34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बंगाल : 24 घंटे में डेंगू से तीन लोगों की मौत, उपमेयर ने मेडिकल कॉलेज व वर्ण परिचय मार्केट का किया दौरा

राज्य में डेंगू के रोकथाम के लिए कोलकाता के उपमेयर बोरो स्तर पर डेंगू प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं. ऐसे में कोलकाता के उपमेयर अतिन घोष सेंट्रल कोलकाता स्थित वर्ण परिचय मार्केट और कोलकाता मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल स्थित इडेन हॉस्पिटल का दौरा किया.

पश्चिम बंगाल में डेंगू (Dengue) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है. विगत 24 घंटे में तीन लोगों की मौत हो गयी. कोलकाता के वार्ड-101 निवासी कल्पना दत्ता (78) को 17 सितंबर को मुकुंदपुर स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां गुरुवार रात उसकी मौत हो गयी. वह बाघाजतिन रीजेंट स्टेट आइ ब्लॉक की रहने वाली थी. गुरुवार को ही सॉल्टलेक स्थित ए ई ब्लॉक निवासी पिनाक सरकार (66) की मौत मौत हो गयी. तेज बुखार की शिकायत पर 28 अगस्त को सॉल्टलेक के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. हालत गंभीर होने पर उन्हें 15 सितंबर को बाईपास स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान 21 सितंबर की रात 10:15 बजे उनकी मौत हो गयी. उधर, गुरुवार रात ही मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज में खड़गपुर शहर के वार्ड संख्या आठ के खरीदा बंगालीपाड़ा के मिलन मंदिर इलाका निवासी रुनिता मल्लिक की भी मौत हो गयी.

डेंगू : इस माह पश्चिम मेदिनीपुर में चार लोगों की गयी जान

पश्चिम मेदिनीपुर में सितंबर में डेंगू से चार लोगों की जान जा चुकी है. जिला स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन डेंगू पर नियंत्रण के लिए हर तरह के प्रयास कर रहे हैं. दो सितंबर को मेदिनीपुर शहर निवासी उषा रानी दास (73) और 15 सितंबर को मेदिनीपुर शहर के 27 वर्षीय तीर्थंकर बेरा की मौत हो गयी थी. 20 सितंबर को घाटाल सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में डेंगू पीड़ित एक अधेड़ महिला की मौत हुई थी.

Also Read: ममता बनर्जी ने कहा : महिला सशक्तिकरण में बंगाल नंबर 1, न्यूटाउन में विश्वस्तरीय शॉपिंग मॉल खोलेगा लुलु ग्रुप
जिले मे 935 लोग डेंगू की चपेट में

गुरुवार देर रात खड़गपुर निवासी रुनिता मल्लिक की भी मौत हो गयी. जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, जिले मे 935 लोग डेंगू की चपेट में आ चुके हैं. केवल मेदिनीपुर शहर में 127 लोग डेंगू से पीड़ित हैं. नारायणगढ में 90 , दांतन (दो नंबर) 85,सालबनी में 84 और खड़गपुर शहर में 73 लोग डेंगू के चपेट में आ चुके है. जिले के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सौमोशंकर सांरगी ने बताया कि दो-चार दिनों तक बुखार रहने और उसके बाद ठीक हो जाने पर भी 72 घंटे तक सावधानी बरतने की जरूरत है. मेदिनीपुर मेडिकल कॉलेज में डेंगू के लिए स्पेशल वार्ड खोला गया है.

Also Read: बंगाल : दुर्गा पूजा से पहले आसनसोल काे डेंगू मुक्त करने की अनूठी पहल : अमरनाथ चटर्जी
निगम के खिलाफ जाहिर किया अपना गुस्सा

खबर मिलने के बाद वार्ड नंबर 31 के पार्षद सब्यसाची दत्त मृतक के घर पहुंचे. उन्होंने वहां जाकर निगम के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया. सब्यसाची दत्त ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है. मैं सभी लोगों से बार-बार अनुरोध करता हूं कि आप में से कुछ लोगों को अपने घर को साफ रखने के लिए कहें और यदि पड़ोस के घर में कोई भी साफ-सफाई नहीं है तो कृपया अनुरोध करें. पार्षद सब्यसाची दत्ता ने कहा कि इस एक गली में कम से कम 10-12 लोग डेंगू की चपेट में आ चुके हैं.

Also Read: ममता ने बार्सिलोना में किया दावा : देश का अगला औद्योगिक गंतव्य होगा बंगाल, पूरे विश्व के लिए बनेगा गेमचेंजर
डेंगू : उपमेयर ने मेडिकल कॉलेज व वर्ण परिचय मार्केट का किया दौरा

राज्य में डेंगू के रोकथाम के लिए कोलकाता के उपमेयर बोरो स्तर पर डेंगू प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं. ऐसे में कोलकाता के उपमेयर अतिन घोष सेंट्रल कोलकाता स्थित वर्ण परिचय मार्केट और कोलकाता मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल स्थित इडेन हॉस्पिटल का दौरा किया. इस संबंध में मेयर फिरहाद हकीम ने बताया कि मार्केट के बेसमेंट में पानी जमा हुआ था, जबकि बाजार पूरी तरह के निगम के अधिकारी क्षेत्र में नहीं है. इसे लेकर कोर्ट में मामला विचाराधीन है. इस वजह से निगम सफाई नहीं करवा पा रहा है. उन्होंने कहा कि अब हमें लोगों के हित में मार्केट की सफाई करवानी पड़ेगी. इसके अलावा उन्होंने बताया कि कोलकाता मेडिकल कॉलेज की स्थिति भी ठीक नहीं हैं. साफ-सफाई के लिए कोलकाता मेडिकल कॉलेज को शो कॉज भी किया गया है.

Also Read: अनजान फाइलें डाउनलोड का मामला : कोलकाता पुलिस के बुलावे पर इडी का इंकार

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें