1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal durga puja 2021 mamata banerjee govt has decided to give rs 50000 each to puja committees this year read full details abk

Bengal Durga Puja 2021: पूजा कमेटियों को 50 हजार की मदद, बिजली बिल में भी छूट, शांति के लिए ममता का चंडी पाठ

पूजा कमेटियों को कोरोना गाइडलाइंस को फॉलो करने के निर्देश दिए गए हैं. इस अवसर पर सीएम ममता बनर्जी ने दुनिया का सबसे बड़ा पूजा दुर्गा पूजा को करार दिया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ममता बनर्जी, सीएम, पश्चिम बंगाल
ममता बनर्जी, सीएम, पश्चिम बंगाल
सोशल मीडिया

पश्चिम बंगाल सरकार (Bengal Government) ने दुर्गा पूजा 2021 (Durga Puja 2021) के मद्देनजर कमेटियों को 50 हजार अनुदान देने का ऐलान किया है. इसके अलावा बिजली शुल्क में 50 फीसदी छूट दी जाएगी. दरअसल, मंगलवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने पूजा कमेटियों के साथ बैठक में कमेटियों को राहत देने का ऐलान किया गया.

शांति के लिए सीएम ममता का चंडी पाठ 

खास बात यह है कि पश्चिम बंगाल की सभी पूजा कमेटियों को कोरोना गाइडलाइंस (Corona Guidelines) को फॉलो करने के सख्त निर्देश दिए गए हैं. इस अवसर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने दुनिया का सबसे बड़ा पूजा दुर्गा पूजा को करार दिया. ममता बनर्जी ने यूनेस्को से दुर्गा पूजा को ग्लोबल त्योहार के रूप में मान्यता देने की अपील भी की. अपने संबोधन में सीएम ममता बनर्जी ने चंडी पाठ करके शांति की प्रार्थना की.

पश्चिम बंगाल में 36,000 जगहों पर पूजा 

अपने संबोधन में ममता बनर्जी बताया कि पिछली बार कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पूजा का आयोजन किया गया था. इस साल भी कोरोना गाइडलाइंस के बीच दुर्गा पूजा आयोजित की जाएगी. राजधानी कोलकाता में 2,500 और समूचे पश्चिम बंगाल में करीब 36,000 जगहों पर पूजा की जाती है. किसी को कोई असुविधा नहीं होगी. कोरोना संकट को देखते हुए रात में श्रद्धालुओं को माता के दर्शन का फैसला लिया जाएगा. पूजा में शांति बनाए रखने की अपील की गई.

दुर्गा पूजा के दौरान 32,000 करोड़ खर्च

राजधानी कोलकाता में विश्व स्तर पर दुर्गा पूजा होती है. इस साल भी कमेटी पूजा की तैयारियों में जुटी हुई है. इस बार चार दिनों तक चलने वाले दुर्गोत्सव के दौरान पुजारियों, ढाकियों और ढोल बजाने वालों का वैक्सीनेशन जरूरी किया गया है. राज्य सरकार का कहना है कि पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा के दौरान 32,000 करोड़ रुपये खर्च होते हैं. इससे काफी लोगों को रोजगार भी मिलता है. इसको देखते हुए कोरोना संकट में गाइडलाइंस के बीच दुर्गा पूजा आयोजित होगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें