26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गार्स्टिन प्लेस की इमारत में लगी भयावह आग, मची अफरा-तफरीसंवाददाता, कोलकातामध्य कोलकाता के हेयर स्ट्रीट थाना क्षेत्र में बैंकशाल कोर्ट के पास गार्स्टिन प्लेस स्थित एक इमारत में भयावह आग लग गयी. घटना शनिवार तड़के करीब 4.10 बजे की है. इमारत से निकलतीं आग की लपटें देख अफर-तफरी मच गयी. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची. दमकल विभाग के एक बाद एक छह इंजनों को मौके पर लाया गया. काफी मशक्कत के बाद आग नियंत्रित हो सकी. घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. आशंका जतायी जा रही है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी होगी, लेकिन फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट के बाद ही वास्तविक कारण का पता चल सकेगा. घटना की सूचना मिलते ही राज्य के दमकल विभाग के मंत्री सुजीत बोस व वार्ड 45 के पार्षद संतोष पाठक मौके पर पहुंचे. सूत्रों के अनुसार, तड़के गार्स्टिन प्लेस स्थित काफी पुरानी पांच मंजिली इमारत में आग लग गयी. इमारत के ऊपरी तल पर टिन का अस्थायी ढांचा भी तैयार किया गया था. सबसे पहले वहां से धुआं निकलते देखा गया. देखते ही देखते वहां से आग की लपटें निकलने लगीं. पूरी इमारत में अफरा-तफरी मच गयी. जो जिस हालत में था, इमारत से बाहर निकलने लगा. सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस के अलावा डिजास्टर मैनेजमेंट ग्रुप (डीएमजी) की टीम पहुंची. इमारत से लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया. दमकल विभाग के करीब छह इंजनों को वहां लाया गया. अग्निकांड के दौरान विस्फोट की आवाज हुई, जिससे लोग दहशत में आ गये. अग्निकांड में इमारत का एक हिस्सा ढह गया. आग के दूसरी इमारतों में फैलने का खतरा बरकरार था. करीब छह घंटों की मशक्कत के बाद आग नियंत्रित कर ली गयी. लोगों ने दमकल मंत्री के सामने किया प्रदर्शन स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि दमकल विभाग के इंजन देरी से घटनास्थल पर पहुंचे. मौके पर जब दमकल विभाग के मंत्री सुजीत बोस पहुंचे, तब स्थानीय लोगों व कुछ अधिवक्ताओं ने उनके समक्ष प्रदर्शन कर विरोध जताया. बताया जा रहा है कि उक्त इमारत में 20 से ज्यादा परिवारों का बसेरा है. हालांकि, घटना में किसी के आहत होने की सूचना नहीं है. पार्षद संतोष पाठक ने कहा कि स्थानीय वाशिंदों ने ही पहले आग बुझाने व इमारत से लोगों को बाहर निकालने का कार्य शुरू किया. उन्होंने भी आरोप लगाया कि आग लगने के करीब 30 से 40 मिनट बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं. इमारत के ऊपरी हिस्से पर रासायनिक पदार्थों व सामानों का गोदाम भी था. इधर, दमकल मंत्री बोस ने कहा कि इमारत काफी पुरानी है. दमकल विभाग के कर्मियों ने पूरी तत्परता से काम किया, तभी आग पर नियंत्रण पाना संभव हो सका. घटना के बाद इमारत में मौजूद सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था. स्थानीय लोगों का आरोप है कि इमारत में रासायनिक पदार्थ व सामान स्टोर किये गये थे. यदि ऐसा है, तो यह गंभीर बात है. पुलिस व दमकल विभाग इसकी जांच करेंगे. आग लगने के कारण का पता नहीं चल पायेगा. फॉरेंसिक जांच के बाद आग लगने की वजह सामने आ पायेगी.

मध्य कोलकाता के हेयर स्ट्रीट थाना क्षेत्र में बैंकशाल कोर्ट के पास गार्स्टिन प्लेस स्थित एक इमारत में भयावह आग लग गयी.

कोलकाता. मध्य कोलकाता के हेयर स्ट्रीट थाना क्षेत्र में बैंकशाल कोर्ट के पास गार्स्टिन प्लेस स्थित एक इमारत में भयावह आग लग गयी. घटना शनिवार तड़के करीब 4.10 बजे की है. इमारत से निकलतीं आग की लपटें देख अफर-तफरी मच गयी. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची. दमकल विभाग के एक बाद एक छह इंजनों को मौके पर लाया गया. काफी मशक्कत के बाद आग नियंत्रित हो सकी. घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. आशंका जतायी जा रही है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी होगी, लेकिन फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट के बाद ही वास्तविक कारण का पता चल सकेगा. घटना की सूचना मिलते ही राज्य के दमकल विभाग के मंत्री सुजीत बोस व वार्ड 45 के पार्षद संतोष पाठक मौके पर पहुंचे. सूत्रों के अनुसार, तड़के गार्स्टिन प्लेस स्थित काफी पुरानी पांच मंजिली इमारत में आग लग गयी. इमारत के ऊपरी तल पर टिन का अस्थायी ढांचा भी तैयार किया गया था. सबसे पहले वहां से धुआं निकलते देखा गया. देखते ही देखते वहां से आग की लपटें निकलने लगीं. पूरी इमारत में अफरा-तफरी मच गयी. जो जिस हालत में था, इमारत से बाहर निकलने लगा. सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस के अलावा डिजास्टर मैनेजमेंट ग्रुप (डीएमजी) की टीम पहुंची. इमारत से लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया. दमकल विभाग के करीब छह इंजनों को वहां लाया गया. अग्निकांड के दौरान विस्फोट की आवाज हुई, जिससे लोग दहशत में आ गये. अग्निकांड में इमारत का एक हिस्सा ढह गया. आग के दूसरी इमारतों में फैलने का खतरा बरकरार था. करीब छह घंटों की मशक्कत के बाद आग नियंत्रित कर ली गयी. लोगों ने दमकल मंत्री के सामने किया प्रदर्शन स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि दमकल विभाग के इंजन देरी से घटनास्थल पर पहुंचे. मौके पर जब दमकल विभाग के मंत्री सुजीत बोस पहुंचे, तब स्थानीय लोगों व कुछ अधिवक्ताओं ने उनके समक्ष प्रदर्शन कर विरोध जताया. बताया जा रहा है कि उक्त इमारत में 20 से ज्यादा परिवारों का बसेरा है. हालांकि, घटना में किसी के आहत होने की सूचना नहीं है. पार्षद संतोष पाठक ने कहा कि स्थानीय वाशिंदों ने ही पहले आग बुझाने व इमारत से लोगों को बाहर निकालने का कार्य शुरू किया. उन्होंने भी आरोप लगाया कि आग लगने के करीब 30 से 40 मिनट बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं. इमारत के ऊपरी हिस्से पर रासायनिक पदार्थों व सामानों का गोदाम भी था. इधर, दमकल मंत्री बोस ने कहा कि इमारत काफी पुरानी है. दमकल विभाग के कर्मियों ने पूरी तत्परता से काम किया, तभी आग पर नियंत्रण पाना संभव हो सका. घटना के बाद इमारत में मौजूद सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया था. स्थानीय लोगों का आरोप है कि इमारत में रासायनिक पदार्थ व सामान स्टोर किये गये थे. यदि ऐसा है, तो यह गंभीर बात है. पुलिस व दमकल विभाग इसकी जांच करेंगे. आग लगने के कारण का पता नहीं चल पायेगा. फॉरेंसिक जांच के बाद आग लगने की वजह सामने आ पायेगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें