28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

25 स्कूलों में एक शिक्षिका ने एक साथ नौकरी कर साल भर में कमाये एक करोड़ रुपये, AAP नेताओं ने कसा तंज, कहा…

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के फर्जीवाड़े ने अफसरों की नींद उड़ा दी है. मैनपुरी की रहनेवाली विज्ञान की शिक्षिका अनामिका शुक्ला ने कथित तौर पर 25 स्कूलों में एक साथ नौकरी की. यही नहीं, 13 महीने तक लगातार काम करते हुए करीब एक करोड़ रुपये भी वेतन के रूप में ले लिया. मामले का खुलासा होने के बाद आरोपित शिक्षिका के खिलाफ जांच शुरू हो गयी है. इधर, मामले का खुलासा होने के बाद आम आदमी पार्टी 'आप' ने उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर तंज कसना शुरू कर दिया है. 'आप' नेता व दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पार्टी के ही पंजाब के कोटकपुरा से विधायक कुलतार सिंह संधवा ने ट्वीट कर तंज कसा है.

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय के फर्जीवाड़े ने अफसरों की नींद उड़ा दी है. मैनपुरी की रहनेवाली विज्ञान की शिक्षिका अनामिका शुक्ला ने कथित तौर पर 25 स्कूलों में एक साथ नौकरी की. यही नहीं, 13 महीने तक लगातार काम करते हुए करीब एक करोड़ रुपये भी वेतन के रूप में ले लिया. मामले का खुलासा होने के बाद आरोपित शिक्षिका के खिलाफ जांच शुरू हो गयी है. इधर, मामले का खुलासा होने के बाद आम आदमी पार्टी ‘आप’ ने उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर तंज कसना शुरू कर दिया है. ‘आप’ नेता व दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पार्टी के ही पंजाब के कोटकपुरा से विधायक कुलतार सिंह संधवा ने ट्वीट कर तंज कसा है.

आम आदमी पार्टी के नेता व दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा है कि ”उत्तर प्रदेश में एक सरकारी स्कूल के शिक्षक को एक साथ जिलों के 25 विभिन्न स्कूलों में नियोजित पाया गया. एक वर्ष में, वह वेतन के रूप में एक करोड़ रुपये निकालने में सफल रही है.”

Undefined
25 स्कूलों में एक शिक्षिका ने एक साथ नौकरी कर साल भर में कमाये एक करोड़ रुपये, aap नेताओं ने कसा तंज, कहा... 2

वहीं, पंजाब के कोटकपुरा से ‘आप’ विधायक कुलतार सिंह संधवा ने ट्वीट कर कहा है कि ”उत्तर प्रदेश में कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में राज्य बेसिक शिक्षा विभाग की एक शिक्षिका ने 25 स्कूलों में एक साथ काम कर एक वर्ष में वेतन के रूप में लगभग एक करोड़ रुपये कमाये.” साथ ही उन्होंने उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर तंज कसते हुए इसे ”आदित्यनाथ मॉडल..?” बताया है.

क्या है मामला?

उत्तर प्रदेश में शिक्षकों का डेटाबेस तैयार किया जा रहा है. इसी दौरान यह फर्जीवाड़ा सामने आया. छानबीन में पता चला है कि एक शिक्षिका 25 स्कूलों में पिछले एक साल से अधिक समय से नियुक्त है. मामले में स्कूली शिक्षा महानिदेशक विजय किरन आनंद के निर्देश पर शिक्षिका के खिलाफ जांच शुरू कर दी गयी है.

बताया जाता है कि मैनपुरी की रहनेवाली अनामिका शुक्ला ने रायबरेली, प्रयागराज, अंबेडकरनगर, सहारनपुर, बागपत, अलीगढ़ जैसे जिलों के कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में तैनात मिली है. यहां टीचरों की नियुक्ति कॉन्ट्रेक्ट पर होती है. शिक्षकों को प्रतिमाह 30 हजार रुपये मानदेय मिलता है. जिले के हर प्रखंड में एक कस्तूरबा गांधी स्कूल है.

सर्व शिक्षा अभियान की ओर से छह जिलों में पत्र भेज कर कस्तूरबा विद्यालय में अनामिका शुक्ला नाम की शिक्षिका के बारे में जानकारी जुटायी जा रही है. मामले में बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी का कहना है कि विभाग ने जांच का आदेश दिया है. आरोप सत्य होने पर शिक्षिका के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें