दो प्रसूताओं ने एम्बुलेंस में ही दिया बच्चे को जन्म

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

धूपगुड़ी : घने कुहासे के चलते दो प्रसूति महिलाओं ने एम्बुलेंस में ही दो स्वस्थ नवजातों को जन्म दिया है. शुक्रवार को तड़के एम्बुलेंस को ग्रामीण अस्पताल पहुंचने में विलंब हुआ, जिसके चलते रास्ते में ही शिशुओं का जन्म हो गया. फिलहाल दोनों ही नवजातों और माताओं का उपचार धूपगुड़ी ग्रामीण अस्पताल में चल रहा है.

अस्पताल सूत्र के अनुसार धूपगुड़ी ब्लॉक के आलताग्राम इलाके के डांगापाड़ा से प्रसूता सिलिना परविन को उनके पति रेजाउल हक तड़के धूपगुड़ी ग्रामीण अस्पताल एम्बुलेंस ले जा रहे थे. आलताग्राम से धूपगुड़ी की दूरी करीब 15 किमी है. सामान्य तौर पर धूपगुड़ी पहुंचने में 18-20 मिनट समय लगता है. हालांकि देर रात को घना कुहासा होने से दृश्यता कम होने के चलते एम्बुलेंस के पहुंचने में करीब 40 मिनट से अधिक समय लग गया. इसी दौरान सिलिना परविन ने अस्पताल के गेट के सामने ही एम्बुलेंस में ही नवजात पुत्र संतान को जन्म दिया. तत्काल ही अस्पताल के नर्स ने जच्चा-बच्चा को अस्पताल के संबंधित वार्ड में दाखिल कराया.
दूसरी घटना धूपगुड़ी के नाथुआ इलाके के फटकटारी की है. वहां की प्रसूति महिला दिपाली राय अधिकारी को उनकी ननद तड़के अस्पताल के लिये ले जा रही थी. लेकिन डाउकीमारी में ही दिपाली ने संतान को जन्म दिया. उल्लेखनीय है कि नाथुआ फटकटारी से ग्रामीण अस्पताल की दूरी करीब 18 किमी है. आम तौर पर वाहन को पहुंचने में करीब 25 मिनट का समय लगता है. लेकिन घने कुहासे के चलते एम्बुलेंस को अस्पताल पहुंचने में काफी समय लग गया. धूपगुड़ी से 10 किमी दूरी पर डाउकीमारी में ही दिपाली ने संतान को जन्म दिया. जन्म देने के बाद एम्बुलेंस से ही उन्हें धूपगुड़ी अस्पताल पहुंचाया गया. वर्तमान में दिपाली और उनके बच्चे का उपचार अस्पताल में ही चल रहा है.
दोनों नवजात बच्चे स्वस्थ
सिलिना परविन के पति रेजाउल हक ने बताया कि रात में घना कुहासा रहने से सड़क पर कुछ दिखायी नहीं दे रहा था. इसलिये चालक एम्बुलेंस को धीमी रफ्तार से ले जा रहे थे. देर होने से ही उनकी पत्नी ने वाहन में ही संतान को जन्म दिया. वहीं, दिपाली राय अधिकारी की ननद आरती राय ने बताया कि संतान फिलहाल स्वस्थ हैं. कुहासे के चलते एम्बुलेंस को अस्पताल पहुंचने में देर हुई और भाभी ने एम्बुलेंस में ही नवजात को जन्म दिया.
धूपगुड़ी के बीएमओ डॉ. सब्यसाची मंडल ने बताया कि दोनों ही नवजात फिलहाल स्वस्थ हैं. बच्चा-जच्चा दोनों का ही उपचार चल रहा है. वहीं, धूपगुड़ी थाने के आईसी संजय दत्त ने बताया कि रात से लेकर तड़के तक धूपगुड़ी और आसपास के इलाके कुहासे की चादर से ढक जाते हैं. इससे वाहनों के परिचालन में असुविधा हो रही है. चालकों को सतर्कता बरतने के लिये कहा गया है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें