1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. fir registered against bjp leader suvendu adhikari and his brother soumendu adhikar in connection of thefting relief material in kanthi abk

नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई पर FIR दर्ज, TMC का राहत सामग्री चुराने का आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई पर FIR दर्ज
नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई पर FIR दर्ज
सोशल मीडिया

Bengal Politics: पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच जारी सियासी संग्राम खत्म होता नहीं दिख रहा है. अब, नेता प्रतिपक्ष और बीजेपी विधायक शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सौम्येंदु अधिकारी पर राहत सामग्री चुराने का मामला दर्ज कराया गया है. शिकायत दर्ज कराने वाले रतनदीप मन्ना (कांथी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के सदस्य) का आरोप है कि शुभेंदु अधिकारी और सौम्येंदु अधिकारी ने जबरन नगरपालिका के तिरपाल पर कब्जा किया है. बंगाल की कांथी लोकसभा सीट पर अधिकारी परिवार का दबदबा माना जाता है. कहीं ना कहीं शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई पर केस दर्ज कराने के पीछे राजनीति भी देखी जा रही है. नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी के भाई सौम्येंदु अधिकारी कांथी नगरपालिका के अध्यक्ष रह चुके हैं.

नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सौम्येंदु अधिकारी के निर्देश पर लाखों रुपए के तिरपाल को नगरपालिका ऑफिस से निकाल लिया गया. इसके लिए ऑफिस का ताला गैरकानूनी तरीके से खोला गया. तिरपाल को राहत सामग्री के तौर पर जरूरतमंदों को देने के लिए रखा गया था.
एफआईआर में दर्ज शिकायत

पश्चिम बंगाल में यास चक्रवात के गुजरने के बाद सियासी बवंडर जारी है. कुछ दिनों पहले यास चक्रवात के कारण पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में तबाही का मंजर दिखा था. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रभावितों को मदद पहुंचाने के निर्देश दिए हैं. इसी बीच नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी ने भी कई इलाकों का दौरा करके प्रभावितों का हाल जाना था. एक वक्त था जब शुभेंदु टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी के सेनापति माने जाते थे. इस बार के विधानसभा चुनाव के पहले शुभेंदु अधिकारी ने टीएमसी को छोड़कर बीजेपी ज्वाइन किया था. शुभेंदु अधिकारी ने नंदीग्राम सीट से टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी को हराने में सफलता भी पाई थी. इसके बाद हर दिन बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी और टीएमसी के सीनियर नेताओं के बीच तनातनी बढ़ती ही जा रही है.

कुछ दिन पहले टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी ने शुभेंदु अधिकारी और उनके पिता शिशिर अधिकारी पर पूर्वी मेदिनीपुर के तटबंधों के निर्माण के लिए भेजी राशि के दुरुपयोग का आरोप लगाया था. सीएम ममता बनर्जी भी कह चुकी हैं यास चक्रवात के कारण इतनी अधिक संख्या में तटबंधों के टूटने के कारणों की जांच जरुरी है. इस पर कांथी सीट से लोकसभा सांसद शिशिर अधिकारी का बयान सामने आया था. उनका कहना था दीघा शंकरपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष के रूप में तटबंधों से जुड़े 90 फीसदी काम को पूरा करा दिया गया था. जो काम बचा है, दिसंबर के अंत तक पूरा करा दिया जाएगा. उनपर आरोप लगाने वालों को भी सच्चाई पता है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें