17.1 C
Ranchi
Wednesday, February 28, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

UP Weather AQI Today: यूपी में बादलों की ओट में छिपा रहा सूरज, ठंड में इजाफा-प्रदूषण से नहीं मिल रही राहत

UP Weather AQI Today: यूपी के मौसम में प्रदूषण का स्तर अभी भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है. यहां की जहरीली हवा में सांस लेने से लोग बीमार होने लगे हैं. लोगों को मजबूरी में जहरीली हवा में सांस लेनी पड़ रही है, जिसके चलते सांस, खांसी, दिल और त्वचा के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है.

UP Weather AQI Today: उत्तर प्रदेश में सोमवार से मौसम में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है. सुबह की शुरुआत कोहरे से हुई और लोगों का सड़क पर वाहनों को चलाना मुश्किल हो गया. वहीं पूरे दिन सूरज पूरी तरह से बादलों के बीच छिपा रहा. इसके साथ ही तापमान में 3 डिग्री सेल्सियस की कमी आई है, जिसके चलते ठंड ने दस्तक दी है. सोमवार को बरेली का अधिकतम तापमान 21 और न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है. मौसम के बदले अंदाज के बीच बारिश की उम्मीद जताई जा रही है. वेस्ट यूपी और तराई बेल्ट समेत कई ज‍िलों में बार‍िश की उम्मीद है. यूपी के बरेली, पीलीभीत, बदायूं, जालौन, झांसी, आगरा, मथुरा समेत 12 से ज्यादा जनपदों में बारिश होने की संभावना है. इसके साथ ही नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बागपत, शामली, बिजनौर, मथुरा, आगरा, अलीगढ़, हाथरस, आगरा, इटावा, जालौन, झांसी, ललितपुर, महोबा, हमीरपुर, बांदा, चित्रकूट, कौशांबी, प्रयागराज, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, एटा, रामपुर,सीतापुर और आसपास के जनदों में बारिश का अनुमान है. हालांकि, 28 नवंबर से फिर यूपी में मौसम शुष्क होने लगेगा.

यूपी में AQI बढ़ने से बढ़ी बीमारियां, जानें अपने शहर का

यूपी के मौसम में प्रदूषण का स्तर अभी भी कम होने का नाम नहीं ले रहा है. यहां की जहरीली हवा में सांस लेने से लोग बीमार होने लगे हैं. लोगों को मजबूरी में जहरीली हवा में सांस लेनी पड़ रही है, जिसके चलते सांस, खांसी, दिल और त्वचा के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. यह संख्या पिछले एक महीने में कई गुना बढ़ी है. बच्चे और बुजुर्ग सबसे अधिक प्रभावित हो रहे हैं. मगर, इन बीमारियों को मास्क लगाकर कम किया जा सकता है. यूपी का नोएडा सोमवार को भी देश का प्रदूषित शहर रहा. वहीं दुनिया के प्रदूषित शहरों में नोएडा 11वें स्थान पर है. यहां का AQI 355 दर्ज किया गया. 14वें स्थान पर गाजियाबाद का 344, 31वें स्थान पर मेरठ का 309, 58वें स्थान पर हापुड़ का AQI 2685, 80वें स्थान पर बुलंदशहर का AQI 248, 93वें स्थान पर फैजाबाद का AQI 244, 96वें स्थान पर सहारनपुर का AQI 230 और बरेली का AQI 164 था, जो बेहद खराब स्थिति में है. शहर के राजेंद्र नगर, कुतुबखाना, शाहाबाद, शाहामतगंज, चौकी चौराहा, चौपाला, बरेली सिटी, किला, सुभाषनगर और रामगंगा क्षेत्र का AQI सबसे अधिक बढ़ा हुआ है. यहां की जहरीली हवा में सांस लेना मुश्किल है.बरेली सिविल लाइंस का AQI 149, राजेंद्र नगर का 167, और सुभाषनगर का 175 है.

Also Read: UP Weather: यूपी में घना हुआ कोहरा, आज बारिश से मौसम बदलने के आसार, दिसंबर से कड़ाके की ठंड के लिए रहें तैयार
बरेली में चौबारी मेले में भी प्रदूषण

इस बीच यूपी में बरेली शहर के बदायूं रोड पर चौबारी गांव के मैदान में गंगा स्नान का मेला लगा है. यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु आ रहे हैं. मगर, कच्चे रास्तों पर काफी धूल उड़ रही है, जिसके चलते बदायूं रोड का AQI बढ़ रहा है. लोगों को सांस लेना मुश्किल हो गया है. हालांकि, दो दिन पहले पानी का छिड़काव किया गया था.

यह AQI सेहत के लिए खराब

इंसान की सेहत के लिए 0 से 50 AQI सबसे बेहतर है.51-100 AQI भी ठीक माना जाता है. लेकिन. संवेदनशील लोगों को सांस लेने में हल्की दिक्कत शुरू हो जाती है. 101 AQi ठीक नहीं. 101 से 200 AQI से फेफड़ा, दिल और अस्थमा मरीजों को सांस में दिक्कत होती है. मगर, बरेली का AQI 300 के पार है. यह काफी चिंतनीय है. हवा में ऑक्सीजन होती है. इसकी मात्रा 19.5 मात्रा होनी चाहिए. इससे कम ऑक्सीजन इंसान की सेहत के लिए नुकसानदेह है.सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने लगता है.

बढ़ती मौतों से डब्ल्यूएचओ फिक्रमंद

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) बढ़ती मौतों को लेकर फिक्रमंद है. इसके लिए प्लान बनाया जा रहा है. दुनिया में प्रदूषण से मौतों का आंकड़ा बढ़ने लगा है. दुनिया में वायु प्रदूषण से हर वर्ष लगभग सात मिलियन यानी 70 लाख लोगों की मौत होतीं हैं. यह आंकड़ा काफी चौकाने वाला है. इसके साथ ही वातावरण में बढ़ रहा वायु प्रदूषण व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए काफी समस्या पैदा कर सकता है और इससे रेस्पिरेटरी, न्यूरो बिहेवियरल, कार्डियोवैस्कुलर और इम्यून सिस्टम से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं. इसलिए प्रदूषण से बचने के लिए विटामिन से भरपूर आहार का सेवन करना चाहिए. यह वायु प्रदूषण के नकारात्मक प्रभावों को कम करता है. क्योंकि विटामिन आपके शरीर की सुरक्षा प्रणाली को मजबूती देते हैं और आपको बीमारियों से बचाते हैं. विटामिन सी, विटामिन ई और विटामिन ए वायु प्रदूषण के कारण होने वाली क्षति को कम करने में मदद करते हैं. इसके लिए आप अंगूर, संतरा, नीबू, गाजर, ब्रोकली, अखरोट, और मूली जैसे फलों और सब्जियों का सेवन कर सकते हैं. इसके साथ ही बाहर के खाने से बचने की जरूरत है. वायु प्रदूषण से बचने को एयर प्यूरीफायर का उपयोग करना एक बेहतर विकल्प है. अपने घर में एयर प्यूरीफायर का उपयोग करने से घर की हवा को शुद्ध करने के साथ ही घर में वायु प्रदूषण को कम कर सकते हैं.

रिपोर्ट- मुहम्मद साजिद

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें