ के अशोक कुमार के पास है. जिन्होंने अपने “द लिटिल म्यूजियम” में इसे संभाल कर रखा है. इस डाक टिकट को इसलिए दुर्लभ कहा जा रहा है क्योंकि इसके पीछे एक राज छिपा है. दरअसल, 1967 में जारी हुए इस डाक टिकट को भगवान राम और सीता को समर्पित किया गया था, जिसमें संयोगवश राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का साल लिखा हुआ. आपको बता दें कि 15 पैसे के इस डाक टिकट पर रामनवमी 2024 लिखा हुआ है.

Also Read: कहीं आप ठगी के तो नहीं हो रहें शिकार, मोबाइल नंबर वेरिफाई कराने वाला फोन आया क्या? जानें मामला… क्यों अनोखा है यह डाक टिकट

एक रिपोर्ट में द लिटिल म्यूजियम के मालिक अशोक कुमार ने बताया कि यह डाक टिकट नेपाल में 1967 में जारी हुआ था. इस डाक टिकट में भगवान श्रीराम धनुष-बाण के साथ हैं. उनके आगे सीता माता भी हैं. 15 पैसे के इस डाक टिकट पर ‘रामनवमी 2024’ लिखा हुआ है. इस डाक टिकट को राम नवमी के अवसर पर 18 अप्रैल, 1967 को लॉन्च किया गया था. वह कहते हैं कि उन्होंने इस डाक टिकट को किसी से खरीदा है.

Undefined
Viral: 57 साल पहले ही बता दी गई थी राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा की तारीख! नेपाल के इस डाक टिकट पर लिखा है ऐसा 2
रामनवमी 2024 लिखने के क्या है कारण

रिपोर्ट में अशोक कुमार बताते है कि इस वायरल नेपाली डाक टिकट पर जो रामनवमी 2024 में लिखा है, वह अंग्रेजी कैलेंडर में नहीं बल्कि विक्रम संवत में लिखा है. आपको बता दें कि विक्रम संवत अंग्रेजी कैलेंडर से 57 साल आगे चलता है. इस तरह से साल 1967 में जारी हुए इस डाक टिकट पर 57 साल आगे का साल 2024 लिखा हुआ है. इसीलिए यह अद्भुत है ऐसा कहा जा सकता है कि इतने साल पहले जारी हुए इस टिकट पर पहले से ही प्राण प्रतिष्ठा की तारीख लिख दी गई थी.

Also Read: इस कंपनी ने कर दिया कमाल, अब 50 साल तक चलेगी फोन की बैटरी, जानें क्या कहती है रिपोर्ट

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें