1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. big decision of bjp for bengal election 2021 amid coronavirus pandemic no big rallies for pm modi and central minister mtj

Corona संकट के बीच बंगाल चुनाव 2021 पर भाजपा का बड़ा फैसला, अब ऐसी होगी PM Modi की रैली

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बंगाल में भाजपा अब नहीं करेगी बड़ी रैलियां
बंगाल में भाजपा अब नहीं करेगी बड़ी रैलियां
प्रभात खबर

कोलकाता : पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 (West Bengal Vidhan Sabha Chunav 2021) के दौरान वैश्विक महामारी कोरोना (Coronavirus Pandemic) के विकराल रूप को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने एक बड़ा फैसला लिया है. पार्टी ने तय किया है कि बंगाल में अब कोई बड़ी जनसभा नहीं होगी. यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की जनसभा में भी 500 से ज्यादा लोग नहीं आयेंगे. पीएम मोदी की रैली में कोरोना गाइडलाइंस (Coronavirus Guidelines) का अक्षरश: पालन सुनिश्चित किया जायेगा.

भारतीय जनता पार्टी की ओर से सोमवार (19 अप्रैल) को जारी प्रेस विज्ञप्ति में पार्टी ने कोरोना की दूसरी लहर को परास्त करने का संकल्प लिया है. कहा है कि संक्रमण के चेन को तोड़ना बहुत जरूरी है. इसलिए भाजपा ने तत्काल प्रभाव से बड़ी रैलियों, जनसभाओं एवं आयोजनों पर रोक लगाने का निर्णय लिया है.

भाजपा के केंद्रीय कार्यालय से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि बंगाल विधानसभा चुनाव संवैधानिक एवं लोकतांत्रिक प्रक्रिया है. इसलिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने निर्णय लिया है कि पीएम मोदी सहित सभी केंद्रीय नेताओं की बंगाल में छोटी जनसभाएं ही होंगी. इसमें 500 से अधिक लोगों की उपस्थिति नहीं होगी.

भाजपा का ‘अपना बूथ-कोरोना मुक्त’ अभियान

इतना ही नहीं, भाजपा ने कहा है कि छोटी जनसभाएं भी खुले स्थान में होंगी, जहां कोरोना गाइडलाइंस का पालन किया जायेगा. भाजपा ने बंगाल में 6 करोड़ मास्क एवं सैनिटाइजर के वितरण का लक्ष्य रखा है. भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कार्यकर्ताओं से कहा है कि ‘सेवा ही संगठन’ अभियान को जमीन पर उतारें. इसके तहत ‘अपना बूथ-कोरोना मुक्त’ अभियान शुरू करने को कहा गया है.

भाजपा की विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के आह्वान पर सभी प्रदेशों में डेडिकेटेड कोरोना हेल्प डेस्क और कोविड हेल्पलाइन नंबर भी जारी किये जा रहे हैं. ज्ञात हो कि बंगाल में 8 चरणों में चुनाव हो रहे हैं. पांच चरण के चुनाव समाप्त हो चुके हैं. तीन चरणों के चुनाव 22 अप्रैल, 26 अप्रैल और 29 अप्रैल को होने हैं.

राहुल पहले ही रद्द कर चुके हैं बंगाल के कार्यक्रम

चुनाव के बीच में ही कोरोना का विकराल रूप सामने आने लगा है. बंगाल में एक दिन में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों की संख्या 8.5 हजार हो चुकी है. मृतकों की संख्या भी 38 तक पहुंच गयी है. बिगड़ती स्थिति को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बंगाल में प्रचार के अपने सभी कार्यक्रम पहले ही रद्द कर दिये.

पीएम मोदी की रैलियों में सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर

देश भर में तेजी से कोविड-19 के प्रसार के बावजूद पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री मोदी की मैराथन रैलियों को लेकर लगातार आलोचनाओं में घिरी भाजपा ने सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर देना शुरू किया है. बंगाल प्रदेश भाजपा सूत्रों ने बताया है कि अब प्रधानमंत्री की जनसभाओं का स्वरूप बदला जायेगा. बहुत हद तक कोशिश होगी कि वर्चुअल रैली ही की जाये.

बिहार की तर्ज पर पीएम मोदी पश्चिम बंगाल में वर्चुअल रैलियों को संबोधित करेंगे. रैलियों में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा गया जायेगा. भाजपा के बंगाल प्रभारी और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया, ‘कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय से निर्देश प्राप्त हुए हैं, कि माननीय प्रधानमंत्री जी की सभाओं का स्वरूप बदला जाये. सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाये.’

मोदी की बंगाल में मालदा, मुर्शिदाबाद, सिउरी और दक्षिण कोलकाता में चार रैलियां होनी हैं. अब रैली में पूरे जिले के लोगों को एक जगह आने की जरूरत नहीं होगी. हर विधानसभा क्षेत्र में प्रधानमंत्री का भाषण सुनने के लिए बड़ी-बड़ी स्क्रीन लगायी जायेगी. रैली स्थल पर 500 लोग ही पहुंचेंगे, जो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करेंगे. यहां बताना प्रासंगिक होगा कि पीएम की रैली 21 और 22 अप्रैल को होने वाली थी, लेकिन उन रैलियों को स्थगित कर दिया गया है. अब 23 अप्रैल को ही पीएम मोदी रैली करेंगे.

भाजपा की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति
भाजपा की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति
प्रभात खबर

ममता की रैली का समय घटा

इससे पहले, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव प्रचार नहीं करने का फैसला किया था. ममता बनर्जी अब कोलकाता में प्रचार नहीं करेंगी. प्रतीकात्मक तौर पर शहर में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन सिर्फ एक बैठक करेंगी. इसके साथ ही जहां पर पहले से चुनावी रैली की तारीख निर्धारित है, वहां पर समय को घटाकर 30 मिनट कर दिया गया है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें