25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

अयोध्या: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर निर्माण का लिया जायजा, जानें क्यों बोले- कलयुग केवल नाम अधारा

अयोध्या: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राममंदिर से पूर्व रामकोर्ट का भव्य निर्माण कार्यक्रम यहां संपन्न हुआ है. उन्होंने कहा कि हम सभी ने पवित्र ग्रंथ रामचरितमानस को पड़ा है. इसमें कहा गया है, 'कलयुग केवल नाम अधारा, सुमिर सुमिर नर उतरहिं पारा.' इसमें कलयुग में नाम के महत्व को बताया गया है.

Ayodhya: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को अयोध्या के दौरे पर पहुंचे. मुख्यमंत्री ने सबसे पहले हनुमान गढ़ी में दर्शन पूजन और आरती की. इसके बाद वह रामजन्मभूमि में दर्शन पूजन करने के लिए रवाना हुए. वहां रामलला के पूजन अर्चन के बाद उन्होंने रामजन्मभूमि परिसर में निर्माण कार्य की प्रगति का जायजा लिया. इंजीनियरों ने नक्शे के मुताबिक उन्हें निर्माण कार्य की प्रगति से अवगत कराया. सीएम योगी ने श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के पदाधिकारियों से भक्तों की सुविधा का विशेष ध्यान रखने को कहा.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पथ पर लगाए गए मार्ग के डिस्प्ले को देखा. उन्होंने अधिकारियों से रास्ते पर लगाए जा रहे पत्थरों की गुणवत्ता भी पूछी, जिससे श्रद्धालुओं को गर्मी के दौरान दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े. उन्होंने कार्यदायी संस्था के अधिकारियों से रास्ते पर श्रद्धालुओं को मिलने वाली सुविधा की भी जानकारी ली और जल्द ही इस मार्ग का निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री अयोध्या में नवनिर्मित श्रीरामक्रतु स्तम्भ एवं श्री रामलला भवन के लोकार्पण किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि राममंदिर से पूर्व रामकोर्ट के भव्य निर्माण का कार्यक्रम यहां संपन्न हुआ है. उन्होंने कहा कि हम सभी ने पवित्र ग्रंथ रामचरितमानस को पड़ा है. इसमें कहा गया है, ‘कलयुग केवल नाम अधारा, सुमिर सुमिर नर उतरहिं पारा.’ इसमें कलयुग में नाम के महत्व को बताया गया है.

Also Read: रमजान में बरेलवी मौलानाओं की दुनिया में मांग, सऊदी हुकूमत के फैसले से उलमा खफा, 30 मिनट छोटा होगा रोजा…

उन्होंने कहा कि जप से 100 गुना ज्यादा पुण्य नाम लिखने से मिलता है और यहां पर तो 28 कोटि नाम रामकोट में संरक्षित किए गए हैं. इसमें निरंतर वृद्धि होती हुई दिखाई दे रही है. यहां पर इसका पुण्य हमें अनंत काल तक न केवल सन्मार्ग पर ले जाएगा, बल्कि हम सबको जीवन के समृद्धि के मार्ग पर अग्रसर करने की प्रेरणा प्रदान करेगा.

मुख्यमंत्री ने राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के पूर्व अयोध्या में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को ध्यान में रखते हुए भव्य धर्मशाला और भव्य अतिथिशाला का निर्माण करने के लिए बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह हर आश्रम को करना चाहिए. अभी से तैयार हो जाए. कोई भी श्रद्धालु आएगा, उसे अयोध्या में हर प्रकार की सुविधा मिले, ऐसे प्रयास किए जाने चाहिए. जो श्रद्धालु यहां ठहरकर प्रभु के नाम का स्मरण करना चाहते हैं, जप करना चाहते हैं, साधना करना चाहते हैं, उनकी सारी आवश्यकताएं सुलभ तरीके से पूरी होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार अयोध्या में बुनियादी सुविधाओं के विकास के लिए लगातार काम कर रही है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें