दूध की कीमत में प्रति किलो चार रुपये का इजाफा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बराकर : रविवार को दूध विक्रेताओं व मिठाई दुकानदारों के बीच चल रहा विवाद खत्म हो गया. बराकर चेंबर ऑफ कॉमर्स ने दोनों पक्षों के साथ रविवार को बैठक की. बैठक में प्रति किलो दूध की कीमत में चार रुपये इजाफा करने का फैसला हुआ. जिसे दोनों ही पक्षों ने मान लिया. दूध की कीमत बढ़ाने को लेकर दूध विक्रेताओं ने मिठाई दुकानदारों को दूध की सप्लाई बंद कर दी थी.

जिससे कई मिठाई दुकानें बंद हो गयी थीं. रविवार को चेंबर ने दोनों ही पक्षों को अपने कार्यालय में बुलाया. इस अवसर पर बराकर थाना प्रभारी रवींद्र नाथ दलुई भी मौजूद थे. बैठक में दूध विक्रेता संघ बराकर-कुल्टी तथा मिठाई दुकानदार उपस्थित थे. दोनों पक्षों ने अपनी अपनी बातें रखीं.
बाद में मिठाई दुकानदार पांच किलो दूध की कीमत 195 रुपये के स्थान पर उसे बढ़ाकर 213 रुपये करने पर राजी हो गए. लेकिन इस प्रस्ताव को दूध विक्रेताओं ने मंजूर नहीं किया. अंततः दूध विक्रेताओं ने चेंबर अध्यक्ष शिव कुमार अग्रवाल के ऊपर भरोसा करते हुए फैसला करने का निर्णय लिया.
श्री अग्रवाल ने दोनों पक्षों से आज अलग-अलग बैठक कर तथा फांड़ी प्रभारी तथा चेंबर सदस्यों से विचार विमर्श कर 195 रुपये के स्थान पर 215 रुपये पांच किलो दूध की कीमत की घोषणा की. हालांकि मिठाई दुकानदार इससे संतुष्ट नहीं थे. लेकिन चेंबर के लोगों के समझाने के बाद वे लोग मान गए. आज से दूध की सप्लाई मिठाई दुकानदारों को शुरू कर दी जायेगी.
बैठक में चेंबर के सचिव किशन दुधानी ने कहा कि दोनों पक्षों को पहले आपस में बैठ कर विचार करना चाहिए था. उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष चेंबर के लिए बराबर है.
सही निर्णय लिया जायेगा. बराकर फांड़ी प्रभारी ने कहा कि किसी भी समय दूध हड़ताल करने के एक माह पूर्व सूचना देनी होगी. बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि अगले वर्ष यदि पशुओं के चारे की कीमत में बढ़तरी होती है तो फिर से दूध की कीमत बढ़ायी जायेगी. बैठक में चेंबर की ओर से अध्यक्ष शिव कुमार अग्रवाल, सचिव के अलावा उपाध्यक्ष मिठु माधोगाड़िया, सदस्य रामेश्वर भगत के अलावा दूध विक्रेता संघ के मनोहर यादव उपस्थित थे.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें