1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. asansol
  5. west bengal news police commissioner meets to shift residents in danger zone in harishpur and jamabad to safe place smr

West bengal news : हरिशपुर और जामबाद में डेंजर जोन में रहनेवालों को सुरक्षित जगह शिफ्ट करने को लेकर पुलिस आयुक्त ने की बैठक

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आसनसोल पुलिस आयुक्त सुकेश कुमार जैन की बैठक
आसनसोल पुलिस आयुक्त सुकेश कुमार जैन की बैठक
prabhat khabar

आसनसोल : इसीएल कजोड़ा एरिया के हरिशपुर और जामबाद कोलियरी क्षेत्र के धंसान प्रबल इलाके में रहने वालों को सही तरीके से पुनर्वासित कर कोलियरियों में सुचारू रूप से उत्पादन की प्रक्रिया आरम्भ करने के मुद्दे पर पुलिस आयुक्त सुकेश कुमार जैन ने कंपनी के उप सुरक्षा प्रमुख सह टास्कफोर्स के प्रभारी मेजर राजा पाल के साथ शुक्रवार को बैठक की.

पुलिस उपायुक्त (ईस्ट) अभिषेक गुप्ता और अंडाल थाना के प्रभारी पार्थ घोष बैठक में उपस्थित थे. पुलिस आयुक्त श्री जैन ने कहा कि डेंजर जोन में लोगों के रहने के कारण उनके जान-माल की हानि का खतरा हमेशा बना रहता है, जिससे लॉ एंड ऑर्डर प्रभावित होता है. कंपनी का उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है. ऐसे में इस समस्या का तत्काल समाधान करने को लेकर प्राथमिक स्तर पर बैठक की गई. डेंजर जोन में रहने वालों को कैसे और कहां शिफ्ट किया जा सकता है, इसे लेकर अंडाल थाना प्रभारी को एक रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया है.

रिपोर्ट मिलने पर इस मुद्दे को लेकर जिला प्रशासन, आसनसोल दुर्गापुर विकास प्राधिकरण (अड्डा) और इसीएल के अधिकारियों के साथ बैठक कर समस्या के समाधान का रास्ता निकाला जाएगा. सनद रहे कि जामबाद मोड़ बेनियाडी में पिछले दिनों हुई धंसान में स्थानीय मोहम्मद मिराज की पत्नी शाहनाज बेगम की मौत हो गयी थी. इस घटना को लेकर काफी दिनों तक इलाके में भारी तनाव बना रहा.

यहां के लोगों का पुनर्वास नहीं होने के कारण लोग डेंजर जोन में ही कंपनी के परित्यक्त आवासों में बसे हैं. धंसान के बाद कुछ परिवारों को यहां से शिफ्ट किया गया, कुछ अपने रिश्तेदारों के घर में पनाह लेकर हैं. पुनर्वास की मांग को लेकर लोग नियमित आंदोलन कर रहे हैं.

जिससे इसीएल प्रबंधन अपनी ओसीपी का विस्तारीकरण नहीं कर पा रही है. हरिशपुर इलाके में भी यही समस्या है. यह गांव रानीगंज कोलफील्ड एरिया (आरसीएफए) पुनर्वास परियोजना की सूची में शामिल है. यहां के लोगों का भी पुनर्वास नहीं होने से लोग डेंजर जोन में बसे हैं, जिससे कंपनी यहां ओसीपी आरम्भ नहीं कर पा रही है.

मख्यमंत्री में वर्चुअल मीटिंग में उठाया था मुद्दा

जिला के अधिकारियों के साथ वर्चुअल प्रशासनिक बैठक में मुख्यमंत्री ने हरिशपुर के मुद्दे को लेकर जिला शासक को तत्काल इस समस्या का समाधान करने को कहा. भू-गर्भ में आग और धंसान प्रभावित इलाकों के लोगों के लिए आरसीएफए के तहत जिले में बन रहे आवासों का कार्य जल्द पूरा कर लोगों को आवास मुहैया कराने को कहा था. जिसके उपरांत जिला शासक ने खुद सभी जगह चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया. संभावना है कि दुर्गापूजा के बाद लोगों को आवास मुहैया कराया जा सकेगा.

डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान की है जरूरत

शुक्रवार को पुलिस आयुक्त श्री जैन ने इसीएल के उप मुख्य सुरक्षा अधिकारी मेजर पाल के साथ बैठक में उक्त दोनों क्षेत्रों के मुद्दे पर विस्तृत चर्चा की. श्री पाल ने इसीएल का पक्ष रखा. बैठक में हुई चर्चा के आधार पर निर्णय हुआ कि डेंजर जोन में रहने वालों सरकारी आवास मिलने के पूर्व अस्थायी तौर पर सुरक्षित स्थानों में पहुंचाया जाय, इसके लिए इसीएल या सरकारी जहां भी उन्हें रखने की व्ययस्था है रखा जाएगा ताकि उनकी जान-माल सुरक्षित रहे. एक डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान तैयार करना होगा, जिससे इसप्रकार की किसी भी हादसा में राहत का कार्य प्लान के हिसाब से किया जा सके. पुलिस आयुक्त ने कहा कि समस्या के समाधान के लिए सभी पक्षों को लेकर बैठक कर ठोस निर्णय लिया जाएगा. जिससे डेंजर जोन में रहनेवाले और इसीएल सभी को राहत मिल सके.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें