21.1 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Asian Games: अलविदा हांगझोउ.. अब 2026 में जापान में मुलाकात

एशियाई खेलों के समापन रविवार को हुआ भारत ने इस बार एशियाई खेलों मे 107 पदक जीतकर अपना 2018 का रिकार्ड को तोड़ दिया. समापन के दौरान भारतीय हॉकी टीम के गोलकीपर एस श्रीजेश भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को थामे नजर आए.

हांगझोउ, 19वां एशियन गेम्स का रविवार को समापन हो गया. 368 पदकों के साथ चीन पदक तालिका में सबसे शीर्ष पर रहा. वहीं भारत के खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 107 पदक अपने नाम किये. जिनमें 28 स्वर्ण, 38 रजत और 41 कांस्य पदक शामिल है. खिलाड़ियो के ऐतिहासिक प्रदर्शन ने पदक तालिका में भारत को चौथे नंबर पर पहुंचा दिया. वहीं, अब अगला एशियन गेम्स 2026 में जापान में आयोजित किया जायेगा. खिलाड़ियों की शानदार उपलब्धियो और चीन को सास्कृतिक विरासत के जश्न को दर्शाते हुए रंगारंग और तकनीकी रूप से मंत्रमुग्ध कर देने वाले कार्यक्रम के साथ रविवार को एशियाई खेलों का पटाक्षेप हुआ, ध्वनि और लेजर के 75 मिनट कार्यक्रम के दौरान उत्सव का माहौल था. कार्यक्रम में इन खेलों में भाग लेने वाले 45 देशों के एथलीटों ने दो सप्ताह से अधिक समय तक प्रतिस्पर्धा करने के बाद विदाई ली. पुरुष हॉकी टीम के गोलकीपर पीआर श्रीजेश भारतीय ध्वजवाहक थे.

पदकों की रिकॉर्ड संख्या से पेरिस ओलंपिक में दमदार प्रदर्शन की उम्मीद

एशियाई खेलों में 307 पदकों के रिकॉर्ड के साथ भारतीय खिलाड़ियों ने देश के खेल इतिहास में एक शानदार अध्याय लिखने के साथ ही अगले साल पैरिस में होने वाले ओलिंपिक खेलों में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की उम्मीद जगा दी है. भारत ने एशियाई खेलों में लगभग 660 खिलाड़ियों के दल को भेजा था. भारतीय दल ने इन खेलों में रिकॉर्ड 28 स्वर्ण, 38 रजत और 41 कांस्य पदक जीते. कुल पदों की संख्या खेलों की तुलना में 37 अधिक है.

निशानेबाजी और तीरंदाजी में शानदार प्रदर्शन

भारतीय खिलाड़ियों ने निशानेबाजी और तीरंदाजी जैसी कुछ स्पर्धाओं में अपनी उम्मीदों से काफी बेहतर प्रदर्शन किया. भारत इन खेलों की पदक तालिका में चीन, जापान और दक्षिण कोरिया के बाद चौथे स्थान पर रहा जो कि खिलाड़ियों के दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत का प्रमाण है.

भारत को करना चाहिए ओलंपिक मेजबानी का दावा: पीटी उषा

हांगझोउ  एशियाई खेलों में रिकॉर्ड से उत्साहित भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष पीटने वा को 2036 ओलंपिक की मेजबानी के सरकार के प्रस्ताव का समर्थन किया. भारत ने रविवार को खत्म हुए एशियाई खेलों में 28 स्वर्ण समेत 107 पदक जीते. पिछली बार भारत ने 70 पदक जीते थे. उषा ने कहा हांगठ एशियाई खेलों में रिकॉर्डतोड़ प्रदर्शन के बाद अगर हमारे देश के खिलाड़ी, कोच और राष्ट्रीय महासंघ कड़ी मेहनत करें तो हम पेरिस ओलिंपिक में दोहरे अंक मैं पदक जीत सकते हैं, उन्होंने कहा सरकार भारतीय खेलों और खिलाड़ियों की बेहतरी के लिये हरसंभव प्रयास कर रही है, हमारे प्रधानमंत्री देश के खेलों में काफी रूचि लेते हैं, उषा ने कहा कि अब भारत की ऑलिंपिक की मेजबानी का दावा करना चाहिये, उन्होंने कहा हमें 2023 ओलिंपिक की मेजबानी का दावा करना चाहिये, मुझे यकीन है कि भारत पेरिस ओलिंपिक में तोक्यो से अधिक पदक जीतेगा. पदक जीतने के बाद हम ओलंपिक की मेजबानी का दावा कर सकते हैं, सरकार 15 से 17 अक्टूबर तक मुंबई में होने वाले अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति के सत्र के दौरान 2036 ओलंपिक की मेजबानी में रूचि जता सकती है. आइओसी के हालिया सुधारी के बाद अब ओलिंपिक की मेजबानी के इच्छुक देश अपना प्रस्ताव रखेंगे और आईओसी भावी मेजबान आयोग कार्यकारी बोर्ड के सामने अपनी अनुशंसा रखेगा. कार्यकारी बोर्ड उसके बाद तय करेगा कि आइओसी सत्र में प्रस्ताव मतदान के लिए रखा जाएगा या नहीं, उषा ने कहा कि एशियाड में भारत के सौ से अधिक पदक जीतने से वह हैरान नहीं है. उन्होंने कहा ‘मैं खुद खिलाड़ी रही हूं और मुझे शुरू से पता था कि भारत हांगझीट में 100 से अधिक पदक जीतेगा’.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें