26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

आईआईटी बीएचयू परिसर में दो दिन पहले दूसरी छात्रा के साथ भी हुई थी छेड़खानी, प्रॉक्टोरियल बोर्ड कर रहा जांच

आईआईटी-बीएचयू परिसर में ठीक ऐसी ही घटना पिछली सोमवार रात को भी हुई थी, जिसके बारे में प्रॉक्टर कार्यालय को जानकारी दिया गया था. इस मामले में संस्थान के डीन ने बताया कि प्रॉक्टर कार्यालय को एक शिकायत मिली थी. इस मामले में कार्रवाई की जा रही है.

वाराणसी स्थित आईआईटी-बीएचयू परिसर में आधी रात को अकेली छात्रा बुलेट सवार तीन युवकों ने बंदूक दिखाकर कपड़े उतरवाए. उन्होंने छात्रा को किस किया और उसका वीडियो भी बनाया. इसके बाद युवक हैदराबाद गेट के रास्ते बाहर निकल गए. घटना की जानकारी होने के बाद से आईआईटी के छात्र-छात्राओं में आक्रोश है. लेकिन ठीक ऐसी ही घटना पिछली सोमवार रात को भी हुई थी, जिसके बारे में प्रॉक्टर कार्यालय को जानकारी दिया गया था. इस मामले में संस्थान के डीन ने बताया कि प्रॉक्टर कार्यालय को एक शिकायत मिली थी. इस मामले में कार्रवाई की जा रही है. वहीं आईआईटी-बीएचयू छात्र संसद के कई सदस्यों ने कहा कि पिछली घटना में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई. दोनों घटनाएं परिसर में एकांत स्थान पर हुईं हैं.

बुधवार की घटना के बाद छात्रों में आक्रोश

दरअसल, बुधवार को मैथमेटिकल इंजीनियरिंग विभाग में बीटेक की छात्रा न्यू गर्ल्स हॉस्टल से आधी रात बाद करीब 1.30 बजे बाहर घूमने के लिए निकली. वह परिसर में गांधी स्मृति छात्रावास चौराहे पर पहुंची तो वहां उसका ब्वॉयफ्रेंड मिल गया. दोनों कर्मन वीर बाबा मंदिर के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से बुलेट सवार तीन युवक आए और उनको रोका. कुछ देर बाद ब्वॉयफ्रेंड को वहां से भगा दिया. छात्रा ने जो पुलिस को तहरीर दी है, उसमें लिखा है कि युवकों ने मुंह दबा दिया और एक कोने में लेकर चले गए. पहले किस किया फिर कपड़े निकालकर वीडियो और फोटो भी बनाया. चीखने चिल्लाने के बाद उन युवकों ने मारने की धमकी भी दी. यहीं नहीं उन युवकों ने फोन भी ले लिया और करीब 10-15 मिनट मुझे रखा और फिर छोड़ दिया. किसी तरह जान बचाकर भागी तो मुझे बाइक की आवाज सुनाई दी. छात्रा के साथ घटना घटी वो इतना डर गई थी कि रात को घटना स्थल के पास में ही प्रोफेसर के घर में घुस गई. छात्रा के अनुसार प्रोफेसर के घर में 20 मिनट तक रूकी रही. यहां प्रोफेसर से संपर्क किया तो उन्होंने अपने घर के गेट तक छोड़ा.

Also Read: UP News: अकबरपुर के पूर्व बाहुबली विधायक पवन पांडेय गिरफ्तार, STF इस मामले में कर रही थी तलाश
छात्रा मामले को नहीं चाहती थी आगे बढ़ाना

वहीं छात्र संसद के उपाध्यक्ष प्रणव किशोर ने आरोप लगाया कि घटना से दो दिन पहले बुधवार रात 1.30 बजे उसी स्थान पर घटना में चार लोग शामिल थे, जो दो वाहनों में आए थे. उन्होंने एक छात्र को पीटा और एक छात्रा को पीछे से छुआ. छात्रा मामले को बढ़ाना नहीं चाहती थी क्योंकि उसके माता-पिता सवाल उठाते. जिस छात्र की पिटाई की गई थी, उसने छात्र संसद के सदस्यों के साथ मिलकर मंगलवार को प्रॉक्टर कार्यालय में लिखित शिकायत दर्ज कराई थी.

पिछली घटना की कोई जानकारी नहीं है- पुलिस कमिश्नर

वहीं, वाराणसी के पुलिस कमिश्नर मुथा अशोक जैन ने कहा कि उन्हें पिछली घटना की कोई जानकारी नहीं है. मैं कल शाम आईआईटी-बीएचयू में था और अधिकारियों के साथ बैठकें कीं. उन्होंने मुझे इस बारे में नहीं बताया. मुझे पूछना पड़ेगा. हम इसके बारे में पता लगाएंगे. वहीं वाराणसी के सहायक पुलिस आयुक्त (भेलूपुर) प्रवीण कुमार सिंह ने कहा कि हमने पिछली घटना के संबंध में प्रॉक्टर कार्यालय से संपर्क किया है. उन्होंने हमें इसके बारे में नहीं बताया था. हम इसकी जांच कर रहे हैं और उचित कार्रवाई करेंगे. बुधवार की घटना की जांच के बारे में पूछे जाने पर एसीपी ने कहा कि हम सीसीटीवी फुटेज की मदद से आगे बढ़ रहे हैं. हमने कई लोगों से पूछताछ की है और तीन टीमें इलेक्ट्रॉनिक और मैनुअल सर्विलांस की मदद से आरोपियों का पता लगाने के लिए काम कर रही हैं. हमें जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार करने में सक्षम होना चाहिए.

परिसर में बाहरी लोगों का होता है जमावाड़ा

वहीं छात्र संसद की एक महिला सदस्य ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि पिछली घटना भी इसी पैटर्न पर थी. रात करीब 1 बजे एक सुनसान जगह पर गाड़ियों में सवार कुछ लोगों ने एक लड़के और एक लड़की को निशाना बनाया. यहां का एक खास इलाका पिकनिक स्पॉट बन गया है, जहां पुरुष काली खिड़की वाली एसयूवी में आते हैं, शराब पीते हैं और छात्राओं के साथ दुर्व्यवहार करते हैं. एक अन्य छात्रा ने कहा कि हम हर दिन इन कारों को देखते हैं. वे लड़कियों को छेड़ते हैं, दुर्व्यवहार करते हैं और चले जाते हैं. जब भी ऐसी कोई घटना होती है तो सुरक्षा कड़ी कर दी जाती है लेकिन चीजें फिर वैसी ही हो जाती हैं जैसी थीं.

परिसर में बैरिकेड्स अब से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक बंद रहेंगे

सोमवार की घटना के बारे में पूछे जाने पर, आईआईटी-बीएचयू के दीन (अनुसंधान और विकास) विकास कुमार दुबे ने कहा कि देखिए, यह कहना मुश्किल है कि क्या ये वही चार लोग थे. लेकिन प्रॉक्टर ऑफिस से एक छोटी सी घटना होने की सूचना मिल रही है. मामले में कार्रवाई की जा रही थी. जिला प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर पहले से ही काम किया जा रहा है. जिला प्रशासन के अधिकारी पहले से ही परिसर में सुरक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं. हमारे निदेशक छात्रों की सुरक्षा में किसी भी तरह की कमी के मुद्दों पर भी काम कर रहे हैं. मैं कह सकता हूं कि जो भी सटीक शिकायत थी, स्थानीय पुलिस स्टेशन को सूचित किया गया था. मुझे नहीं लगता कि उस घटना को बताना सही है. हमारे छात्र को दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा. वास्तव में क्या हुआ इसकी जांच चल रही है. पुलिस कार्रवाई करेगी. आरोपियों के गिरफ्तार होते ही चीजें स्पष्ट हो जाएंगी. अभी इसका ब्यौरा देने से जांच प्रभावित हो सकती है. वहीं गुरुवार को छात्रों के व्यापक विरोध प्रदर्शन के बाद आईआईटी-बीएचयू प्रशासन ने एक नोटिस जारी किया था, जिसमें कहा गया था कि परिसर में सभी बैरिकेड्स अब से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक बंद रहेंगे.

संस्थान ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा कि संस्थान के महत्वपूर्ण अवरोधक बिंदुओं/प्रवेश बिंदुओं, मुख्य चौराहों और चौराहों पर संस्थान के सुरक्षाकर्मी और पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे, जो मौजूदा प्रॉक्टोरियल बोर्ड के सुरक्षाकर्मियों की सहायता करेंगे. इसमें कहा गया है कि तीन दिनों के भीतर संस्थान की आंतरिक शिकायत समिति का पुनर्गठन किया जाएगा और छात्रों को भी सदस्य बनाया जाएगा. परिसर में एक पुलिस पिंक बूथ स्थापित किया जा रहा है. एक जगह की पहचान कर ली गई है, जहां महिला पुलिसकर्मी मौजूद रहेंगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें