34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

UP Board परीक्षा में हुआ बड़ा बदलाव, बोर्ड ने नकल रोकने के लिए की यह व्यवस्था, जानें पूरा अपडेट

यूपी बोर्ड की होने वाली परीक्षाओं को लेकर विभाग की ओर से आवश्यक तैयारी पूरी करने के साथ ही परीक्षा नकलविहीन कराने के लिए कई अहम कदम उठाए गए हैं. पहली बार कक्ष निरीक्षकों के आईकार्ड पर बार कोड और क्रमांक होगा. इस बार कक्ष निरीक्षकों के लिए बनने वाले आईकार्ड का प्रारूप यूपी बोर्ड मुख्यालय जारी करेगा.

यूपी बोर्ड की 22 फरवरी से शुरू होने वाली परीक्षाओं को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं. विभाग की ओर से इसके लिए आवश्यक तैयारी पूरी करने के साथ ही परीक्षा नकलविहीन कराने के लिए कई अहम कदम उठाए गए हैं. पहली बार कक्ष निरीक्षकों के आईकार्ड पर बार कोड और क्रमांक होगा. इस बार कक्ष निरीक्षकों के लिए बनने वाले आईकार्ड का प्रारूप यूपी बोर्ड मुख्यालय जारी करेगा. जारी प्रारूप पर ही जिला विद्यालय निरीक्षक कक्ष निरीक्षकों का आईकार्ड जारी करेंगे. सूबे से लगभग 2.75 लाख शिक्षकों की ड्यूटी बोर्ड परीक्षा में लगेगी. बोर्ड की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक केंद्रों पर आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षा-2024 नकल विहीन कराने के लिए परीक्षा कक्षों में निरीक्षण के लिए लगाए जाने वाले लगभग 2.75 लाख कक्ष निरीक्षकों के लिए पहली बार एक सुरक्षित क्यूआर बार कोड एवं क्रमांकयुक्त कम्प्यूटराइज्ड परिचय पत्र तैयार कराया जाएगा. डीआईओएस बोर्ड के पोर्टल से शिक्षकों के आईकार्ड का प्रोफार्मा डाउनलोड कर लेंगे. प्रोफार्मा पर आवंटित परीक्षा केंद्रों का विवरण अंकित कर संबंधित कक्ष निरीक्षकों को परीक्षा से एक सप्ताह पहले दे दिया जाएगा. परिचय पत्र पर संबंधित कक्ष निरीक्षक का अध्यापन विषय भी मुद्रित होगा, जिससे संबंधित विषयों की परीक्षा में उनके स्थान पर दूसरे अध्यापन विषय वाले अध्यापकों से कक्ष निरीक्षण का कार्य कराया जाएगा. परीक्षा केंद्रों पर कक्ष निरीक्षण एवं परीक्षा संबंधी अन्य विविध कार्यों के लिए अध्यापकों / प्रधानाचार्यों व अन्य कार्मिकों की ड्यूटी डीआईओएस ही लगाएंगे.

Also Read: UP Board Exam 2024: इस दिन से शुरू होगें बोर्ड्स के प्रैक्टिकल एक्जाम, देखें शेड्यूल
बोर्ड परीक्षा का ऑनलाइन देना होगा रिपोर्ट

यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 22 फरवरी से प्रस्तावित हैं. इस बार परीक्षा नकलविहीन कराने के लिए बोर्ड ने नई व्यवस्था शुरू की है. इस व्यवस्था के तहत केंद्रों पर चल रही परीक्षा की पल- पल की रिपोर्ट ऑनलाइन देनी होगी. अब इससे यह पता चल सकेगा कि केंद्रों पर परीक्षा कैसे चल रही है. इस व्यवस्था के लिए पहली बार जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआईओएस) और क्षेत्रीय कार्यालयों के लिए अलग-अलग ईमेल एड्रेस बनाए गए हैं. शिक्षा निदेशक माध्यमिक डॉ. महेंद्र देव की ओर से शुकवार को जारी पत्र के मुताबिक प्रदेश के सभी जनपदों एवं क्षेत्रीय कार्यालयों के लिए अलग-अलग ई- मेल आईडी तैयार कराई गयी है. ई-मेल आईडी क्रमशः boardexam2024.(district name)@gmail.com एवं boardexam2024. (regional office)@gmail.com पर परीक्षा केन्द्रों के निरीक्षण/पर्यवेक्षण से संबंधित निरीक्षण की रिपोर्ट ऑनलाइन दी जाएगी. यह भी कहा है कि केन्द्र के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों की ओर से केन्द्रों पर पाई गई अनियमितताओं से संबंधित या संस्तुतियों को परिषद कार्यालय की ई-मेल आईडी upboardcentre2024@gmail.com पर जरूर दी जाए. शिक्षा निदेशक माध्यमिक की ओर से जारी पत्र में नकलविहीन परीक्षा के लिए जिलास्तर पर परीक्षा केन्द्रों के निरीक्षण के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारियों के कम से कम छह से आठ सचल दल बनाने को कहा गया है. मंडल स्तर पर भी चार-पांच सचल दलों का गठन करने के निर्देश दिए गए हैं.

Also Read: SBI PO Interview के लिए ऐसे करें खुद को तैयार, फॉलो करें यह टिप्स
15 फरवरी तक होगा सचल दलों का गठन

पत्र में निर्देश दिया गया है कि जनपद एवं मंडल स्तर पर 15 फरवरी तक अनिवार्य रूप से सचल दलों का गठन कर लिया जाए. जनपद एवं मंडल स्तर पर बनाये गये सचल दल के सदस्यों के मोबाइल नंबर के साथ सचलदलों की सूची अनिवार्य रूप से सचिव, माध्यमिक शिक्षा परिषद को गोपनीय रूप से तुरन्त भेज दी जाए. जनपद स्तरीय सचल दलों में परीक्षा केन्द्र नहीं बनाये गए राजकीय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य, सह जिला विद्यालय निरीक्षक तथा यथा सम्भव शिक्षा विभाग से सम्बद्ध सेवारत अध्यापक एवं अधिकारी रखा जाए. जिला विद्यालय निरीक्षक स्वयं किसी भी सचल दल का नेतृत्व कर सकते हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें