1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. 5g in india which companies will get 5g spectrum in india know what the latest report says rjv

5G In India : भारत में किन कंपनियों को मिलेगा 5जी स्पेक्ट्रम और किन्हें नहीं, जानिए क्या कहती है रिपोर्ट

रिपोर्ट में कहा गया है कि एक खास सर्किल में 5जी स्पेक्ट्रम के लिए बोली न लगाने वाली किसी भी दूरसंचार कंपनी के लिए मौजूदा 4जी बैंड पर 5जी सेवा दे पाना मुश्किल होगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
5जी की लांचिंग से पहले होगी स्पेक्ट्रम की नीलामी
5जी की लांचिंग से पहले होगी स्पेक्ट्रम की नीलामी
fb

5G In India: बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज ने कहा है कि रिलायंस जियो और भारती एयरटेल 5जी स्पेक्ट्रम देशव्यापी स्तर पर खरीद पाने की स्थिति में हैं लेकिन वोडाफोन आइडिया को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि एक खास सर्किल में 5जी स्पेक्ट्रम के लिए बोली न लगाने वाली किसी भी दूरसंचार कंपनी के लिए मौजूदा 4जी बैंड पर 5जी सेवा दे पाना मुश्किल होगा. इसकी वजह यह है कि मौजूदा नेटवर्क पहले ही पूरी क्षमता पर चल रहे हैं, लिहाजा खाली स्पेक्ट्रम सीमित ही रह गए हैं.

रिलायंस और भारती ही 5जी स्पेक्ट्रम खरीदने की स्थिति में

रिपोर्ट के मुताबिक, 5जी स्पेक्ट्रम का ऊंचा आरक्षित मूल्य होने से कोई नयी दूरसंचार कंपनी इस नीलामी में बोली लगाने से परहेज करेगी. सिर्फ मजबूत बही-खाते वाली कंपनियां, मसलन रिलायंस और भारती ही देशभर में 5जी स्पेक्ट्रम खरीद पाने की स्थिति में हैं. यह अभी साफ नहीं है कि वोडाफोन आइडिया 5जी स्पेक्ट्रम के लिए किस तरह से कोष जुटाएंगी.

5जी स्पेक्ट्रम नहीं मिला, तो और भी कमजोर हो जाएगी वोडा आइडिया

बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज के शोध विश्लेषकों का मत है कि वोडाफोन आइडिया का प्रबंधन शीर्ष प्रमुख सर्किलों पर केंद्रित है और कंपनी अपने प्रमुख 3जी एवं 4जी सर्किलों में चुनिंदा बोलियां लगा सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक, हमें लगता है कि वोडाफोन आइडिया को अगर देशभर में 5जी स्पेक्ट्रम नहीं मिलता है तो वह और भी कमजोर हो जाएगी. इस बारे में वोडाफोन आइडिया की राय जानने के लिए भेजे गए ईमेल का तत्काल कोई जवाब नहीं मिल पाया है.

ऊंची कीमत के कारण कम ही कंपनियों को रास आयेगा

रिपोर्ट में अनुमान जताया गया है कि सेवा प्रदाता इस नीलामी में 3.5 गीगाहर्ट्ज बैंड को लेकर अधिक दिलचस्पी दिखाएंगे क्योंकि यह 5जी का बुनियादी बैंड है. वहीं, प्रीमियम माना जाने वाला 700 मेगाहर्ट्ज अपनी ऊंची कीमत के कारण कम ही कंपनियों को रास आयेगा. सरकार जून के अंत या जुलाई की शुरुआत में स्पेक्ट्रम की अगली नीलामी कर सकती है. इसके आधार पर देश में अगस्त-सितंबर तक 5जी सेवाएं शुरू होने की उम्मीद है. (इनपुट : भाषा)

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें