36.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

एकेडमिक समेत विभिन्न क्षेत्रों में बढ़ रही काउंसलर की मांग, ऐसे बनाएं इसमें अपना करियर

काउंसलिंग आज के दौर का एक बेहद डिमांडिंग करियर है. आपकी अगर इस विषय में रुचि है, तो आइए जानते हैं कि भारत में काउंसलर के तौर पर भविष्य कैसे बना सकते हैं.

Career in counselor: काउंसलर एक प्रशिक्षित पेशेवर होते हैं, जो व्यक्तिगत, भावनात्मक, मनोवैज्ञानिक, रिलेशनशिप, करियर से संबंधित समस्याओं को हल करने में मदद करते हैं. ये सबसे पहले क्लाइंट की बात को सौहार्दपूर्ण तरीके से धैर्य के साथ सुनते हैं और फिर उनकी समस्या की पहचान करते हैं. फिर, समस्या की गहरी समझ के बाद, क्लाइंट को आवश्यक मार्गदर्शन प्रदान करते हैं. काउंसलर छात्रों एवं वयस्कों की भावनात्मक संकट, जटिल रिश्ते, गुस्से एवं तनाव, आत्मविश्वास की कमी आदि से उबरने में सहायता करते हैं.

कोर्स, जिनसे बनेगी राह

काउंसलर बनने के लिए बारहवीं के बाद बीए इन साइकोलॉजी, बीए ऑनर्स इन साइकोलॉजी या बीएससी इन साइकोलॉजी आदि कर सकते हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय समेत सभी केंद्रीय विश्वविद्यालय में संचालित इन कोर्सेज में प्रवेश कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूइटी-यूजी) से मिलता है. इसके बाद आप इन्हीं विषयों में मास्टर एवं पीएचडी डिग्री तक हासिल कर सकते हैं. ग्रेजुएशन के बाद काउंसलिंग/ स्कूल काउंसलिंग/ कम्युनिटी मेंटल हेल्थ/ गाइडेंस एंड काउंसलिंग/ साइकोलॉजिकल काउंसलिंग आदि में पीजी डिप्लोमा के माध्यम से भी इस करियर में आगे बढ़ सकते हैं. कई संस्थान चाइल्ड साइकोलॉजी/ मैरिज एवं फैमिली काउंसलिंग/ स्ट्रेस मैनेजमेंट/ मेंटल हेल्थ/ डेवलपमेंट साइकोलॉजी आदि विषयों में सर्टिफिकेट कोर्स संचालित करते हैं, इनके माध्यम से आप अपनी पसंद के विषय में स्पेशलाइजेशन कर उसमें पहचान बना सकते हैं.

ऐसे बढ़ सकते हैं आगे

इस करियर में आप एक स्पेशलाइजेशन के साथ क्षेत्र विशेष में आगे बढ़ सकते हैं, जैसे एकेडमिक काउंसलर, एजुकेशनल काउंसलर, चाइल्ड काउंसलर, मेंटल हेल्थ काउंसलर, करियर काउंसलर, रिलेशनशिप एवं मैरिज काउंसलर आदि . इसमें बतौर काउंसलर स्वतंत्र रूप से प्रैक्टिस शुरू करने का विकल्प है. आप चाहें, तो किसी गैर सरकारी संगठन, शैक्षणिक संस्थान या हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं.

काउंसलिंग एवं स्ट्रेस मैनेजमेंट में करें पीजीडी

संस्थान : सेंटर फॉर काउंसलिंग सर्विसेज एंड स्टडीज इन सेल्फ-डेवलपमेंट, जादवपुर यूनिवर्सिटी, कोलकाता.

क्या है कोर्स

दो-वर्षीय पीजी डिप्लोमा कोर्स ऑन काउंसलिंग एंड स्ट्रेस मैनेजमेंट (सत्र 2023-24). कोर्स की शुरुआत 5 फरवरी, 2024 से होगी और सीटों की संख्या 50 है.

क्या है योग्यता

किसी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी/इंस्टीट्यूशन से किसी भी विषय में बैचलर डिग्री की योग्यता रखनेवाले अभ्यर्थी प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं.

Also Read: CLAT Counselling 2024: लॉ कॉलेज में लेना चाहते हैं एडमिशन, तो ये है भारत के टॉप 20 बेस्ट कॉलेज
कैसे होगा प्रवेश

लिखित परीक्षा एवं इंटरव्यू में प्रदर्शन के आधार पर प्रवेश मिलेगा.

Also Read: RBI Assistant Result 2023: जल्द जारी होगा आरबीआई सहायक प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट, ऐसे कर सकेंगे डाउनलोड
कैसे करें आवेदन

निर्धारित प्रारूप में अपना आवेदन नोटिफिकेशन में दिये गये पते पर भेजें. अंतिम तिथि 29 दिसंबर, 2023 है. अन्य जानकारी के लिए देखें : https://jadavpuruniversity.in/wp-content/uploads/2023/11/pgdiploma.pdf

Also Read: CBSE Board Exam Tips: सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में लाना चाहते हैं अच्छे नंबर, तो ऐसे करें तैयारी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें